Walt Disney Motivational Story in hindi | डिज्नी की कहानी

walt disney एक अमेरिकन फिल्म निर्देशक, निर्माता और animator (कार्टून बनाने वाले दिग्दर्शक) थे. walt disney का जीवन कल्पना, सर्जनात्मकता (creativity), विश्वास और आशावाद से प्रेरित था. वाल्ट ने विश्व को कुछ प्रसिद्ध कार्टून character दिए. इन्होने disneyland की स्थापना की, शुरुआत में वाल्ट की रूचि कला (art) में थी, अपने पड़ोसियों को वह अपनी drawing बना कर बेचा करता था.

1901 में शिकागो में जन्मे, डिज़्नी ने ड्राइंग में प्रारंभिक रुचि विकसित की। उन्होंने एक लड़के के रूप में कला की कक्षाएं लीं और 18 साल की उम्र में एक व्यावसायिक चित्रकार के रूप में नौकरी मिल गई। वह 1920 के दशक की शुरुआत में कैलिफोर्निया चले गए और अपने भाई रॉय के साथ डिज्नी ब्रदर्स स्टूडियो की स्थापना की। Ub Iwerks के साथ, उन्होंने 1928 में मिकी माउस का चरित्र विकसित किया, जो उनकी पहली अत्यधिक लोकप्रिय सफलता थी; उन्होंने प्रारंभिक वर्षों में अपनी रचना के लिए आवाज भी प्रदान की।

Walt Disney 1946.JPG

जुलाई 1923 में 21 साल की उम्र में डिज्नी हॉलीवुड चले गए। हालांकि न्यूयॉर्क कार्टून उद्योग का केंद्र था, वह लॉस एंजिल्स की ओर आकर्षित हुए क्योंकि उनके भाई रॉय वहां तपेदिक से पीड़ित थे, [३६] और उन्हें एक लाइव-एक्शन फिल्म निर्देशक बनने की उम्मीद थी

Advertisements

जैसे-जैसे स्टूडियो बढ़ता गया, वह और अधिक साहसी होता गया, जिसमें सिंक्रोनाइज़्ड साउंड, फुल-कलर थ्री-स्ट्रिप टेक्नीकलर, फीचर-लेंथ कार्टून और कैमरों में तकनीकी विकास की शुरुआत की गई। स्नो व्हाइट एंड द सेवन ड्वार्फ्स (1937), पिनोचियो, फैंटासिया (दोनों 1940), डंबो (1941), और बांबी (1942) जैसी विशेषताओं में देखे गए परिणामों ने एनिमेटेड फिल्म के विकास को आगे बढ़ाया। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद नई एनिमेटेड और लाइव-एक्शन फिल्मों का अनुसरण किया गया, जिसमें समीक्षकों द्वारा सफल सिंड्रेला (1950) और मैरी पोपिन्स (1964) शामिल हैं, जिनमें से बाद में पांच अकादमी पुरस्कार प्राप्त हुए।

उसने कला में ही अपना करियर बनाने की भी सोची और अपना करियर बनाने शिकागो के mckinley high school निकल पड़े . वाल्ट सेना में भर्ती होना चाहते थे लेकिन कम उम्र के कारण walt disney को सेना में भर्ती होने से रिजेक्ट कर दिया गया था, इसकी जगह वाल्ट रेड क्रोस में शामिल हो गए. विश्व में वह मनोरंजन के क्षेत्र मे किये गए कार्यो से प्रसिद्ध हुए.

WALT DISNEY का संघर्ष

walt disney की कामयाबी का सफ़र कभी भी आसान नहीं रहा और इस दौरान उन्हें कई कठिनाईयों और असफलताओ का सामना करना पड़ा. disney प्रथम विश्वयुद्ध से जब सेवक की सेवा करके लौटे तो अपने भविष्य के बारे में सोचने के लिए उनके पास काफी समय था. वह कार्टून मोशन pictures बनाना चाहते थे, 1920 में उन्होंने केवल 19 साल की उम्र में अपनी कंपनी बनाई. वह बचपन से ही प्राणियों के कार्टून बनाया करते थे.

इसी समय उनके पास किराया चुकाने के पैसे नहीं थे और कई बार उन्हें बिना खाये रहना पड़ता था, वह एक भी कार्टून बेचने में कामयाब ना हो पाए. kansas सिटी में अपनी कार्टून सीरीज के बुरी तरह असफल हो जाने के कारण वह कंगाल हो गए. एक बार उन्हें एक समाचार संवाददाता ने यह कहकर निकाल दिया की वह सुस्त है और उनमे कल्पनात्मक और सर्जनात्मक विचारो की कमी है. वह कई बार दिवालिये हुए, वह हॉलीवुड एक्टर भी बनना चाहते थे पर ऐसा ना हो पाया. तिन साल बाद उन्होंने हॉलीवुड के लिए kansas सिटी को छोड़ दिया ताकि वह अपने बचपन के सपने को पूरा कर सके. बाद में उन्होंने एक स्टूडियो सेटअप किया. कुछ समय बाद छोटी एनीमेशन ‘alice in cartoonland’ और ‘oswald the rabbit’ के द्वारा कुछ कामयाबी हाथ लगी, लेकिन ये ज्यादा दिनों तक कायम ना रह सकी. वाल्ट को सफलता अपने पहले पात्र मिक्की माउस से मिली.

WALT DISNEY की DISNEYLAND की कल्पना


वाल्ट ने परेशानियों और अपनी असफलताओं से कभी हार नहीं मानी. उन्होंने कई बिजनेस शुरू किये लेकिन सभी असफल हो गए और दिवालियापन उसका परिणाम हुआ . वह बड़ी कामयाबी हासिल करना चाहते थे इसलिए अपने सृजनात्मक विचारो का प्रयोग करना उन्होंने नहीं छोड़ा. 1940 में उन्होंने एक मनोरंजन पार्क बनाने का विचार विकसित किया जहा पार्क के कर्मचारी अपने बच्चो और परिवार के साथ समय बिता सके.

children fairyland की अपनी यात्रा के दौरान कईयों ने इस विचार में योगदान दिया. उन्होंने इस विचार की रूपरेखा दुसरो के सामने प्रस्तुत की. और इसे बनाने में दिन रात एक कर दिए, 1955 में एक लाइव टीवी कार्यकर्म के दौरान उन्होंने अपने नए बनाये amusement park यानि dysneyland को इस आशा के साथ प्रस्तुत किया की यह लोगो के लिए आनंद और प्रेरणा का स्त्रोत बन सके. लोगो के लिए खुला यह सबसे लोकप्रिय पार्क था जो की walt dysney की कल्पना और विचार का परिणाम था. वह यही नहीं रुके उन्होंने water parks, motion pictures और resorts भी बनाये.

डिज़नी निजी तौर पर एक शर्मीला, आत्म-हीन और असुरक्षित व्यक्ति था, लेकिन उसने एक गर्म और बाहर जाने वाले सार्वजनिक व्यक्तित्व को अपनाया। उनके पास उन लोगों से उच्च मानक और उच्च अपेक्षाएं थीं जिनके साथ उन्होंने काम किया। यद्यपि आरोप लगाए गए हैं कि वह नस्लवादी या यहूदी विरोधी थे, लेकिन कई लोगों जो उन्हें जानते थे ने इसका खंडन किया है ।

उनकी “वाल्ट डिज्नी कम्पनी” का कारोबार आज 35 अरब अमेरिका डॉलर के बराबर है. उनका कहना था की उनके जीवन की कठिनाइयों ने उन्हें मजबूती प्रदान की और अपने जीवन की कड़ी प्रतियोगिता के ऊपर रहे. अपने सर्जनात्मक (creative) विचारो के द्वारा उन्होने एक ऐसे पार्क को बना दिया जो आनंद का प्रतीक बन गया. वाल्ट dysney की असफलताओ की कहानी बहुत लम्बी है, ऐसा मन जाता है की वो 300 से अधिक बार असफल हुए लेकिन उन्होंने अपनी असफलताओ से हार न मानते हुए एक अलग ही इतिहास लिख दिया.