pm Svanidhi

Essay on PM Svanidhi Yojana in hindi

SVANidhi Yojana Apply | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि ऑनलाइन आवेदन | स्वनिधि योजना आवेदन फॉर्म | SVANidhi Yojana In Hindi

देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून 2020 को  केंद्रीय केबिनेट की बैठक में स्वनिधि योजना को शुरू करने का फैसला लिया है | इस योजना के अंतर्गत  देश के रेहड़ी और पटरी वालों (छोटे सड़क विक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 10000 रूपये तक का लोन मुहैया कराया जायेगा | इस स्वनिधि योजना को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि के नाम से भी जाना जाता है |

इस योजना का लाभ देश के सभी  छोटे सड़क विक्रेताओं को उपलब्ध कराया जायेगा | प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस स्वनिधि योजना से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया , पात्रता ,दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े

Advertisements

Pradhan Mantri SVANidhi Yojana Update :

Pradhan Mantri SVANidhi Yojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर प्रदेश के ‘प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना’ के लाभार्थियों से संवाद किया. यह योजना रेहड़ी-पटरी के सहारे अपनी रोजी-रोटी चलाने वाले लोगों के लिए काफी मददगार रही है. कोरोना काल में सड़क किनारे रेहड़ी-पटरी पर सामान बेचकर रोज रोटी कमाने वाले दुकानदारों की आजीविका पर काफी असर पड़ा है. ऐसे में सरकार इन ठेले वाले लोगों को दोबारा से अपने कारोबार को खड़ा करने के लिए लोन दे रही है. यह लोन किफायती दरों पर मिल रहा है. सरकार की इस लोन स्कीम का नाम पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) रखा गया है.

बिना गारंटी के मिलता है लोन

सरकार का मकसद है कि सड़क किनारे ठेले लगाकर सामान बेचने वाले ऐसे दुकानदारों को इस स्कीम से लाभ मिले और वो दोबारा अपने छोटे कारोबार को पटरी पर ला सकें. सस्ती दरों पर मिलने वाले इस सरकारी लोन की स्कीम को जून 2020 में लॉन्च किया गया. इसकी विशेषता है कि इसके तहत बांटे गए लोन के लिए किसी तरह की गारंटी नहीं ली जाती है.

SVANidhi Yojana

देश में ग्रामीण और शहरी सड़को के किनारे  स्‍ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या रेहड़ी पर छोटी-मोटी दुकान लगाते हैं वे इस SVANidhi Yojana के तहत सरकार द्वारा  10000 रूपये का लोन प्राप्त कर सकते है |

सरकार द्वारा लिया गया यह ऋण रेहड़ी पटरी वाले लोगो को एक साल के भीतर किस्त में लौटना होगा | इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को इस योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा |

स्वनिधि योजना 3 लाख वेंडर को लोन

 स्वनिधि योजना के अंतर्गत फुटपाथ पर दुकान लगाने वाले स्ट्रीट वेंडरों की आर्थिक सहायता की जा रही है। इसके लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज में 50 हजार करोड़ रूपये का पैकेज भी निर्धारित किया गया था। इस लोन को प्राप्त करने के लिए स्ट्रीट वेंडर के पास निगम द्वारा जारी किया गया पहचान पत्र होना अनिवार्य है ।

यदि स्ट्रीट वेंडर्स पंजीकृत नहीं है तो भी वह स्वनिधि योजना के अंतर्गत ऑनलाइन तथा ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के लोन को लाभार्थियों को 1 साल के अंदर आसान किस्तों में तथा कम ब्याज दर में अदा करना होगा।

इस योजना के अंतर्गत 7% का ब्याज अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। इसका मतलब यह है कि इससे ज्यादा का ब्याज सरकार भरेगी। पीएम स्वनिधि योजना के माध्यम से छोटे छोटे व्यापार करने वाले वेंडर की आर्थिक मदद होगी जिससे वह अपना काम जारी रख सकेंगे।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सोमवार 26th अक्टूबर 2020 को ट्वीट करते हुए कहा कि वह उत्तर प्रदेश के भाइयों और बहनों से बातचीत करेंगे जो सड़क पर सामान बेचते हैं। जिससे कि वह यह जान पाए कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत उन्हें लाभ मिल रहा है या नहीं। इस योजना के अंतर्गत अब तक 24 लाख एप्लीकेशन सरकार द्वारा प्राप्त की गई हैं। जिसमें से 557000 एप्लीकेशन उत्तर प्रदेश से प्राप्त की गई हैं। इन 557000 एप्लीकेशन में से 3.27 लाख एप्लीकेशन सरकार द्वारा अप्रूव कर दी गई है। जिसके लिए 1.87 लाख रुपए स्ट्रीट वेंडर को प्रदान किए गए हैं। कुल 24 लाख प्राप्त एप्लीकेशन में से 12 लाख एप्लीकेशन ऐप्रोव कर दी गई है। जिसके लिए 5.35 लाख का लोन प्रदान कर दिया गया है।

SVANidhi Yojana Statistics

Total applications1084635
Sanctioned382921
Disbursed102085

स्वनिधि योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ सड़क के किनारे रेहड़ी पटरी वालो को प्रदान किया जायेगा |
  • स्वनिधि योजना के अंतर्गत शहरी / ग्रामीण क्षेत्रों के आस-पास सड़क पर माल बेचने वाले विक्रेताओं को इसमें लाभार्थी बनाया गया है।
  • देश के स्ट्रीट वेंडर सीधा 10,000 रुपये तक की कार्यशील पूंजी ऋण का लाभ उठा सकते हैं। जिसे वे एक वर्ष में मासिक किस्तों में चुका सकते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत 50 लाख से अधिक लोगो को लाभ पहुंचाया जायेगा |
  • इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा।
  • SVANidhi Yojana के तहत जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं है।
  • यह प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए लोगों की क्षमता को बढ़ाने और कोरोना संकट के समय कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने का काम करेगी।
  • लोगों को पीएम स्ट्रीट आत्मनिर्भर निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट (लॉन्च की जाने वाली) पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा या प्रारंभिक कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंकों में ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • इससे ये लोग कोरोना संकट के समय अपने कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देंगे.’
  • इस योजना के तहत आपको खाते में पूरा पैसा तीन बार में आएगा यानी हर तीन महीने पर एक किश्त मिलेगी। यह लोन आपको सात फीसदी ब्याज पर मिलेगा।

स्वनिधि योजना के पात्र लाभार्थी कौन कौन है

  • नाई की दुकानें
  • जूता गांठने वाले (मोची)
  • पान की दूकानें (पनवाड़ी)
  • कपड़े धोने की दूकानें (धोबी)
  • सब्जियां बेचने वाले
  • फल बेचने वाले
  • रेडी-टू-ईट स्ट्रीट फूड
  • चाय का ठेला या खोखा लगाने वाले
  • ब्रेड, पकौड़े व अंडे बेचने वाले
  • फेरीवाले जो वस्त्र बेचते हैं
  • किताबें/स्टेशनरी लगाने वाले
  • कारीगर उत्पाद

कौन देगा लोन

  • अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • स्मॉल फाइनेंस बैंक
  • सहकारी बैंक
  • नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां
  • माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूंशंस और एसएचजी बैंक

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक भारतीय निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत देश के केवल छोटे सड़क विक्रेताओं को ही पात्र माना जायेगा।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो