उल्लू

एक उल्लू एक ओक के पेड़ पर रहता था। वह हर दिन अपने आस पास होने वाली घटनाओ को देखता था और उनके ऊपर सोचता था। एक दिन उसने देखा की एक लड़का एक बूढ़े को टोकरी ले जाने में मदद कर रहा है ,दूसरी तरफ एक लड़की अपनी बहन पर चिल्ला रही थी। वह जितना चीज़ो को देखता उतना ही समझने की कोशिश करता।

जितना कम वो बोलता ,उतना ही ज्यादा सुनता। उसने एक महिला को कहते सुना की एक घोडा बाड में कूद गया ,एक दूसरा आदमी बोल रहा था की वह कभी झूट नहीं बोला।

कहानी की सिख :आप कम बोले ,लोगो से ज्यादा सुने। इससे आप ज्ञानी बनेंगे।

%d bloggers like this: