Sher o Shayari – shero shayari – शेरो शायरी

Sher O Shayari

जब तक न लगे बेवफाई की ठोकर, हर किसी को अपने महबूब पे नाज होता है।

Jab tak naa lage bewafai ki thokar , har koi apne mehboob ka sartaaj hota hai

उसकी बेवफाई पे भी फिदा होती है
जान अपनी, अगर वफा होती
तो क्या होता खुदा जाने।

Hindi Shayari about Siyasat


Samjhne Hi Nahi Deti Siyasat Sachchai,
Kabhi Chehra Nahi Milta Kabhi Darpan Nahi Milta.
समझने ही नहीं देती सियासत सच्चाई,
कभी चेहरा नहीं मिलता कभी दर्पन नहीं मिलता।

Sher o Shayari In 2021

Hindi Shayari, Phoolo Ki Hifazat
Touching Hindi Shayri in Hindi and English Script

Jo BhiTeer Aata Woh Khaali Nahi Jata,
Mayoos Mere Dil Se Sawali Nahi Jata,
Kaante Hi Kiya Karte Hain Phoolo Ki Hifazat,
Phoolo Ko Bachane Koi Maali Nahi Aata.


जो भी तीर आता वो खाली नहीं जाता,
मायूस मेरे दिल से सवाली नहीं जाता,
काँटे ही किया करते हैं फूलों की हिफाज़त,
फूलों को बचाने कोई माली नहीं जाता।

Phoolo Ki Hifazat Shayari

आख़री हिचकी तिरे ज़ानूं पे आए
मौत भी मैं शाइराना चाहता हूं
क़तील शिफ़ाई

अभी राह में कई मोड़ हैं कोई आएगा कोई जाएगा
तुम्हें जिस ने दिल से भुला दिया उसे भूलने की दुआ करो
बशीर बद्र

abhi raah me koi mod hai koi ayega koi jayega
tumhe jis ne dil se bhula diya use bhulne ki dua karo
basir badr

अभी ज़िंदा हूं लेकिन सोचता रहता हूं ख़ल्वत में
कि अब तक किस तमन्ना के सहारे जी लिया मैं ने
साहिर लुधियानवी

kabhi jinda hu lekin sochta rehta hu khallwat me
ki ab tak kis tamanna ke sahaare ji liya maine
Sahir Ludhianvi

अब जुदाई के सफ़र को मिरे आसान करो
तुम मुझे ख़्वाब में आ कर न परेशान करो
मुनव्वर राना

ab judai ke safar ko mere asaan karo
tum mujhe khaab me aa kar naa pareshaan karo
munnavar rana

Ab Na Main Hun, Na Baaki Hai Zamane Mere,
Fir Bhi MashHoor Hain Shaharon Mein Fasane Mere,
Zindagi Hai Toh Naye Zakhm Bhi Lag Jayenge,
Ab Bhi Baaki Hain Kayi Dost Puraane Mere.


अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे​,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे​,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे​,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे।

Hindi Shayari, Behtar Hai Muflisi Meri
Beautiful Shayaris in Hindi and English Font

Kahin Behtar Hai Teri Ameeri Se Muflisi Meri,
Chand Sikkon Ki Khaatir Tune Kya Nahi Khoya Hai,
Mana Nahi Hai Makhmal Ka Bichhauna Mere Paas,
Par Tu Yeh Bataa Kitni Raatein Chain Se Soya Hai.


कहीं बेहतर है तेरी अमीरी से मुफलिसी मेरी,
चंद सिक्कों की खातिर तूने क्या नहीं खोया है,
माना नहीं है मखमल का बिछौना मेरे पास,
पर तू ये बता कितनी रातें चैन से सोया है।

Hindi Shayari, Lahu Lahu Hum The

Danga Shayari about Riots

Humara Zikr Bhi Ab Jurm Ho Gaya Hai Wahan,
Dino Ki Baat Hai Mefil Ki Aabru Hum The,
Khayal Tha Ke Yeh Pathrav Rok Dein Chal Kar,
Jo Hosh Aaya Toh Dekha Lahu Lahu Hum The.


हमारा ज़िक्र भी अब जुर्म हो गया है वहाँ,
दिनों की बात है महफ़िल की आबरू हम थे,
ख़याल था कि ये पथराव रोक दें चल कर,
जो होश आया तो देखा लहू लहू हम थे।

Jaruri Nahi Jeene Ke Liye Sahara Ho,
Jaruri Nahi Hum Jinke Hain Woh Humara Ho,
Kuchh Kashtiya Doob Bhi Jaya Karti Hai,
Jaruri Nahi Har Kashti Ka Kinara Ho.


जरुरी नहीं जीने के लिए सहारा हो,
जरुरी नहीं हम जिनके हैं वो हमारा हो,
कुछ कश्तियाँ डूब जाया करती हैं,
जरुरी नहीं हर कश्ती का किनारा हो।

Kaanton par Shayari

Hindi Shayari, Kaanton Pe Chalna Aa Gaya

Khamoshi Se Bikharna Aa Gaya Hai,
Humein Ab Khud Ujadna Aa Gaya Hai,
Kisi Ko Bewafa Kehte Nahi Hum,
Humein Bhi Ab Badlna Aa Gaya Hai,
Kisi Ki Yaad Mein Rote Nahi Hum,
Humein Chup Chap Jalna Aa Gaya Hai,
Gulaabon Ko Tum Apne Pass Hi Rakho,
Humein Kaanton Pe Chalna Aa Gaya Hai.

खामोशी से बिखरना आ गया,
अब खुद उजड़ना आ गया
किसी को बेवफा कहते नहीं ,
हमें भी अब बदलना आ गया,
किसी की याद में रोते नहीं
हमें चुपचाप जलना आ गया ,
गुलाबों को तुम अपने पास ही रखो,
हमें कांटों पे चलना आ गया

Apno Par Shayari Sad Hindi Shayari on Loved Once

Waqt Noor Ko Benoor Kar Deta Hai,
Chhote se Zakhm Ko Nasoor Kar Deta Hai,
Koi Nahi Chahta Apno Se Dur Rehna,
Par Waqt Sabko Majboor Kar Deta Hai.

वक़्त नूर को बेनूर कर देता है,
छोटे से जख्म को नासूर कर देता है,
koi nahi है अपनों से दूर रहना,
पर वक़्त सबको मजबूर कर देता है।

Mulakaat Ki Aarzoo Shayari

Na Jee Bhar Ke Dekha Na Kuchh Baat Ki,
Badi Aarzoo Thi Mulaqat Ki,
न जी भर के देखा न कुछ बात की,
बड़ी आरज़ू थी मुलाक़ात की।

Kayi Saal Se Kuchh Khabar Hii Nahi,
Kahaan Din Gujara Kahaan Raat Ki,
कई साल से कुछ ख़बर ही नहीं,
कहाँ दिन गुज़ारा कहाँ रात की।

Shero Shayari

Ujalon Ki Pariya Nahane Lagi,
Nadi Gungunayi Khyalat Ki,
उजालों की परियाँ नहाने लगीं,
नदी गुनगुनाई ख़यालात की।

चल साथ कि हसरत दिल-ए-मरहूम से निकले
आशिक़ का जनाज़ा है ज़रा धूम से निकले
मिर्ज़ा मोहम्मद अली फ़िदवी


अपनी तबाहियों का मुझे कोई ग़म नहीं…
अपनी तबाहियों का मुझे कोई ग़म नहीं
तुम ने किसी के साथ मोहब्बत निभा तो दी
साहिर लुधियानवी

Hindi Shayari, Khayaalon Mein Sadaa


Shayari about Someone Special Shayari

Ek Chehra Jo Mere Khwaab Sajaa Deta Hai,
Mujh Ko Mere Hi Khayaalon Mein Sadaa Deta Hai


एक चेहरा जो मेरे ख्वाब सजा देता है,
मुझ को मेरे ही ख्यालों में सदा देता है।

Wo Mera Kaun Hai Maloom Nahi Hai Lekin,
Jub Bhi Milta Hai To Pehlu Mein Jagaha Deta Hai,


वो मेरा कौन है मालूम नहीं है लेकिन,
जब भी मिलता है तो पहलू में जगा देता है।

Main Khil Nahi Saka Ki Mujhe Nam Nahi Mila,
Saqi Mere Mizaaj Ka Mausam Nahi Mila.
मैं खिल नहीं सका कि मुझे नम नहीं मिला,
साक़ी मिरे मिज़ाज का मौसम नहीं मिला।

Mujh Mein Basi Huyi Thi Kisi Aur Ki Mehak,
Dil Bujh Gaya Ki Raat Woh Barhum Nahi Mila.


मुझ में बसी हुई थी किसी और की महक,
दिल बुझ गया कि रात वो बरहम नहीं मिला।

Ab Toh Ghabara Ke Yeh Kehte Hain Ke Mar Jayenge,
Mar Ke Bhi Chain Na Paaya Toh Kidhar Jayenge.

Sentiment Shayari

Tum Ne Thehrayi Agar Gair Ke Ghar Jaane Ki,
Toh Iraade Yahan Kuchh Aur Thahar Jayenge.

Ham Nahin Woh Jo Karein Khoon Ka Daava Tujh Par,
Balqi Poochhega Khuda Bhi Toh Mukar Jayenge.

Aag Dozakh Ki Bhi Ho Jayegi Pani Pani,
Jab Yeh Aasi Arq-E-Sharm Se Tar Jayenge.

Hindi Shayari, Najar Mein Zakhm-e-Tabassu
Beautiful Hindi Shayari FOR the Innocence of Lover

Nazar Mein Zakham-e-Tabassum Chhupa Chhupa Ke Mila,
Khafa Toh Tha Woh Magar Mujh Se Muskura Ke Mila,


नज़र में ज़ख़्म-ए-तबस्सुम छुपा छुपा के मिला,
खफा तो था वो मगर मुझ से मुस्कुरा के मिला।

तुम मुखातिब भी हो करीब भी हो
तुमको देखें कि तुमसे बात करें
फिराक गोरखपुरी

प्यार के बारे में इतना नहीं सोचा जाता
उससे कह दो कि मेरी आंखों का सफर खत्म करे
वसीम बरेलवी

Wo Hamsafar Ke Mere Tanz Pe Hansa Tha Bohat,
Sitam Zareef Mujhe Aaina Dikha Ke Mila,
वो हमसफ़र कि मेरे तंज़ पे हंसा था बहुत,
सितम ज़रीफ़ मुझे आइना दिखा के मिल

Jameer Shayari in hindi

Abhi Jameer Mein Thodi Si Jaan Baaki Hai,
Abhi Hamara Koyi Imtehaan Baaki Hai.

Hamare Ghar Ko To Ujde Huye Jamana Hua,
Magar Suna Hai Abhi Woh Makan Baaki Hai.

Hamari Unse Jo Thi Baat Woh Khatam Huyi,
Magar Khamosh Sa Kuchh Darmiyan Baaki Hai.

Ameeri Par Shayari, Ameeri Ka Shajar
Hindi Shayari on Richness in Two Lines

Jin Ke Aangan Mein Ameeri Ka Shajar Lagta Hai,
Unka Har Aib Bhi Jamane Ko Hunar Lagta Hai.


जिन के आंगन में अमीरी का शजर लगता है,
उन का हर एब भी जमानें को हुनर लगता है।

Sari Galti Hum Apni Kismat Ki Kaise Nikal Dein
Kuchh Sath Humara Teri Ameeri Ne Bhi Toda Hai.


सारी गलती हम अपनी किस्मत की कैसे निकल दें,
कुछ साथ हमारा तेरी अमीरी ने भी तोडा है।

Dilkash Shayari in hindi

Dil Ki Dahleej Par Yaadon Ke Deeye Rakhe Hain,
Aaj Tak Hum Ne Yeh Darwaaje Khule Rakhe Hain,


दिल की दहलीज पर यादों के दिए रखें हैं,
आज तक हम ने ये दरवाजे खुले रखे हैं।

शेरो शायरी

Iss Kahani Ke Woh Kirdar Kahan Se Laaun,
Wohi Dariya Hai Wohi Kachche Ghade Rakhe Hain


इस कहानी के वो किरदार कहाँ से लाऊं,
वो ही दरिया है वो ही कच्चे घड़े रखे हैं।

Hindi Shayari, Din Khwab Banane Mein
Heart Touching Shayari in Hindi

Khaab Shayari

Din Ki Roshni Khwabon Ko Banane Mein Gujar Gayi,
Raat Ki Neend Bachche Ko Sulane Mein Gujar Gayi,
Jis Ghar Mein Mere Naam Ki Takhti Bhi Nahi Hai,
Saari Umar Uss Ghar Ko Banane Mein Gujar Gayi.

दिन की रोशनी ख्वाबों को सजाने में गुजर गई,
रात की नींद बच्चे को सुलाने मे गुजर गई,
जिस घर मे मेरे नाम की तखती भी नहीं,
सारी उमर उस घर को बनाने में गुजर गई।

Hindi Shayari, Phool Isliye Achchhe Hain


फूल, कांटे, दोस्त, दुश्मन सब अच्छे है

Phool Isliye Achhe Hain Ki Khushbu Ka Paigam Dete Hain,
Kaante Islite Achhe Hai Ki Daaman Thaam Lete Hain,
Dost Isliye Achhe Hain Ki Woh Mujh Par Jaan Dete Hain,
Aur Dushmano Ko Main Kaise Kharab Keh Doon…
Woh Hi Toh Hain Ho Mehfil Mein Mera Naam Lete Hain.


फूल इसलिये अच्छे कि खुश्बू का पैगाम देते हैं,
कांटे इसलिये अच्छे कि दामन थाम लेते हैं,
दोस्त इसलिये अच्छे कि वो मुझ पर जान देते हैं,
और दुश्मनों को मैं कैसे खराब कह दूं…
वो ही तो हैं जो महफिल में मेरा नाम लेते हैं।

Aawaargi Shayari Collection

Sare Bajaar Niklun Toh Aawargi Ki Tohmat,
Tanhaayi Mein Baithhu Toh Ilzam-E-Mohabbat.
सरे बाज़ार निकलूं तो आवारगी की तोहमत,
तन्हाई में बैठूं तो इल्जाम-ए-मोहब्बत।

Na Shakhon Ne Di Panah, Na Hawaon Ne Bakhsha,
Woh Patta Aawara Na Banta Toh Aur Kya Karta.
ना शाखों ने पनाह दी,ना हवाओ ने बक्शा,
वो पत्ता आवारा ना बनता तो क्या करता।

Gareebi Par Hindi Shayari

Ajeeb Mithaas Hai Mujh Gareeb Ke Khoon Me Bhi,
Jise Bhi Mauka Milta Hai Woh Peeta Zaroor Hai.
अजीब मिठास है मुझ गरीब के खून में भी,
जिसे भी मौका मिलता है वो पीता जरुर है।

अभी आए अभी जाते हो जल्दी क्या है दम ले लो
न छोड़ूंगा मैं जैसी चाहे तुम मुझ से क़सम ले लो
अमीर मीनाई

गरीबी पर बेहतरीन हिंदी शायरी

इक खिलौना टूट जाएगा नया मिल जाएगा
मैं नहीं तो कोई तुझ को दूसरा मिल जाएगा
अदीम हाशमी

इन्हीं पत्थरों पे चल कर अगर आ सको तो आओ
मिरे घर के रास्ते में कोई कहकशां नहीं है
मुस्तफ़ा ज़ैदी


इक़रार है कि दिल से तुम्हें चाहते हैं हम…
इक़रार है कि दिल से तुम्हें चाहते हैं हम
कुछ इस गुनाह की भी सज़ा है तुम्हारे पास
हसरत मोहानी


आपको मैंने निगाहों में बसा रखा है…
आपको मैंने निगाहों में बसा रखा है
आईना छोड़िए, आईने में क्या रखा है
हिना तैमूरी

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में जिंदगी की शाम हो जाए
बशीर बद्र

जान देना किसी पे लाजिम है
यों जिंदगी की बसर नहीं होती


दिल वो नगर नहीं कि फिर आबाद हो सके…
दिल वो नगर नहीं कि फिर आबाद हो सके
पछताओगे, सुनो ये बस्ती उजाड़ कर
मीर

सोचता रहता हूं इर्साल करुं या न करुं
एक खत कब से तेरे नाम लिखा रखा है
हिना तैमूरी

Sula Diya Maa Ne Bhukhe Bachche Ko Ye Keh Kar,
Pariyan Aayengi Sapno Mein Rotiyan Lekar.
सुला दिया माँ ने भूखे बच्चे को ये कहकर,
परियां आएंगी सपनों में रोटियां लेकर।

Kuchh Dard Kuchh Nami Kuchh Batein Judayi Ki,
Gujar Gaya Khayalon Se Teri Yaad Ka Mausam.
कुछ दर्द कुछ नमी कुछ बातें जुदाई की,
गुजर गया ख्यालों से तेरी याद का मौसम।

Kabhi Tuta Nahi Dil Se Teri Yaad Ka Rishta,
Guftgu Ho Na Ho Khayal Tera Hi Rehta Hai.
कभी टूटा नहीं दिल से तेरी याद का रिश्ता,
गुफ्तगू हो न हो ख्याल तेरा ही रहता है।

Ruswayi Shayari in Hindi

Teri Chahato Mein Ruswa Sare Bajar Ho Gaye,
Humne Hi Dil Khoya Hum Hi Gunahgar Ho Gaye.


तेरी चाहत में रुसवा यूँ सरे बाज़ार हो गये,
हमने ही दिल खोया और हम ही गुनहगार हो गये।

Jamaane Bhar Ki Ruswayian Aur Bechain Raatein,
Aye Dil Kuchh To Bata Ye Mazraa Kya Hai?


जमाने भर की रुसवाईयाँ और बेचैन रातें,
ऐ दिल कुछ तो बता ये माजरा क्या है।

Khuda Par Hindi Shayari

Wohi Rakhega Mere Ghar Ko Balaaon Se Mehfooz,
Jo Shajar Se Ghosla Girne Nahin Deta.
वही रखेगा मेरे घर को बलाओं से महफूज,
जो शजर से घोसला गिरने नहीं देता।

Hawa Khilaaf Thi Lekin Chirag Bhi Khoob Jala,
Khuda Bhi Apne Hone Ka Kya Kya Saboot Deta Hai.
हवा खिलाफ थी लेकिन चिराग भी खूब जला,
खुदा भी अपने होने का क्या क्या सबूत देता है।

Ahmad Faraz Shayari Collection
शायर अहमद फ़राज़ की बेहतरीन हिंदी शायरी

Ab Maayoos Kyun Ho Uss Ki Bewafai Pe Faraz,
Tum Khud Hi To Kehte The Ki Wo Sabse Juda Hai.
अब मायूस क्यूँ हो उस की बेवफाई पे फ़राज़,
तुम खुद ही तो कहते थे कि वो सबसे जुदा है।

In Baarishon Se Dosti Acchi Nahi Faraz,
Kaccha Tera Maqaan Hai Kuch To Khayal Kar.
इन बारिशों से दोस्ती अच्छी नहीं फराज,
कच्चा तेरा मकाँ है कुछ तो ख्याल कर।

Heart Touching Hindi Shayari on Majboori

Majboori Shayari Collection

Kya Gila Karein Teri Majboorion Ka Hum,
Tu Bhi Insaan Hai Koyi Khuda To Nahin,
Mera Waqt Jo Hota Mere Minasib,
Majbooriyon Ko Bech Kar Tera Dil Khareed Leta.


क्या गिला करें तेरी मजबूरियों का हम,
तू भी इंसान है कोई खुदा तो नहीं,
मेरा वक़्त जो होता मेरे मुनासिब,
मजबूरिओं को बेच कर तेरा दिल खरीद लेता।

आग़ाज़-ए-मोहब्बत का अंजाम बस इतना है
जब दिल में तमन्ना थी अब दिल ही तमन्ना है
जिगर मुरादाबादी


अजीब रात थी कल तुम भी आ के लौट गए…
अजीब रात थी कल तुम भी आ के लौट गए
जब आ गए थे तो पल भर ठहर गए होते
बशीर बद्र

वो लोग बड़े खुशकिश्मत थे जो इश्क को काम समझते थे
हम जीते जी मशरुफ रहे, कुछ इश्क किया कुछ काम किया
फैज अहमद फैज