Advertisements

Tahira Kashyap Ayushman fight cancer | ताहिरा कश्यप का कैंसर पे विजय

कैंसर से जंग लड़ने वाली शख्सियतों में बॉलिवुड के शानदार ऐक्टर आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप भी शामिल हैं। आमतौर पर जहां लोग इस मर्ज को छिपाने की कोशिश करते हैं, ताहिरा ने खुद सोशल मीडिया पर अपनी bald look- बाल्ड लुक तक वाली तस्वीरें शेयर कीं थी। 

चलिए समझते है ताहिरा कश्यप की आम से खास जिंदगी और उनके लड़ने की कहानी।  सफलता पाने के लिए जिद्दी होना जरूरी होता है।

आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप का जन्म  21 को जनवरी 1985 को चंडीगढ़ में हुआ था।, वह ब्राह्मण पृष्ठभूमि के हिंदू परिवार में पैदा हुई थीं। ताहिरा के पिता का नाम यजन कश्यप है और मां अनीता कश्यप हैं। वह अपने माता-पिता को हमेशा उनके संकटों और गर्तों में उनका समर्थन करने के लिए श्रेय देती हैं । यात्रा के दौरान वह कई टेलीविज़न और वेब श्रृंखलाओं को देखना पसंद करती है। ताहिरा हमेशा अपने साथ कई किताबें ले जाती हैं ताकि यात्रा करते समय समय बीत जाए।

उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा मोहाली के एसएएस नगर में स्थित यादविंद्र पब्लिक स्कूल से पूरी की।, वह बचपन के दिनों से ही पढ़ाकू छात्रा थीं। वह हमेशा उंच्च अंको के साथ अपने स्कूली परीक्षाओँ  में उत्तीर्ण रही हैं ।

बाद में वह चंडीगढ़ में स्थित पंजाब विश्वविद्यालय में शामिल हो गईं। वहाँ, उसने स्नातक की डिग्री पूरी की। इसके बाद उन्होंने उसी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन के क्षेत्र में स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की।

ताहिरा और आयुष्मान ने एक ही विज्ञान की कक्षाओं में भाग लिया, ज्यादातर अपने HSC वर्ष में भौतिकी। आयुष्मान और ताहिरा ने कॉलेज में डेटिंग शुरू कर दी थी और वे कॉलेज स्वीटहार्ट थे। उन्होंने 2008 में शादी की थी।

ताहिरा ने इस बारे में बात की है कि कैसे उनकी शादी टूटने के राश्ते पे चल चुकी थी । उसने कहा कि गर्भावस्था के दौरान, वह ‘अपने घर चंडीगढ़,’ चली गयी थी ,अपने पति के पास मेरे लिए समय नहीं होने के कारण वापस चंडीगढ़ चली गई। ‘ ऐसा वो उस समय सोच रही थीं.

पहले के साक्षात्कारों में आयुष्मान ने भी अपनी शादी के कठिन दौर से गुजरने का जिक्र किया था, खासकर अपनी पहली फिल्म विक्की डोनर के बाद। “वह चाहती थी कि मैं स्क्रीन पर चुंबन नहीं करु । हम एक-दूसरे के पहले प्रेमी और प्रेमिका की तरह थे ”आयुष्मान ने एक पत्रिका  को बताया।


आयुष्मान ने कहा था कि रफ पैच लगभग तीन साल तक चला।

ताहिरा ने एक इंटरव्यू में  कहा, “अगर  मैं एक डॉक्टर के पास गई  होती ,मुझे डिप्रेस्ड घोषित कर दिया जाता ।  लेकिन मैंने हर रात   रोना चुना। मैं एक दोहरी ज़िंदगी जी रही थी। मेरे पति शूटिंग कर रहे थे, मैं रात में घंटों रोती थी और सुबह एक खुशहाल व्यक्ति की तरह पेश करती थी ताकि मैं अपने बच्चों के सामने एक हारे हुए व्यक्ति की तरह न दिखूं, जो तब दो और चार साल के थे। “

ताहिरा ने कहा कि जब वह बौद्ध जप का अभ्यास करना शुरू किया  तब उनका स्वास्थ्य बेहतर हो गया था। “इसके बाद ही मैंने बौद्ध जप का अभ्यास किया था, और अपने मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित किया था कि चीजें बदल गईं। एक तरह से, मुझे खुशी है कि [मुझे कैंसर का पता चला] एक समय था जब मैं इससे निपटने के लिए पर्याप्त मजबूत थी ।”उन्होंने कहा ।


इसके अतिरिक्त वर्ष 2018 में सितंबर के महीने में उसे स्तन कैंसर का पता चला  था। ताहिरा  के दाहिने स्तन को गंभीर रूप से प्रभावित किया था ।

ताहिरा ने बताया “जब डॉक्टर ने बताया कि मेरा ब्रेस्ट निकालना पड़ेगा तब मेरी आंखों में आंसू आ गए थे” ताहिरा ने बताया बस तब कमजोर पड़ी थी जब डॉक्टर ने बताया कि मेरा ब्रेस्ट निकालना पड़ेगा, जिसे वह मेरी पीठ के टिश्यूज से दोबारा कंस्ट्रक्ट कर देंगे, तब मेरी आंखों में आंसू आ गए

उनका इलाज़ डक्टल कार्सिनोमा इन सीटू के रूप में जाना जाता है। वह बहादुरी से लड़ी। उसने बीमारी को कभी भी उनके मन स्थिति पे हावी नहीं होने दिया था । एक प्रसिद्ध चिकित्सक ने उसे मास्टेक्टॉमी नामक एक प्रक्रिया के साथ इलाज किया । उसने ठीक किया।

उनके दो बच्चे हैं बेटा विराजवीर जिनका जन्म 2012 में हुआ और 2014 में बेटी वरुष्का का जन्म हुआ था ।

Leave a Comment