Advertisements

2020 me Kisan Vikas Patra Yojana kya hai

किसान विकास पत्र योजना 2020

Kisan Vikas Patra Yojana | किसान विकास पत्र योजना ब्याज दर | Kisan Vikas Patra Yojana Online Apply | किसान विकास पत्र योजना कैलकुलेटर, टैक्स बेनिफिट्स

सरकार देश के नागरिकों के प्रति बचत की आदत को बढ़ावा देने के लिए तरह-तरह की योजनाएं आरंभ करती रहती है। ऐसी एक योजना किसान विकास पत्र योजना है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए लम्बे समय के लिए निवेश करना होगा। यह योजना उन लोगों के लिए आरंभ की गई है जो जोखिम नहीं लेना चाहते।

इस लेख के माध्यम से Kisan Vikas Patra से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान होगी । किसान विकास पत्र योजना क्या है?, इसका उद्देश्य, विशेषताएं, लाभ, आवेदन प्रक्रिया आदि जैसे सवालो का जबाब इस पोस्ट से मिलेगा । तो दोस्तों यदि आप इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

इस योजना एक प्रकार की बचत योजना है। जो निवेश की अवधि के बाद निवेश की रकम को दोगुना करके देती है।

इस योजना के अंतर्गत आप बैंक में या फिर डाकघर में आवेदन कर सकते हैं। इस योजना में निवेशक को 10 साल और 4 महीने (124 महीने) लिए निवेश करना होगा और 124 महीने के बाद आपको पैसे दुगने मिलेंगे। जरूरी नहीं है कि इस योजना के अंदर किसान ही आवेदन करें।

इस योजना के अंतर्गत भारत का कोई भी नागरिक आवेदन कर सकता है। Kisan Vikas Patra Yojana 2020 के लिए केवीपी प्रमाण पत्र खरीदना होगा। जिसका न्यूनतम निवेश ₹1000 है। कोई ऊपरी सीमा नहीं है। यदि आप 50,000 से ज्यादा का निवेश करते हैं तो आपको अपना पैन कार्ड की डिटेल देनी होगी।

किसान विकास पत्र योजना

kisan vikas patra withdrawal rules in hindi

किसान विकास पत्र योजना बीयाज, रिटर्न तथा निकासी

Kisan Vikas Patra Yojana 2020 के अंतर्गत मौजूदा ब्याज दर 6.9% है। 124 महीने के बाद आपको यह 6.9% की दर से निवेश की राशि दुगनी करके प्रदान की जाएगी। निवेशक किसान विकास पत्र योजना से समय से पहले निकासी कर सकता है।

यदि निवेशक ने प्रमाण पत्र खरीदने के 1 वर्ष के भीतर वापस लिया है तो ब्याज नहीं प्रदान किया जाएगा। इसी का जुर्माना भी देना होगा। लेकिन यदि प्रमाण पत्र खरीदने के 1 साल के बाद निकासी की है तो जुर्माना नहीं देना होगा लेकिन ब्याज की दर कम होगी।

यदि निवेशक ने ढाई साल के बाद निकासी की है तो उसे 6.9% की ब्याज दर पर ब्याज प्रदान किया जाएगा और कोई जुर्माना नहीं भरना होगा।

Key Highlights Of Kisan Vikas Patra Yojana 2020


योजना का नाम किसान विकास पत्र योजना
किस ने लांच की भारत सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य देशवासियों के प्रति बचत की भावना को प्रोत्साहित करना।
निवेश की अवधि 124 महीने
न्यूनतम निवेश ₹1000
अधिकतम निवेश कोई सीमा नहीं
ब्याज दर 6.9%

किसान विकास पत्र योजना न्यूनतम तथा अधिकतम निवेश सीमा

Kisan Vikas Patra Yojana 2020 के अंतर्गत निवेश करने की न्यूनतम सीमा ₹1000 है लेकिन कोई भी अधिकतम सीमा नहीं निर्धारित की गई है। इस योजना के अंतर्गत यदि निवेशक ₹50000 से ज्यादा का निवेश करता है तो उसे अपने पैन कार्ड डिटेल जमा करनी होगी। इस योजना के अंतर्गत निवेश बाजार के जोखिमों से संबंधित नहीं है।

किसान विकास पत्र योजना का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य देश के नागरिकों के अंतर्गत बचत की भावना को प्रोत्साहित करना है। इस योजना के माध्यम से निवेश की रकम दोगुनी की जाएगी। इससे ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना के अंतर्गत निवेश करने के लिए प्रेरित होंगे और बचत करेंगे। Kisan Vikas Patra Yojana 2020 के अंतर्गत 124 महीनों के लिए आवेदन करना होगा और निवेश पर 6.9% व्याज प्रदान किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से लोगों की आर्थिक स्थिति भी बेहतर होगी।

किसान विकास पत्र योजना 2020 के लाभ बेनिफिट्स ऑफ किसान विकास पत्र

Kisan Vikas Patra Yojana 2020

  • किसान विकास पत्र योजना एक प्रकार की बचत योजना है। जिसके अंतर्गत निवेश करके निवेशक अपने निवेश को दोगुना कर सकता है।
  • निवेश को दोगुना करने के लिए निवेशक को कम से कम 124 महीने के लिए निवेश करना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम निवेश की राशि ₹1000 है।
  • यदि निवेशक 50000 रुपए या फिर उससे ज्यादा का निवेश करना चाहता है तो उसे अपने पैन कार्ड डिटेल जमा करनी होगी।इस योजना के अंतर्गत आवेदन पोस्ट ऑफिस या बैंक अकाउंट से किया जा सकता है।
  • Kisan Vikas Patra Yojana 2020 को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस या फिर एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किया जा सकता है।
  • केवीपी फॉर्म चेक या कैश में भरा जा सकता है।
  • किसान विकास पत्र फॉर्म सबमिट करने पर एक किसान विकास सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा जिसमें मेच्योरिटी डेट, लाभार्थी का नाम तथा मैच्योरिटी अमाउंट होगा।

KVP सरकार द्वारा जारी एक निश्चित रिटर्न स्कीम है जो गारंटीड रिटर्न प्रदान करती है। योजना की कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • वर्तमान में प्रमाण पत्र 1,000 रु., 5,000 रु. 10,000 रू. और  50,000 रू. में उपलब्ध हैं   
  • वर्तमान में, KVP निवेश पर कोई अधिकतम सीमा नहीं है
  • प्रमाण पत्र सभी भारतीय डाकघरों में उपलब्ध हैं और KYP आवेदन फॉर्म ऑनलाइन भारत डाकघरों और साथ ही साथ कुछ चुनिंदा बैंकों में भी में उपलब्ध हैं
  • नियम और शर्तों के अधीन ढाई वर्ष के बाद समय से पहले पैसे निकालने की अनुमति   
  • वित्त मंत्रालय द्वारा किए गए दर परिवर्तनों के आधार पर मैच्योरिटी अवधि बदल सकती है। हालांकि, जारी किए गए प्रमाण पत्र पर मैच्योरिटी मूल्य सर्टिफिकेट पर पहले से ही प्रिंट की गई होती है
  • किसान विकास पत्र को एक डाकघर से दूसरे और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से ट्रांसफर किया जा सकता है

किसान विकास पत्र ब्याज दर

इस योजना के अंतर्गत 6.9 प्रतिशत की ब्याज दर है।
इस योजना के अंतर्गत निवेशक कभी भी निकासी कर सकता है लेकिन यदि निकासी 1 वर्ष के भीतर की है तो कोई ब्याज नहीं प्रदान किया जाएगा तथा जुर्माना भी भरना होगा।
किसान विकास पत्र योजना को गारंटी के तौर पर लोन प्राप्त करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र (KVP) पर लागू ब्याज दर वित्त मंत्रालय द्वारा की गई घोषणाओं के आधार पर समय–समय पर बदल सकती है।KVP पर लागू वर्तमान ब्याज दर 7.6% प्रति वर्ष है जो 113 महीनों में आपके निवेश को दोगुना कर देगा। 

पिछले कुछ वर्षों में किसान विकास पत्र योजना द्वारा दी जाने वाली ब्याज दरें निम्नलिखित हैं:

समय सीमाकिसान विकास पत्र की ब्याज दर
वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही 2019-207.6% (113 महीनों में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही 2019-207.7% (112 महीने में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की चौथी तिमाही 2018-197.7% (112 महीने में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की तीसरी तिमाही 2018-197.7% (112 महीने में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की दूसरी तिमाही 2018-197.3% (118 महीनों में मैच्योरिटी)
वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही 2018-197.3% (118 महीनों में मैच्योरिटी)

किसान विकास पत्र कैल्कुलेटर

नीचे दी गई टेबल में किसान विकास पत्र के तहत मैच्योरिटी राशि और ब्याज दरों की कैल्कुलेशन का एक उदाहरण है।

नोट:  न्यूनतम निवेश 1000रु .है

अवधि 15 जनवरी 2000 से 28 फ़रवरी 2001मार्च 2001 से 28 फरवरी 2002मार्च 2002 से 28 फ़रवरी 2003मार्च 2003 के बाद
वर्ष जमा की गई राशि 
1NANANANA
2NANANANA
2 वर्ष 6 महीने₹ 1246₹ 1209₹ 1195₹ 1170.51
3 वर्ष ₹ 1302₹ 1274₹ 1256₹ 1207.95
3 वर्ष 6 महीने₹ 1407₹ 1327₹ 1305₹ 1267.19
चार वर्ष₹ 1478₹ 1409₹ 1382₹ 1310.8
4 वर्ष 6 महीने₹ 1585₹ 1470₹ 1439₹ 1355.9
5 वर्ष ₹ 1668₹ 1572₹ 1534₹ 1435.63
5 वर्ष 6 महीने₹ 1779₹ 1644₹ 1602₹ 1488.49
6 वर्ष₹ 1874₹ 1770₹ 1672₹ 1543.3
6 वर्ष 6 महीने₹ 2000₹ 1857₹ 1800₹ 1649.13
7 वर्षNANA₹ 18831713.82
7 वर्ष 3 महीनेNA₹ 2000NANA
7 वर्ष 6 महीनेNANANA1781.06
7 वर्ष 8 महीनेNANA₹ 2000NA
8 वर्ष और 8 वर्ष 7 महीनेNANANA₹ 1850.93
8 वर्ष 7 महीनेNANANA₹ 2000
8 वर्ष से अधिक 7 महीनेNANANANA

किसान विकास पत्र मैच्योरिटी अवधि

योजना में नवीनतम संशोधनों के अनुसार, मैच्योरिटी अवधि 9 वर्ष और 3 महीने (113 महीने) है।

योजना की अवधि पूरी होने के बाद निवेशित राशि दोगुनी हो जाती है। उदाहरण के लिए: यदि किसी व्यक्ति ने 10,000 रु. का निवेश किया है, तो उसे परिपक्वता पर 20,000 रु. मिलेंगे।

किसान विकास पत्र योजना की पात्रता

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आवेदक को भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
आवेदक की आयु 18 वर्ष से ज्यादा होनी चाहिए।
यदि आवेदक माइनर है तो उसके माता-पिता इस योजना में निवेश कर सकते हैं।
हिंदू एकीकृत परिवार या फिर अनिवासी भारतीय इस योजना के अंतर्गत आवेदन नहीं कर सकते।

किसान विकास पत्र दस्तावेजों की आवश्यकता

आधार कार्ड
निवास प्रमाण पत्र
केवीपी एप्लीकेशन फॉर्म
आयु प्रमाण पत्र
पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
मोबाइल नंबर

किसान विकास पत्र योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको उस बैंक की या फिर पोस्ट ऑफिस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जहां से आपको इस योजना को खरीदना है।होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको इन्वेस्टमेंट प्लान के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको किसान विकास पत्र योजना के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप Kisan Vikas Patra Yojana 2020 के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे।

किसान विकास पत्र योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

  • आपको अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में जाना होगा।
  • वहां से किसान विकास पत्र योजना का आवेदन फॉर्म लेना होगा।
  • इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • यह आवेदन फॉर्म उसी बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप किसान विकास पत्र योजना के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे।

किसान विकास पत्र डाउनलोड करें

किसान विकास पत्र प्रमाणपत्र के लिए आवेदन करने के लिए, आपको आवेदन पत्र ऑनलाइन डाउनलोड करना होगा या सीधे डाकघर से प्राप्त करना होगा। इस फॉर्म को पोस्ट ऑफिस में भरना और जमा करना होगा। यहां किसान विकास पत्र फॉर्म डाउनलोड करने के लिए एक लिंक दिया गया है:

लिंक: किसान विकास पत्र फॉर्म NC-69A1 डाउनलोड करें

ध्यान दिए जाने वाले बिंदु:

  • फॉर्म को डाकघर के संबंधित पोस्टमास्टर जनरल को संबोधित किया जाना चाहिए जहां इसे जमा किया जा रहा है
  • फॉर्म में खरीद की मात्रा स्पष्ट रूप से लिखी गई होनी चाहिए। कटिंग और पुनर्लेखन से बचें
  • KVP फॉर्म की राशि का भुगतान चेक या नकद के माध्यम से किया जा सकता है
  • यदि आप चेक के माध्यम से भुगतान कर रहे हैं, तो कृपया फॉर्म पर चेक नंबर की जानकारी लिखें 
  • फॉर्म में स्पष्ट करें KVP एकल या संयुक्त ‘ए‘ या संयुक्त ‘बी‘ सदस्यता, किस आधार पर खरीदा जा रहा है। यदि इसे संयुक्त रूप से खरीदा जाता है, तो दोनों लाभार्थियों के नाम लिखे करें
  • यदि लाभार्थी नाबालिग है, तो उसकी जन्म तिथि (DOB), माता–पिता का नाम, अभिभावक का नाम 
  • फॉर्म पर पूरा नाम, जन्मतिथि और नामांकित व्यक्ति का पता (यदि कोई हो) लिखा जाना चाहिए
  • फॉर्म जमा करने पर, लाभार्थी के नाम, मैच्योरिटी तिथि और मैच्योरिटी राशि के साथ किसान विकास प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा

Kisan Vikas Patra Yojana 2020 को ट्रांसफर करने की प्रक्रिया डाकघर किसान विकास पत्र

  • सर्वप्रथम आपको उस बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में जाना होगा जहां से आप ने किसान विकास पत्र योजना ली है।
  • अब आपको वह से ट्रांसफर फॉर्म बी लेना होगा।
  • आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को इस फॉर्म से अटैच करना होगा। जो कि पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र, ओरिजिनल केवीपी सर्टिफिकेट, तथा एप्लीकेशन है।
  • इसके पश्चात आपको यह फॉर्म उसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप Kisan Vikas Patra Yojana 2020 को ट्रांसफर कर पाएंगे।

किसान विकास पत्र ब्याज दर निष्कर्ष

इस लेख के माध्यम से आपको किसान विकास पत्र योजना से संबंधितजानकारी प्रदान कर दी है। यदि आप किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप हमसे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं । हम आपकी समस्या का समाधान करने की पूरी कोशिश करेंगे।

आवश्यक सुचना : हम (www.motivational.page or https://motivational.page/ ) / यह वेबसाइट किसी सरकारी संगठन या किसी सरकारी संस्था से संबंधित नहीं हैं। वेबसाइट पर कोई भी जानकारी सिर्फ सूचना के उद्देश्य के लिए है। किसी भी सरकारी योजनाओं या नीतियों से संबंधित अधिक जानकारी के लिए कृपया संबंधित सरकारी वेबसाइट देखें।