Khilona Shayari | Toys shayari in hindi

Toy Khilona Shayari Status Quotes in Hindi – इस पोस्ट में बेहतरीन खिलौना शायरी,खिलौना स्टेटस आदि दिए हुए हैं.

इस पोस्ट में बेहतरीन खिलौना शायरी, खिलौना स्टेटस, Khilona Shayari, Khilona Shayari in Hindi, Khilona Status, Toy Shayari, Khilona Status in Hindi, Toy Quotes in Hindi, Toy Shayari in Hindi, Khilona Quotes in Hindi, Toy Status, Admi Khilona Shayari आदि हैं.

Advertisements

बचपन खिलौने के बगैर अधूरा होता है. हर व्यक्ति अपने बचपन में खिलौने से खूब खेलता है. जीवन में असली खुशियाँ तभी तक होती है जब तक बचपन में खिलौने से खेलते है. फिर धीरे-धीरे बड़े होते है. स्कूल, नौकरी फिर जिम्मेदारी बढ़ जाती है. पर हर उम्र में बचपना याद आता है.

Khilona Shayari
बहुत कम लोग मोहब्बत करते है निभाने के लिए,
कइयों के लिए दिल एक खिलौना है बहलाने के लिए.

पुरानी अलमारी से देखा करता है खूब मुस्कुराता है,
ये बचपन वाला खिलौना मुझे बहुत सताता है.

सिर पर साया हो पिता का
तो हर सपना सच्चा लगता है,
पिता के मौजूदगी से ही
हर खिलौना अच्छा लगता है.

वो खेलती है मुझसे मुझे भी ये पता है,
पर उसके हाथ का खिलौना होने में भी एक मजा है.

Dil Ka Khilona Shayari

दिल में बसाकर-बसकर जो छोड़ जाते है,
वो खिलौना मानकर दिल को तोड़ जाते है.

किसी से इश्क इतनी भी जल्दी न हो जाये,
कि वो दिल को ही खिलौना समझने लग जाये.

Aadmi Khilona Hai Shayari

जिन्दा इंसान को लाश बना दिया
तुमने किस तरह का इश्क किया.

इंसानों की इस दुनिया में बस यही तो एक रोना है,
अपना दिल, दिल होता है, दूजे का खिलौना है.

दुनिया में उल्फत का यह दस्तूर होता है,
जिसे दिल से चाहो वही हमसे दूर होता है,
दिल टूट कर बिखरता है इस कदर जैसे
काँच का खिलौना गिरके चूर-चूर होता है.

खिलौना शायरी

गरीब का बच्चा कहाँ खिलौना पाता है,
भले ही खिलौने वाला उनके दरवाजे तक आता है.

कितने अजीब होते है ये जमाने के लोग,
दुनिया भर के खिलौने छोड़ कर जज्बात से खेलते है.

Khilona Shayari in Hindi

उनका मोहब्बत में वादों से अपने मुकर जाना,
जैसे दिल बहलाकर फिर खिलौने को तोड़ जाना.

जो चाहा नही कभी, वो हो रहा हूँ,
आदमी से खिलौना बन रहा हूँ.

Khilona Status खिलौना शायरी

बचपन बहुत खूबसूरत था,
तब खिलौने जिन्दगी हुआ करते थे,
आज जिन्दगी खिलौना है.

मुझ से खेलना सबकी आदत बन गयी है,
काश!!! हम कोई खिलौना होते तो किसी एक के हो जाते.

जिससे तुम खेल गये,
वो खिलौना नही… दिल था मेरा.

Khilona Shayari

हो …
खिलौना, जानकर तुम तो, मेरा दिल तोड़ जाते हो
मुझे इस, हाल में किसके सहारे छोड़ जाते हो
खिलौना …

मेरे दिल से ना लो बदला ज़माने भर की बातों का
ठहर जाओ सुनो मेहमान हूँ मैं चँद रातों का
चले जाना अभी से किस लिये मुह मोड़ जाते हो
खिलौना …

गिला तुमसे नहीं कोई, मगर अफ़सोस थोड़ा है
के जिस ग़म ने मेरा दामन बड़ी मुश्किल से छोड़ा है
उसी ग़म से मेरा फिर आज रिश्ता जोड़ जाते हो
खिलौना …

खुदा का वास्ता देकर मनालूँ दूर हूँ लेकिन
तुम्हारा रास्ता मैं रोक लूँ मजबूर हूँ लेकिन
के मैं चल भी नहीं सकता हूँ और तुम दौड़ जाते हो
हो, खिलौना …

खिलौना के इतिहास हुआ करते हैं
कुछ लोगो के जीने का इतिहास लिखा करते हैं

मेरी गुड़िया ने आज पूछा मुझसे
मेरी गुड़िया कब आएगी खेलने को

मेरे दिल है साहेब ,खिलौना समझ के तोड़ ना देना
कोई बच्चा होता तो टूटने में भी खुश करने की ख़ुशी होती