ऊंट का बच्चा

एक ऊंट का बच्चा अपनी माँ से बात कर रहा था। उसने उत्सुकता से पूछा ” मम्मी, हम कूबड़ क्यों हैं ?” ऊंटनी ने कहा “उसमें पानी जमा हो जाता है ताकि मरुस्थल में हमारा शरीर वहां से इश्तेमाल कर सके। ” फिर उस बच्चे ने पूछा “हमारे तलवे गोल क्यों है ?” ऊंटनी ने समझाया की गोल तलवे उन्हें मरुस्थल में आराम से चलने में मदद करते है। फिर उसने एक और सवाल पूछ दिया और बोला “मम्मी , हमारे आँखों की पलके इतनी बड़ी बड़ी क्यों है ?” ऊंटनी ने फिर अपने बेटे को समझाया “लम्बी पलकों से हमारी मरुस्थल में आँखे धुल मिटटी से बची रहेंगी। “

unt ka baccha
Camel

उस बच्चे ने बड़े मासूमियत से एक आखिरी सवाल पूछ दिया “अगर हमारे शरीर की साड़ी चीज़ें मरुस्थल के हिसाब से बानी है तो हम चिड़ियाघर में क्या कर रहे है। “

कहानी से सीख :आपका ज्ञान,जानकारी और प्रतिभा किसी काम के नहीं अगर आप सही जगह उसका उपयोग नहीं कर रहे है

%d bloggers like this: