Sorry Shayari in hindi | माफी शायरी

Sorry shayari

रिश्तों में दूरियां तो आती-जाती रहती हैं,
फिर भी दोस्ती दिलो को मिला देती है,
वो दोस्ती ही क्या जिसमे नाराजगी न हो,
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना ही लेती है।

तुम नफरतों के धरने कयामत तक जारी रखो ऐ सनम,
हम मोहब्बत से इस्तीफा मरते दम तक नहीं देंगे।

सॉरी कहने का मतलब है,
कि आपके लिए दिल में प्यार है,
अब जल्दी से हमे माफ़ कर दो,
सुना है आप बहुत समझदार हैं।

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से।

sorry shayari

आज मैंने खुद से एक वादा किया है,
माफ़ी मंगुगा तुझसे तुझे रुसवा किया है,
हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ,
अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है।

Maafi shayari

.पलभर में.टूट जाये वो.कसम नहीं,
.तुम्हे भूल.जाये वो हम नहीं,
.तुम रूठी.रहो.हमसे इस.बात में दम नहीं.

.मोहब्बत हम.तुमसे.करके.सनाम,
.न जाने.किस दुनिया में खो गए,

.हमने सिर्फ छेड़ा.दिल की चाह से,
.बे वजह तुम.हमसे खफा हो गए.

.तेरी दोस्ती हम.इस तरह.निभाएंगे,
.तुम रोज़.खफा.होना.हम रोज़.मनायेंगे,

sorry shayari for gf 2 lines

.फिर वही.फ़साना.अफ़साना.सुनाती हो,
.दिल के.पास हूँ.

.कह कर.दिल जलाती हो,
.बेक़रार है.आतिश-इ-नज़र

.पता नहीं कितना.नाराज.है वो मुझसे.
ख्वाबों में भी मिलता है तो बात नहीं करता.

.कर दो.माफ़ गर.हुई कोई खता हमसे.
अलग .तुमसे होकर.और अब.रहा नहीं.जाता हमसे

.दिल से तेरी.याद को जुदा तो.नहीं किया,
.रखा जो तुझे.याद कुछ.बुरा तो नहीं किया,

.हम से तू.नाराज़.हैं किस.लिये बता जरा,
.हमने.कभी तुझे.खफा.तो नहीं किया।

.खता हो.गई हो.तो सजा.भी सुना दो
.दिल में.इतना.दर्द क्यू है.वजह भी बता दो
.देर हो.गई याद.करने में ज़रूर लेकिन
.तुमको.भुला.देंगे.ये.ख्याल.दिल से निकाल दो.

.हमको कांटा.समझ कर.छोड़ न देना,
.कांटे ही.फूल की.हिफाज़त.किया करते है.

.दुआ.मांगी थी.आशियाने की,
.चल.पड़ी आंधियां.ज़माने की,

.मेरा दर्द.कोई नहीं.समझ पाया,
.क्यूंकि.मेरी आदत.थी मुस्कुराने.की.

Sorry Shayari in hindi

.नज़र से .मिलने को,
.तो .फिर .क्यों नही .प्यार जताती हो

.अगर तुम .को हम पे .गुस्सा है तो
.घंटाघर .तोड़ दो
.रिंग रोड .मोड़ दो
.शहीद .गेट फोड़ .दो

.मुड़के.देखोगे तो.तन्हाई.होगी..अगर.महसूस.करोगे.तो.हमें.पाओगे

.मुड़के. देखोगे तो..तन्हाई .होगी,
.अगर .महसूस .करोगे .तो हमें .पाओगे

.देखा है.आज मुझे भी.गुस्से की.नजर से,
.मालूम.नहीं आज वह.किस किस.से लदे हैं

.गलती होई .हमेस.मान .हमने लिया
.गलत हम .थे जान.हमने.लिया

.काश इस.दर्द को ज़ुबान.होती तो बता.देते,
.पर वो.जख्म के निशान.कैसे बताये.जो दीखते.नहीं.

.दूर जब चालू.किसी के साथ.तो फिर.
.तनहा लौट के.आना.कितना.मुश्किल होता है

सॉरी बोलना मुश्किल नहीं होता मुश्किल अगर कुछ होता है
तो सोचे अपनी गलती को इस बात को
समझना कि आपकी वजह से सामने वाले को कितनी तकलीफ हुई है
कितना दर्द हुआ आज के टाइम में कोई भी सॉरी नहीं

.हम में से .ज्यादातर लोग ये .नहीं जानते कि
Sorry .कैसे कहनी है,
खासकर.तब जब हमने.किसी अपने का.दिल दुखाया होता है

मेरी गुस्ताखी को तुम माफ करना तुम्हारी
इजाजत के बिना भी ये दिल याद करता है

गलती यां हजारो माफ है बेवफाई एक भी नहीं माफ़ी छता
हूं गौहने गर हु तेरा ये दिल
तुझे उसके हवाले कियाजिसे तेरी कदर नहीं


जिन्दगी जिनके सिर्फ दो ही रास्ते हैं
उलजाओ ओने जिन्हें माफ नहीं कर
सकते या माफ कर दो ओने
भुला नहीं सकते तो

दिल से तेरी यादों को जुदा तो नहीं किया रखा जो
तुझे याद बुरा तो नहीं किया हमसे तू नाराज है की
सलिए बता जरा हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया

कब तक रह पाओगे आखिर दूर हमसे मिलना
पड़ेगा कभी ना कभी जरूर हमसे नजरें चुराने
वाले यह बेरुखी कैसी कैसे कह दो अगर हुआ है कोई कसूर हमसे

उदास है कोई खास तेरे जाने से
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से

मैंने खुद से वादा किया है माफी
मांग लूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है

maafi mangne wali shayari


हर मोड़ पर रहूंगा मैं तेरे साथ साथ
आनजाने में मैंने तुमको बहुत दर्द दिया है

कर लेना लाख शिकवे हमसे अगर
कभी खफा ना होना खुदा के लिए

हर वक्त तुमको याद करता हूं हद
से ज्यादा तुझे प्यार करता हूं

नाराज .क्यों .होते. हो .किस बात .पर हो
.रूठे .अच्छा .चलो यह .मानना .तुम. सच्चे .हम .ही. झूठे

कब तक छुपाओगी तुम हमसे प्यार करते
गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मर ते

हम से कोई खता हो जाए तो माफ करना हम याद ना कर
पाएं तो माफ़ करना दिल से तो हम आपको कभी भूलते
नहीं पर यह दिल ही रुक जाए तो माफ़ करना

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से
बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से हो
सके तो लौट के आजा किसी बहाने से

तू लाक खफा हो पर एक बार तो देख
ले कोई बिखर गया है तेरे रुठ जाने से

इसकदार मेरे प्यार का इम्तिहान ना
लीजिए खफा हो क्यों मुझ यह बता तो दीजिए


माफ कर दो आगर हो गई हो हमसे कोई
खता पर याद ना करके हमें सजा तो न दीजिए

Sorry Shayri in hindi

आज मैंने खुद से एक वादा किया है
माफी मांग लूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है

हमसे कोई खता हो जाए तो माफ करना
कर पाएं तो माफ़ करना
जिससे तो हम आपको कभी भूलते नहीं पर
यह दिल ही रुक जाए तो माफ़ करना

तुम खफा हो गए तो कोई खुशी ना रहेगी
तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी ना रहेगी

Sorry Shayari
क्या कहे क्या गुजरेगी दिल पर चिंता
तो रहेंगे पर जिंदगी ना रहेगी

हो सकता हमने आपको कभी रुला दिया हो
आपने तो दुनिया के कहने पर हमें भुला दिया हो
हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में
क्या हुआ अगर आपने एहसास जगा दिया हो

खता हो गई तो फिर सजा सुना दो
दिल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दो

देर हो गई तुझे याद करने में जरूर लेकिन
तुमको भुला देंगे यह ख्याल मिटा दो

Sorry Shayari in Hindi for Girlfriend

दिल से तेरी याद को .जुदा .तो .नहीं.किया.
रखा .जो तुझे .याद .कुछ बुरा .तो .नहीं. किया

मैं हद से गुजर जाऊं तो मुझे माफ करना
तेरे दिल में उतर जाऊं तो मुझे माफ करना

नाराज़ क्यों .होते हो ♥किस बार पे हो रूठे♥
अच्छा चलो .यह मन तुम सच्चे ♥हम ही जूठे
कब तक .छुपाओगे. तुम हमसे हो .प्यार करते
गुस्से का है .बहाना .दिल मै हो. हम पे .मरते

देखा है आज मुझे भी गुस्से की नज़र से,
मालूम नहीं आज वो किस-किस से लड़े है।

Hindi Sorry Shayari – Hans Ke Kaha Hota

न तेरी शान कम होती न रुतबा ही घटा होता,
जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता।

Hindi Sorry Shayari for Girlfriend

खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो,
दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गयी याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो।

Touching Sorry Shayari in Hindi for Lover

दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया,
रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया,
हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा,
हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया।

तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी,
तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी,
क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर,
जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहेगी।

रूठने-मनाने पर नयी शायरी

हम रूठे भी तो किसके भरोसे रूठें,
कौन आयेगा हमें मनाने के लिए,
हो सकता है तरस आ भी जाये तुझको ,
पर दिल कहाँ से लायें रूठ जाने के लिये।