ahmad faraz shayari in hindi – फ़राज़ की शायरी

फ़राज़ की शायरी- ahmad faraz shayari in hindi ने उर्दू शायरी को एक बहुत नर्म और नाज़ुक अहसास दिए हैं फ़राज़ साहब का ख़ानदानी ताल्लुक सूफी परंपरा से जुड़ता है और वह कोहाट के मशहूर संत हाजी बहादुर के वंशज है ।


ख़ुदा का यह ज़िक्र फ़राज़ की ग़ज़लों में कई दफ़ा आता है और हर बार इसी अंदाज़ से आता है। फ़राज़ इश्क में हद तक जाते हैं उनकी शायरी में घुमा-फिराकर बात करने की जगह नहीं है। वह अपने तसब्बुर में अपनी प्रेमिका को पागलपन में देखते हैं

faraz shayari in hindi

बड़ी मुश्किल से सुलाया था खुद को “फ़राज़” मैंने आज
अपनी आँखों को तेरे ख्वाब का लालच दे कर

badi mushkil se sulaya tha khud ko faraz maine aaj
apni ankhon ko tere khwaad ka lalach dekar

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ 
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ

ranjish hi sahi dil hi dukhane ke liye aa
aa fir se mujhe chor ke jaane ke liye aa

यही सोच कर उस की हर बात को सच माना है “फ़राज़ “
के इतने ख़ूबसूरत लव झूट कैसे बोलेंगे .

yahi soch kar us ki har baat ko sach mana hai faraz
ke itne khbusurat lab jhut kaise bolenge

dil ko teri chahat pe bharosa bhi bahut hai
aur tujh se bichhad jaane ka Dar bhi nahin jaata

faraz ki shayari

ahmad faraz shayari in hindi font,
ahmad faraz two line,
two line shayari faraz,
faraz sher o shayari,
ahmed faraz two line poetry,
best sher of ahmad faraz,
faraz shayari in english,
love poetry ahmed faraz,
best shayari of ahmad faraz,
faraz sad shayari in hindi,
ahmad faraz best sher,urdu shayari ahmed faraz,
two line shayari ahmad faraz,
faraz ahmad faraz urdu poetry,
ahmad faraz sher hindi,
sad shayari ahmad faraz,
poetry on love in urdu by faraz,,
urdu poetry ahmed faraz

kis kis ko bataenge judai ka sabab ham
tu mujh se khafa hai to zamane ke liye aa

तेरे लहजे की थकन में तेरा दिल शामिल है
ऐसा लगता है जुदाई की घड़ी आ गई दोस्त

tere lehze ki thakan me tera dil shaamil hai
aisa lagta hai judai ki ghadi aa gayi dost

जख़्म को फूल तो सरसर को सबा कहते हैं
जाने क्या दौर है, क्या लोग हैं, क्या कहते हैं

jakhm ko ful to sarsar ko saba kehte hain
jaane kya daur hai ,kya log hain,kya kehte hain

hua hai tujh se bichhadne ke baad ye maalum
ki tu nahin tha tire saath ek duniya thi

ahmad faraz poetry in hindi

faraz shayari two line,
ahmed faraz shayari on neend,
tahir faraz poetry on mother,
tahir faraz shayari in hindi font,
faraz ahmad faraz sad poetry,ahmad faraz romantic shayari in hindi,
shayari tahir faraz,
ahmad faraz sad shayari hindi,
faraz shayari on dosti,
faraz ahmed shayari hindi,
ahmad faraz dard shayari,
,
ahmed faraz ki shayari

faraz poetry

दोस्तों ने किया कहाँ से गुरेज
इब्तदा की तेरे कसीदे की
अब मुश्किल करू कहाँ से गुरेज
में वहाँ हूँ जहाँ जहाँ तुम हो
तुम करोगे कहाँ कहाँ से गुरेज
कर गया तेरे मेरे किस्से मैं
दास्ताँ वो जहाँ वहाँ से गुरेज

tum takalluf ko bhi ikhlas samajhte ho ‘faraz’
dost hota nahin har haath milaane waala

zindagi se yahi gila hai mujhe
tu bahut der se mila hai mujhe

aankh se duur na ho dil se utar jaega
waqt ka kya hai guzarta hai guzar jaega

ahmad faraz shayari collection in hindi

हम पे फ़क़त इलज़ाम के हम हैं ज़ुबान दर्ज़ “फ़राज़”
हम ने तो बस कहा था हमें तुम से प्यार है

वो बेवफा न था यूं ही बदनाम हो गया ” फ़राज़ “
हज़ारों चाहने वाले थे किस किस से वफ़ा करता वो

4 line shayari by faraz

तू पास भी हो तो दिल बेक़रार अपना है
के हम को तेरा नहीं इंतज़ार अपना है
मिले कोई भी तेरा ज़िकर छेड़ देते हैं
के जैसे सारा जहाँ राज़दार अपना है
वो दूर हो तो बजा तर्क -ऐ -दोस्ती का ख्याल
वो सामने हो तो कब इख्तियार अपना है
ज़माने भर के दुखों को लगा लिया दिल से
इस आसरे पर के इक गमगुसार अपना है
“फ़राज़” राहत-ऐ-जान भी वही है क्या कीजिये
वो जिस के हाथ से सीनाफिगार अपना है

faraz shayari in hindi

neend poetry faraz,
love shayari faraz,
faraz famous poetry,
romantic shayari by ahmad faraz,
ahmad faraz poetry on love,ahmad faraz best shayari in hindi,
faraz ahmad faraz two line shayari,
ahmed faraz romantic shayari,
poetry on barish by faraz,
ahmed faraz 2 line poetry,
,
ahmad faraz love poetry

is se pahle ki bewafa ho jaaen
kyuun na ai dost ham juda ho jaaen

प्यार में एक ही मौसम है बहारों का “फ़राज़”
लोग कैसे मौसमों की तरह बदल जाते है

pyaar me ek hi mausam hai baharon ka faraz
log kaise mausamo ki tarah badal jaate hain

,
ahmad faraz famous shayari,
ahmad faraz dard bhari shayari,
,ahmad faraz all shayari,
romantic shayari by faraz,faraz ki urdu shayari,
ahmad faraz shayari suna hai log,
faraz poetry in urdu text,
ahmad faraz best poetry

अकेले तो हम पहले भी जी रहे थे “फ़राज़”
क्यूँ तन्हा से हो गए हैं तेरे जाने के बाद

Akele to hum pehle bhi jee rahe the “Faraz”
Kyun Tanha se ho gaye hain tere jane ke baad

ahmad faraz ke sher,
ahmad faraz ghazal hindi,
faraz sher in hindi,
ahmad shayari,
faraz ki shero shayari,
parveen shakir and ahmed faraz poetry,
faraz ahmed faraz shayari,
ahmad faraz love shayari in hindi,
faraz ahmed faraz poetry

ahmad faraz ki shayari

तेरा न हो सका तो मर जाऊंगा “फ़राज़ “
कितना खूबसूरत वो झूट बोलता था

हम न बदलेंगे वक़्त की रफ़्तार के साथ ‘”फ़राज़”‘
हम जब भी मिलेंगे अंदाज़ पुराना होगा …

किस की क्या मजाल थी जो कोई हम को खरीद सकता “फ़राज़”
हम तो खुद ही बिक गए खरीदार देख कर

कौन देता है उम्र भर का सहारा ऐ “फ़राज़’
लोग तो जनाज़े में भी कंधे बदलते रहते हैं

kisi ko ghar se nikalte hi mil gai manzil
koi hamari tarah umr bhar safar men raha

faraz shayari on life

hmad faraz shayari on love,
ahmad faraz two line poetry,
ahmed shayari,
farz shayari in hindi,
ahmad faraz sher in urdu,
ahmad faraz love poetry urdu,
faraz romantic shayari,
faraz 2 line poetry,
2 line shayari faraz,
ahmad faraz shayari on life,
,
ahmad faraz ghazal in hindi

यह वफ़ा तो उन दिनों की बात है “फ़राज़”
जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते थे

ahmad faraz ghazal in hindi

कुछ इश्क़ का नशा था पहले हम को “फ़राज़”.
दिल जो टूटा तो नशे से मोहब्बत हो गई .

हम उन से मिले तो कुछ कह न सके “फ़राज़”
ख़ुशी इतनी थी के मुलाक़ात आँसू पोंछते ही गुज़र गई

ऐसा डूबा हूँ तेरी याद के समंदर में “फ़राज़”
दिल का धड़कना भी अब तेरे कदमों की सदा लगती है

Aise dooba hoon teri yaad ke samandar me “Faraz”
Dil ka dhadakna bhi ab tere kadmon ki sda laggti hai

aaj ik aur baras biit gaya us ke baghair
jis ke hote hue hote the zamane mere

ahmad faraz in hindi

faraz poetry in english,
ahmed faraz sad shayari,
faraz quotes in hindi,
ahmad faraz ishq shayari,
ghalib iqbal faraz shayari,
ahmed faraz funny poetry,
,
faraz sad poetry

बेनयाज़े-ग़मे- पैमाने-वफा हो जाना 
तुम भी औरों की तरह मुझ से ज़ुदा हो जाना 

हर एक से कौन मुहब्बत निबाह सकता है 
सो हमने दोस्ती-यारी तो की वफ़ा नहीं की 

हमेशा से वफा कारे-जियां है 
मगर अपनी नज़र अंजाम पर नहीं 

मैं क्या बताऊँ कि क्यों उसने बेवफाई की 
मगर यही कि कुछ ऐसा मिज़ाज उसका था 

faraz sher

aur ‘faraz’ chahiyen kitni mohabbaten tujhe
maaon ne tere naam par bachchon ka naam rakh diya

love shayari by faraz,
faraz ahmed ki shayari,
tahir faraz shayari in hindi,
ahmad faraz ki poetry,
shayari of ahmad faraz in hindi,
ahmad faraz shayari in english,
ahmad faraz two line shayari in hindi,
,ahmed faraz shayari in hindi,
faraz shayari on life in hindi,
ahmad faraz poetry hindi
faraz shayari 2 line,
faraz ahmad faraz poetry

faraz ahmed shayari

ham ko achchha nahin lagta koi hamnam tira
koi tujh sa ho to phir naam bhi tujh sa rakkhe

खाली हाथों को कभी गौर से देखा है फ़राज़
किस तरह लोग लकीरों से निकल जाते हैं

ahmad faraz poetry in english

Khaali haathon ko kabhi gaur se dekha haim Faraz
Kis tarah log laqiron se nikal jate hai

is zindagi men itni faraghat kise nasib
itna na yaad aa ki tujhe bhuul jaaen ham

ab aur kya kisi se marasim badhen ham
ye bhi bahut hai tujh ko agar bhuul jaaen ham

मुझसे पहले तुझे जिस शख़्स ने चाहा उसने 
शायद अब भी तेरा ग़म दिल से लगा रखा हो 

ahmed faraz poetry in hindi

एक बेनाम सी उम्मीद पे अब भी शायद 
अपने ख्वाबों के जज़ीरों को सजा रखा हो 

faraz 2 line shayari,
shayari faraz hindi,
ahmed faraz 2 line shayari,
faraz poetry in hindi,
ahmad faraz ki shayari in hindi,
faraz ahmad shayari in hindi,
faraz ahmed faraz ki shayari,
shayari of ahmad faraz in hindi
ahmad faraz two line shayari in hindi,
shayari ahmad faraz hindi,
faraz quotes in hindi,
farz shayari in hindi,
faraz romantic shayari,
2 line shayari faraz,
ahmad faraz ghazal hindi,
faraz ahmed poetry

किसी से जुदा होना अगर इतना आसान होता “फ़राज़”
जिस्म से रूह को लेने कभी फरिश्ते न आते

ahmad faraz best shayari

हम उन से मिले तो कुछ कह न सके “फ़राज़ ”
ख़ुशी इतनी थी के मुलाक़ात आँसू पोंछते ही गुज़र गई

लोग पत्थर के बूतों को पूज कर भी मासूम रहे “फ़राज़”
हम ने एक इंसान को चाहा और गुनहगार हो गए

वो अब हर एक बात का मतलब पूछता है मुझसे “फ़राज़”
कभी जो मेरी ख़ामोशी की तफ्सील लिखा करता था

bandagi ham ne chhd di hai faraz
kya karen log jab ḳhudā ho jaaen

ahmed faraz poetry in hindi

us ko juda hue bhi zamana bahut hua
ab kya kahen ye qissa purana bahut hua

Dhundhe ujde hue logon men vafa ke moti
ye ḳhazane tujhe mumkin hai kharabon men milen

ab dil ki tamanna hai to ai kaash yahi ho
aansū ki jagah aankh se hasrat nikal aae

ab tak dil-e-khush-fahm ko tujh se hain umiden
ye akhiri shamen bhi bujhane ke liye aa

suna hai us ke badan ki tarash aisi hai
ki phuul apni qabaen katar ke dekhte hain

ahmad faraz 2 line shayari

main kya karun mire qatil na chahne par bhi
tire liye mire dil se dua nikalti hai

is qadar musalsal thin shiddaten judai ki
aaj pahli baar us se main ne bevafai ki

हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”
यहाँ नहीं डूबता तो कहीं और डूबे होते

उँगलियाँ आज भी इस सोच में गुम हैं “फ़राज़”
उस ने कैसे नया हाथ थामा होगा.

teri baten hi sunane aae
dost bhi dil hi dukhane aae
chala tha zikr zamane ki bewafai ka
so aa gaya hai tumhara ḳhayal vaise hi

ahmad faraz sad shayari hindi

kuchh is tarah se guzari hai zindagi jaise
tamam umr kisi dusre ke ghar men raha

guftugu achchhi lagi zauq-e-nazar achchha laga
muddaton ke baad koi ham safar achchha laga

faraz sher in hindi,
ahmad faraz romantic shayari in hindi,
ahmad faraz sad shayari hindi,
faraz ahmed shayari hindi,
two line shayari ahmad faraz,
ahmad faraz sher hindi,
ahmad faraz love shayari in hindi,
ahmad faraz best shayari in hindi,
faraz ahmad faraz two line shayari,
faraz shayari two line,
ahmad faraz shayari in hindi font,
two line shayari faraz,
faraz sad shayari in hindi,
ahmad faraz dard bhari shayari,
ahmad faraz sher in hindi

faraz shayari on love

मैं जो महका तो मेरी शाख जला दी उस ने “फ़राज़”
सर्द मौसम में मुझे जर्द हवा दी उस ने

लोग कहते हैं के मुलाक़ात नहीं हुई ” फ़राज़ “
हम तो रोज़ मिलते हैं लेकिन बात नहीं होती

तुम्हारी दुनिया में हम जैसे हजारों हैं “फ़राज़”
हम ही पागल थे जो तुम्हे पा के इतराने लगे

Tumhari Duniya me hum jaise hazaron hai “Faraz”
Hum hi pagal the jo tumhe pa ke itraane lage

मुसाफिरत में भी तस्वरी घर को देखती है 
कोई भी ख़्वाब हो तो ताबीर घर को देखती है 

faraz two line shayari

वतन से दूर भी आज़ादियां नसीब किसे 
क़दम कहीं भी हो जंज़ीर घर को देखते हैं 

फ़राज़ जब कोई नामा वतन से आता है 
तो हर्फ़-हर्फ़ में तस्वीर घर को देखते हैं 

कभी नदिया जैसे बोल कहे कभी सागर जैसा शोर करे 
तेरा भेद भरा लहजा न खुले तेरी सारी कविताएं है अजब

Jaun Elia Shayari in hindi | जौन एलिया शायरी

जौन एलियाकी प्रसिद्ध कविता,jaun elia famous shayari in hindi,john elia love shayari in hindi,poetry of john aleya,शायरी प्रस्तुत कर रहे है। पाठको को इसको पढ़ने में मजा आएगा

उनकी शायरी पढ़ने से पहले उनके जीवन के बारे में थोड़ा जान लेते हैं

Jaun Elia biography in hindi |जौन एलिया की जीवनी

सैयद सिबत-ए-असग़र नकवी, जिसे आमतौर पर जौन एलिया के नाम से जाना जाता है, एक पाकिस्तानी उर्दू कवि, दार्शनिक, जीवनी लेखक और विद्वान थे। उनका जन्म 14 दिसंबर 1931  को हुआ था . वह उर्दू, अरबी, अंग्रेजी, फारसी, संस्कृत और हिब्रू में निपुण थे।

जौन एलिया प्रमुख आधुनिक पाकिस्तानी कवियों में से एक थे , अपने अपरंपरागत तरीकों के लिए लोकप्रिय थे. उन्होंने दर्शन, तर्क, इस्लामी इतिहास, मुस्लिम सूफी परंपरा, मुस्लिम धार्मिक विज्ञान, का ज्ञान प्राप्त किया था

उन्होंने 8 साल की उम्र में कविता लिखना शुरू कर दिया था, लेकिन 60 साल की उम्र में उन्होंने अपना पहला संग्रह शायद प्रकाशित किया।उन्होंने 1970 में लेखक ज़ाहिदा हिना से शादी की और वे 1992 में अलग हो गए। उनका देहांत 8 नवंबर 2002 को हुआ था

Jaun Elia hindi | जौन एलिया शायरी

jon elia hoon pdf download, 23 march bhagat singh shayari, ahmad faraz poetry in hindi, ahmad faraz rekhta, ahmad faraz shayari, allama iqbal shayari, bashir badr poetry in hindi, bestshayari in images, gulzar shayari, jaun, jaun alia, jaun elia 2 line shayari, jaun elia 2 line shayari hindi, jaun elia 2 line shayari in english, jaun elia 2 line shayari in urdu, jaun elia books in hindi pdf download, jaun elia famous shayari in hindi, jaun elia kavita kosh, jaun elia quotes in english, jaun elia rekhta, jaun elia rekhta hindi, jaun elia sad shayari in hindi, jaun elia sharab shayari, jaun elia shayari, jaun elia shayari in hindi pdf, jaun elia shayari pdf
Jaun Elia Shayari

Bahut najdik aati jaa rahi ho
Bichadne ka irada kar liya kya

jaun elia quotes in hindi

उस गली ने ये सुन के सब्र किया
जाने वाले यहाँ के थे ही नहीं

Us ki gali ne ye sun ke sabr kiya
Jaane wale yahan ke the hi nahi

john elia shayari
john elia love shayari in hindi

Bina tumhare kabhi nahi aayi
Kya meri neend bhi tumhari hai

jaun elia poetry hindi

जो गुज़ारी न जा सकी हम से
हम ने वो ज़िंदगी गुज़ारी है
Jo gujari naa jaa saki hamse
Hamne wo jindagi gujari hai

jaun elia sher, jaun elia wiki, jaun eliya, jaun eliya rekhta, jaun eliya shayari, jaun poetry, jhon eliya, john alia, john aliya, john elia love shayari in hindi, john elia poetry in english, john elia rekhta, john eliya, johny jhony poem, jon elia poetry, joun elia, joun elia poetry, june elia, junooniyat shayari, khoon thookna jaun elia, kitne aish udate honge jaun elia, kya kaha ishq kar baithe jaun elia, main jo hoon
jaun elia quotes hindi

Ik ajab haal hai ki ab usko
Yaad karna bhi bewafai hai

jaun elia famous shayari in hindi

उन से वादा तो कर लिया लेकिन
अपनी कम-फ़ुर्सती को भूल गया
Unse wada toh kar liya lekin
Apni kam fursati ko bhul gaya

हम जी रहे हैं कोई बहाना किए बग़ैर
उस के बग़ैर उस की तमन्ना किए बग़ैर
Hum ji rahe hai koi bahana kiye bagair
Us ke bagair us ki tamanna kiye bagair

john elia shayari hindi

ऐ क़ातिलों के शहर बस इतनी ही अर्ज़ है
मैं हूँ न क़त्ल कोई तमाशा किए बग़ैर
Aae kaatilon ke shaher bas itni se arj hai
Mai hu naa katl koi tamasha kiye bagair

Jaun Elia Shayari,nida fazli shayari, nida fazli shayari in hindi, poetry jaun elia, poetry of jaun elia, rahat indori sher, rekhta jaun elia, roop jaun elia
jaun elia hindi poetry

Khud ko bhula hu usko bhula hu
Umar bhar ki yahi kamai hai

john elia best shayari in hindi

ज़ब्त कर के हँसी को भूल गया
मैं तो उस ज़ख़्म ही को भूल गया

Jabt karke us hansi ko bhul gaya
Mai toh us jakhm hi ko bhul gaya

Jaun Elia Shayari
john elia best poetry in hindi

Meri jaan ab ye surat hai ki mujhse
Teri aadat chudai jaa rahi hai

एक ही तो हवस रही है हमें
अपनी हालत तबाह की जाए 

john elia best shayari in hindi

Jabt karke us hansi ko bhul gaya
Mai toh us jakhm hi ko bhul gaya

काम की बात मैं ने की ही नहीं
ये मेरा तौर-ए-ज़िंदगी ही नहीं
Kaam ki baat maine ki hi nahi
Ye mera taur e jindagi hi nahi

john elia quotes in hindi

कौन से शौक़ किस हवस का नहीं
दिल मेरी जान तेरे बस का नहीं
Kaun se shauk kis hawas ka nahi
Dil meri jaan tere bas ka nahi

इलाज ये है कि मजबूर कर दिया जाऊँ
वगरना यूँ तो किसी की नहीं सुनी मैंने
Ilaaz ye hai ki majboor kar diya jaaun
Warna yu toh kisi ke nahi suni maine

john elia shayari hindi

Jaun Elia Shayari
jaun elia best shayari in hindi

Ye mujhe chain kyu nahi padta
Ek hi shaks tha jahan me kya

कोई नहीं यहां खामोश, कोई पुकारता नहीं
शहर में एक शोर है और कोई सदा नहीं
Koi nahi yahan khaamosh,koi pukarta nahi
Shahar me ek shor hai aur koi sada nahi

jaun elia hindi shayari

अब हमारा मकान किस का है
हम तो अपने मकां के थे ही नहीं
Ab hamara makaan kiska hai
Hum toh apne makaan ke the hi nahi

हम आंधियों के बन में किसी कारवां के थे
जाने कहां से आए थे, जाने कहां के थे
Hum aandhiyon ke ban me kisi karwan ke the
Jaane kahan se aaye the ,jaane kahan ke the

hindi shayari in english jon elia

john elia best shayari hindi,
john elia sher hindi,
best shayari of jaun elia in hindi,
jaun elia 2 line shayari in hindi,
jaun elia two line shayari
jaun elia love shayari in hindi.john elia sher in hindi
tum meri akhri mohabbat ho jaun elia in hindi,
jaun elia shayari in hindi pdf,
jaun elia ghazal hindi,
jaun elia hindi sher,
john elia sad shayari in hindi,
shayari by jaun elia in hindi

Aur toh hamne kya kiya ab tak
Ye kiya hai ki din gujare hain

jaun elia sher in hindi

कभी-कभी तो बहुत याद आने लगते हो
कि रूठते हो कभी और मनाने लगते हो
Kabhi kabhi toh bahut yaad aane lagte ho
Ki ruthte ho kabhi aur maanaane lagte ho