दो मुर्गे

दो मुर्गे आपस में बात करते करते अपनी अपनी मजबूती का दवा करने लगे। उसमे से एक ने बोला “चलो मैदान में कूदो वहां पता चल जायेगा की कौन कितना मजबूत है।” इस बात को सुनते ही दूसरा मुर्गा गुस्से में जमींन पर कूद पड़ा और पहले मुर्गे को ललकार के निचे बुलाने लगा।

दोनों मुर्गे मैदान में आमने सामने थे। और दूसरे मुर्गे ने पहले मुर्गे को धराशायी कर दिया और ख़ुशी के मारे उर उर के घायल मुर्गे पे ताना मारने लगा। इसी बिच ऊपर से एक बाज मुर्गे को उड़ता देख तुरंत निचे आया और झपट कर उसको अपने चोंच से पकड़ कर आसामान में लेता गया।

कहानी से सीख :अभिमान ले डूबता है

%d bloggers like this: