Advertisements

Sai baba quotes in hindi

श्रद्धा रख सब्र से काम ले ईश्वर भला करेगा।

अगर मेरा भक्त गिरने वाला होता है तो मैं अपने हाथ बढ़ाकर उसे सहारा देता हूँ।

अगर कोई अपना पूरा समय मुझमें लगाता है और मेरी शरण में आता है तो उसे अपने शरीर या आत्मा के लिए कोई भय नहीं होना चाहिए।

sai baba thought,
sai baba thoughts in hindi,
sai baba messages in hindi
sai baba thoughts,
sai baba quotes on life in hindi,
sai baba sayings in hindi,
sai baba thoughts in hindi,
sai baba status,
sai thought in hindi,
sai baba images with quotes in hindi,
sai baba quotes on life in hindi,

अपने गुरु में पूर्ण रूप से विश्वास करें, यही साधना है।

भूखे को अन्न दो, प्यासे को जल दो, नंगे को वस्त्र दो तब भगवान प्रसन्न होंगे।

अगर तुम धनवान हो तो कृपालु बनो क्योंकि जब वृक्ष पर फल लगते हैं तो वह झुक जाता है।

जो मुझसे प्यार करते हैं मेरी कृपा उन पर बनी रहती है।

एक बार निकले बोझ वापस नहीं आतें, अतः सोच समझ के बोलें।

जहाँ मैं हूँ वहां कैसा डर।

अगर आप प्रतिस्पर्धा और विवादों से बचते हैं तब ईश्वर आपकी रक्षा करता है।

मैं बिना भगवान की सहमति के कुछ नहीं कर सकता।

साईं नाम में सब देव समाए, जो जिस रूप में साईं को ध्यावे, साईं उस रूप में दर्श दिखावे, जैसा भाव रहा जिस जन का, वैसा रूप हुआ मेरे मन का।

जिस तरह कीड़ा कपडे को कुतरता है, उसी तरह ईर्ष्या मनुष्य को।

क्रोध मुर्खता से शुरू होता है पर पश्च्याताप पर खत्म होता है।

मैं निराकार हूँ और सर्वत्र हूँ।

साई नहीं कहते मुझे चांदी या सोने के सिंघासन पर बिठाओ, वो तो कहते हैं मन में श्रद्धा सबुरी रखो फिर अपने साईं को बुलाओ।

मनुष्य की महत्ता उसके कपड़ों से नहीं बल्कि उसके आचरण से होती है।

sai quotes in hindi,
thoughts of sai baba in hindi,
thoughts of sai baba,
sai baba ke anmol vachan in hindi,
quotes on sai baba in hindi,
shirdi sai baba quotes in hindi,
sai baba quotes hindi,
sai baba hindi quotes,
sai baba message in hindi,
sai baba msg,
sai baba thought,

अँधा वो नहीं जिसकी आँखें नहीं है, अँधा वह है जो अपने दोषों को छिपाता है।

मैं अपने भक्तों का अनिष्ट नहीं होने दूंगा।

तुम जो भी करते हो, तुम चाहे जहाँ भी हो, हमेशा इस बात को याद रखो-मुझे हमेशा इस बात का ज्ञान रहता है कि तुम क्या कर रहे हो।

अगर कोई सिर्फ और सिर्फ मुझको देखता है और मेरी लीलाओं को सुनता है और खुद को सिर्फ मुझमें समर्पित करता है तो वह भगवान तक पहुंच जाएगा।

मैं अपने भक्त का दास हूँ।

मैं भक्ति से प्रेम करता हूँ।

मैं बिना आकर का हूँ और सभी जगह हूँ।

जो ऐसा सोचते हैं कि बाबा सिर्फ शिरडी में हैं वो मुझे जानने में पूरी तरह विफल हैं।

आप जो भी देखते हैं मैं उस सब में संग्रहित हूँ।

जो ऐसा सोचते हैं कि बाबा सिर्फ शिरडी में हैं वो मुझे जानने में पूरी तरह विफल हैं।

आप जो भी देखते हैं मैं उस सब में संग्रहित हूँ।

मैं सभी को समान रूप में देखता हूँ।

मैं न चलता या हिलता हूँ।

जो मुझसे प्यार करते हैं मेरी कृपा उन पर बनी रहती हैं।

जो मुझसे प्यार करते हैं मेरी कृपा उन पर बनी रहती हैं।

तुम जो भी कर रहे हो जहाँ भी हो हमेशा ध्यान रखना कि तुम क्या कर रहे हो यह मुझे सदैव ज्ञात रहा है।

मैं दिन और रात अपने लोगों के बारे में विचार करता हूँ और बारंबार उन्हीं का नाम पुकारता हूँ।

मैं हर एक वस्तु में हूँ और उस वस्तु से परे भी। मैं सभी रिक्त स्थान को भरता हूँ।

सबका मालिक एक है।

sai baba thought in hindi,
sai baba hindi quotes,
sai baba thoughts,
sai baba slogan in hindi,
thoughts of sai baba in hindi,
sai baba wallpaper with quotes in hindi,
sai quotes in hindi,
sai baba wordings,
sai baba quotes hindi,
sai baba quotes in hindi with images,
sai baba thought in hindi,

मेरे रहते डर कैसा?

मेरा काम तो आशीर्वाद देना है।

हमारा कर्तव्य क्या है? ठीक से व्यवहार करना। ये काफी है।

जो मुझे प्रेम करते हैं मेरी दृष्टि हमेशा उनपर बनी रहती है।

जीवन एक गीत है इसे गाएं। जीवन एक खेल है इसे खेलें। जीवन एक चुनौती है, इसे पूरा करें। जीवन एक सपना है इसे साकार करें। जीवन एक बलिदान है-चेष्टा करें। जीवन प्रेम है आनंद लें।

मैं निर्गुण और निरपेक्ष हूँ, मेरा कोई नाम नहीं और कोई आवास नहीं है।

सभी परिणाम इंसान की सोच का नतीजा है इसलिए हमारी सोच मायने रखती है।

जो आप अपने चारों तरफ देखते हैं, या आप जो देख रहे हैं उससे भ्रमित न हो। आप एक ऐसी दुनिया में रहते हैं जो भ्रम के खेल का मैदान है, झूठे मार्गों, झूठे मूल्यों और झूठे आदमियों से भरा हुआ है। लेकिन आप उस दुनिया का हिस्सा नहीं हैं।

sai thought in hindi,
sai anmol vachan,
sai baba thoughts in english,
sai ram quotes in hindi,
sai ram quotes in hindi,
sai baba quotes in hindi,
quotes on sai baba in hindi,
sai baba sayings in hindi,
sai baba slogan in hindi,
sai baba slogan,

एक-दूसरे से प्यार करें और दूसरों को ऊँचे स्तर तक पहुँचाने में मदद करें। प्यार संक्रामक और सबसे बड़ी चिकित्सा उर्जा है।

मनुष्य खो गया है और जंगल में भटक रहा है जहाँ वास्तविक मूल्यों का कोई अर्थ नहीं है। वास्तविक मूल्यों का अर्थ मनुष्य को सिर्फ तब ही हो सकता है जब वह आध्यात्मिक पथ पर कदम रखता है, एक ऐसा पथ जहाँ नकारात्मक भावनाओं का कोई उपयोग नहीं होता है।

दुनिया में नया क्या है? कुछ भी तो नहीं। दुनिया में क्या पुराना है? कुछ भी तो नहीं। सब कुछ हमेशा से रहा है और हमेशा रहेगा।

अगर आप मेरी सहायता और मार्गदर्शन चाहते हैं, तो मैं तुरंत आपको यह दूंगा।

एक घर को ठोस नींव पर बनाया जाना चाहिए अगर इसे लंबे समय तक टिका रहना है। वही सिद्धांत मनुष्य पर लागू होता है, अन्यथा वह भी नरम जमीन में डूब जाएगा और भ्रम की दुनिया द्वारा निगला जाएगा।

मनुष्य अनुभव के माध्यम से सीखता है और आध्यात्मिक पथ विभिन्न प्रकार के अनुभवों से भरा है। वह कई कठिनाईयों और बाधाओं का सामना करता है और अंत में सच्चा ज्ञान प्राप्त करता है।

sathya sai baba quotes in hindi,
status on sai baba,
sai hindi,
shirdi sai baba quotes in hindi,
sai baba message in hindi,
om sai ram in hindi font,
sai status in hindi,
sai anmol vachan,
om sai ram status in hindi,
sai ram status,
sai baba quotes in marathi,

प्रेम का प्रवाह होने दें ताकि वह दुनिया को शुद्ध करे। तभी मनुष्य शांति के साथ रह सकता है, न कि अतीत के जीवन के माध्यम से पैदा हुई अशांति के साथ जो सभी भौतिक हितों और सांसारिक महत्वकांक्षाओं के कारण पैदा हुई थी।

विश्वास और धैर्य रखें। मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूँगा चाहे आप जहाँ कहीं भी हो।

जैसा इंसान का चरित्र होता है, वैसे ही उसके दोस्त होते हैं।

प्यार लोगों को करीब लाता है और नफरत दूर ले जाती है।

जिसका चरित्र अच्छा है, उसके अच्छे मित्र होंगे और जिसका चरित्र बुरा है, उसके इर्द-गिर्द अपने आपको मित्र कहने वाले उसके शत्रु ही घूमते रहते हैं।

स्वार्थी मत बनो। मेहनत करके अपनी रोजी-रोटी कमाओ। पैसे के पीछे मत भागो।

सच्चे और अच्छे मित्र इंसान का सदा अच्छी सलाह देते हैं। उसे बुरे रास्ते पर चलने से रोकते हैं लेकिन मित्र का चोला पहना हुआ शत्रु उसे बहकाता है, बहलाता है, भटकाता है, गलत रास्ते पर जाने की सलाह देकर काम करने के लिए उकसाता है और एक दिन इंसान अपने मित्र रूपी जाल में फंस जाता है।

ईश्वर को पाने की कोशिश करते रहो, भला होगा।

जो दूसरों को धोखा देता है वही नहीं जानता की उसे धोखा देने के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। यही तो मालिक का न्याय है।

om sai ram status,
sai status in hindi,
sathya sai baba quotes in hindi,
om sai ram quotes,
sai baba hindi,
sai vachan in hindi,
sai baba thoughts in english,
sai baba in hindi,
sai baba messages in hindi,
om sai ram status in hindi,
sai baba status in hindi,

जहाँ विश्वास होता है, वहीं विश्वासघात भी।

जो बोयेगा वही तो कटेगा इसलिए अच्छे कर्म करो, परमात्मा पर ध्यान दो, मोह माया के जाल में मत फंसो और संमार्ग पर चलते रहो, कल्याण होगा तुम्हारा।

मिलना, बिछड़ना ये तो जिंदगी का अटूट हिस्सा है। हाँ सब जानते हैं फिर भी इंसान जब किसी को अपने दिल में जगह देता है तो बिछड़ते समय इंसान का दिल रोता है।

विश्वासघात वही करता है जिस पर इंसान विश्वास करता है और इंसान अपने विश्वास पर घात देखता है तो उसका अपना विश्वास भी डगमगा जाता है। क्यों डगमगा जाता है? क्योंकि विश्वास का अर्थ ही निश्चिंतता, निर्भयता और निर्भरता है।

sai baba status hindi,
sai baba quotes on love,
sai baba sms in hindi,
sai baba blessings quotes,
sai baba quotes,
quotes on sai baba,
sai baba quotes in english,
sai baba status hindi,
sai baba sms hindi,
sai baba slogan,
sai baba quotes in marathi,

गुरु के वचन चाहे कितने ही कठोर क्यों न हो? इससे इंसान का उद्धार होता है।

जागता है, सिर्फ दीया। यह दीया नहीं योगी है, परम योगी। अपने अंत तक दूसरों के लिए जलता है और दूसरों की जिंदगी को रोशन करता है। अँधेरे में रास्ता दिखता है और जो रात के अँधेरे में काम करता है, उसको आगाह करता है कि ये मैं देख रहा हूँ।

यह कोई किसी का नहीं है। पैसा पास होता है तो दया छोड़कर भाग जाती है। कोई नाता, कोई रिश्ता पैसे से बड़ा नहीं है। पैसा भगवान से भी बड़ा है यही तो कलयुग की माया है, महिमा है।

मालिक की कृपा प्रसाद का साक्षात्कार करना है तो अपने दिल में भक्ति और विश्वास के लिए दीपक बनाकर उसमें प्रेम और श्रद्धा की ज्योति जलानी चाहिए।

असल में पैसा इंसान का दुश्मन है लेकिन इंसान अपने दुश्मन को अपने शत्रु से बड़ा दोस्त समझता है।

पैसा साधन है सुख हासिल करने का, लेकिन पैसा कभी सुख नहीं है।

असली सुख दूसरों को सुख देने में ही मिलता है और सच्चा सुख प्रभु की भक्ति में है इसलिए मालिक को दिन रात याद करो और जन्म मरण के चक्र से मुक्त हो जाओ।

लेकिन इंसान की यही धारणा है कि पैसा ही सबकुछ है… गलत है।

याद रखो! दूसरों को कभी दुःख मत दो उन्हें खुशी दो… उनकी खुशियाँ छीनो मत। किसी की निंदा न करो, किसी से नफरत नहीं क्योंकि प्यार लोगों को करीब लाता है और नफरत दूर ले जाती है।

जब तक इंसान पैसों की मोह माया की भूल भुलैया में फंसा रहेगा, उसे पीड़ा से मुक्ति नहीं मिलेगी।

दुनिया चाहे सरे दरवाजे बंद क्यों न कर दे, इंसान का मालिक पर अटूट विश्वास रहना चाहिए। उसका विश्वास उसे सब्र करने की ताकत देता है, ऐसे समय में उसकी भक्ति ही उसकी शक्ति बन जाती है। उसकी आस्था और श्रद्धा उसे हर हाल और हालात में विश्वास दिलाती रहती है कि मालिक उसके लिए कोई-न-कोई दरवाजा खोलेगा।

पैसा सब कुछ नहीं है, पैसा ही सब कुछ होता तो हर पैसे वाला सुखी होता, दुरुस्त होता, आनंदमय में होता।

इंसान क्यों यह भूल जाता है कि भक्ति जगत नारायण की करनी चाहिए, नगद नारायण की नहीं।

लेकिन इस संसार में कोई भी सुखी नहीं है, तो फिर इंसान पैसों के पीछे इतना क्यों भागता है?

क्यों इंसान पैसो के लिए अपना मुंह मोड़ लेता है? जो दूसरों की आँखों में आंसू देख कर भी उसका दिल नहीं पसीजता।

घर में मिलजुलकर और प्यार से रहना धरती पर स्वर्ग के समान होता है।

 चिंता करने से बल और ज्ञान का नाश होता है।

नम्रता से मनुष्य वह हासिल कर सकता है जो वह गुस्से में रहकर नहीं कर सकता।

क्रोध मनुष्य को मुर्ख बनाता है और बाद में पछतावे पर खत्म होता है।

जो दूसरों से प्रेम करते हैं वह सचमुच में महान होते हैं।

आने वाला जीवन तब ही सुखी और शानदार हो सकता है जब तुम पूरी तरह परमात्मा में लीन होना सीख लोगे।

इंसान के रूप में भगवान हमारे पास ही होते हैं इसलिए उनकी सेवा करनी चाहिए।

प्रेम मनुष्य को अपनी तरफ खींचता है।

Prem manushya ko apni taraf khinchta hai.

माता-पिता की सेवा ही परमात्मा की सेवा होती है।

करता हूँ फरियाद साईं, बस इतनी रहमत कर देना, जो भी पुकारे तुझको बाबा, खुशियों से उसकी झोली भर देना।

शिरडी वाले साईं बाबा, तेरे दर पर आना चाहता है सवाली, लब पे दुवाएं भी है, आँखों में आंसू भी है, बुला लो बाबा इस सवाली को शिरडी।

मेरे साईं का दरबार सबसे न्यारा है, उसमें बाबा का दर्शन कितना प्यारा है, सब कहते हैं के बाबा सिर्फ हमारा है, पर बाबा कहते हैं के मैंने अपना, सबकुछ तुम सब पर वारा है।

आँखें सूनी मन रोता है, बाबा हमारा क्यूँ सोता है, खोल के आखें देख ले बाबा, तेरे बिना यहाँ क्या होता है, लौट के आजा साईं हमारे, अपनी आँखें खोलो, साईं बाबा बोलो साईं बाबा बोलो।

दीवाने तेरे लाखों बाबा पर मैं भी हूँ तेरी दुनिया में, कांटे मिले मुझे भले ही लाखों, पर मैं भी हूँ एक तिनका तेरी कुटिया में।

sai baba status,
sai baba vachan,
sai baba images with quotes in hindi,
sai ram quotes,
quotes of sai baba,
sai baba wordings,
sai baba motivational quotes,
sai baba prayer in hindi,
sai vachan,
about sai baba in hindi,
sai baba photo with quotes,

छू जाते हो मुझे कितनी ही बार, ख्वाब बनकर मेरे साईं राम, ये दुनिया न जाने फिर क्यों कहती है, के तुम मेरे करीब नहीं मेरे साईं राम।

बाबा जी मेरा भी खाता खोल दो शिरडी दरबार में, बाबा जी आता जाता रहूँ मैं शिरडी की पवित्र भूमि पर, बाबा जी जो भी सेवा हो मेरी लगा देना, बस अपने चरणों का दास बनाकर शिरडी में रख लेना, जय हो बाबा जी की।

जिन आँखों में साईं बस जाएंगे, उन आँखों में अश्क कहाँ से आएंगे? साईं नहीं होने देते अपने बच्चों को उदास, आ जाते हैं झट से अपने बच्चों के वो पास।

जिसे कोई नहीं जानता उसे रब जानता है, राज को राज न रहने दो वो सब जानता है, अगर मांगना है तो उस साईं से मांगो, जो जुबान पे आने से पहले दिल की दुआ जानता है।

न मुस्कुराने को जी चाहता है, न आंसू बहाने को जी चाहता है, लिखूं तो क्या लिखूं साईं तेरी याद में, बस तेरे पास आने को जी चाहता है।

साईं जी से मिलने का सत्संग ही बहाना है, शिरडी वाले को बुलाने का, सत्संग ही बहाना है, दुनियां वाले क्या जाने, मेरा रिश्ता पुराना है।

जो कल था उसे भूलकर तो देखो, जो आज है उसे जी कर तो देखो, आने वाला पल खुद ही सवर जाएगा, एक बार ॐ साईं राम बोलकर तो देखो।

साईं साईं बोल तू कभी न डोल, तो फिर प्रेम से बोलो ॐ साईं राम।

किसी ने पूछा कि उम्र और जिंदगी में क्या फर्क है? बहुत सुंदर जवाब। जो बाबा जी के बिना बीती, वो उम्र और जो बाबा जी के साथ बीती वो जिंदगी।

जिस पे हाथ रख दे मेरा साईं फकीरा, वो पत्थर भी बन जाए पल में नायब हीरा।

मै तो निराकार भी हु और हर जगह भी हु

जब मेरा भक्त गिरने वाला होने की स्थिति में होता है तो मै सबसे पहले हाथ बढ़ाकर सहारा देने वाला हु

मेरा कार्य लोगो को आशीष और आशीर्वाद देना है

हमारा यही कर्तव्य है लोगो के प्रति अच्छा बर्ताव करना जो की पर्याप्त है

एकबार जो शब्द बोल दिए जाते है वे कभी वापस नही हो सकते इसलिए हमेसा सोच समझकर ही बोले

जो मेरी शरण में चला आता है फिर उनके लिए भय का कोई स्थान नही होता है

जिस तरह कपड़े को नष्ट कर देते है ठीक उसी तरह इर्ष्या मनुष्य को समाप्त कर देते है

हमेसा देना सीखना चाहिए सेवा करना सबसे बड़ा धर्म है

तुम जो भी करते हो या जहा भी कही रहते हो इस बात का ध्यान रखना चाहिए, मुझे इस बात का हमेसा ध्यान रहता है की तुम क्या कर रहे हो

यदि आप मेरी सहायता चाहते है मै इसे तुरंत देना चाहुगा इसके लिए आपको मेरे शरण में आना होगा

जिस प्रकार ठोस नीव से ही मजूबत इमारत खड़े होते है ठीक उसी प्रकार मनुष्य का आचरण मजबूत होनी चाहिए तभी वह टीका रह सकता है

मै अपने भक्तो से कभी नाराज नही होता क्या आपने कभी देखा माँ अपने बच्चो से नाराज होती है क्या समुद्र कभी वापस पानी नदियों को भेजता है

जो मेरी शरण में होता है उनका मै सदा ऋणी रहता हु उनके जीवन की सारी जिम्मेदारी मेरी है

पूरी तरह ईश्वर की भक्ति में लीन हो जाईये एकदिन ईश्वर आपको अवश्य दर्शन देंगे

अगर आप अपने घर में मिलजुलकर प्यार से रहते है तो आपका घर स्वर्ग के समान होता है

क्रोध से मनुष्य की बुद्धि खत्म हो जाती है और फिर यह पछतावे के साथ खत्म होता है

मनुष्य की पहचान उसके कपड़ो से नही बल्कि उसके आचरण से होती है

जिसका जैसा भाव होता है उसका वैसा मन भी होता है

हमेसा दुसरो की सहायता करो और कभी भी किसी को दुःख मत देना

Leave a Reply