Election shayari in hindi -चुनाव पर शायरी | चुनावी शायरी

चुनावी मौसम में राजनीतिक पार्टियां जनता को लुभाने के लिए कई वादे करती हैं लेकिन सत्ता में आने पर वादे सिर्फ वादे रह जाते हैं. कस्मे थी ख़त्म हुईं. बातें हैं बातो का क्या के तर्ज़ पे नेता निकल लेते हैं. । शायरों ने वादों पर कलाम लिखे हैं जो राजनीतिक पार्टियों पर अक्सर सटीक …

Election shayari in hindi -चुनाव पर शायरी | चुनावी शायरी Read More »