khubsurti ki tareef shayari in hindi

Khubsurti Ki Tareef Shayari – जब कोई उसकी अच्छाई की तारीफ करता ही तो उसे प्रसन्नता होती हैं.

अक्सर लड़के लड़कियों की तारीफ कर उन्हें अपनी तरफ आकर्षित करना चाहते हैं. जिसके लिए वो शायरी, स्टेटस आदि के द्वारा उनकी तारीफ करते हैं. ईश्वर औरतों को कुछ इस कदर बनाता है कि शायर उन पर शायरी कहे बिना रह नहीं पाता है. कई बार तारीफ करने से दिल की बाते भी आसानी से लोग कह देते हैं. इससे अपनेपन का अनुभव होता हैं. एक दुसरे के प्रति प्यार बढ़ता है.

इस post में बेहतरीन तारीफ शायरी दिए है. जिनके द्वारा आप अपने Friend, Boyfriend, Girlfriend, Wife, Husband, Life Partner, Jeevn Sathi की तारीफ़ कर सकते हैं.

आपके लिए हमने हुस्न की तारीफ़ शायरी, खूबसूरती की तारीफ़ शायरी Best, Latest , New, Tow Line, Hindi , Urdu, English, Shayari , Sher, Collection , Tareef Shayari दिए हुए हैं. पूरा पोस्ट जरूर पढ़े.

khubsurti ki tareef shayari

यूँ न निकला कीजिये आज कल रात को,
चाँद छुप जाएगा देख कर आप को.

तारीफ करूँ क्या तेरी,
कोई अल्फ़ाज ही ना मिले,
जब से देखा है तुझे
दिल में अरमान है जगे.

दुनिया में तेरा हुस्न मेरी जान सलामत रहे,
सदियों तक जमीं पे तेरी कयामत रहे.

जब मैंने चाँद को अपनी चाँद दिखाया,
रात में निकला वो मेरे चाँद हुस्न पर इतराया.

Khubsurti Ki Tareef Shayari

उसने महबूब की तारीफ कुछ इस कदर की,
रात भर आसमान में चाँद भी दिखाई न दी.

निगाह उठे तो सुबह हो,
झुके तो शाम हो जाएँ,
एक बार मुस्कुरा तो दो
तो हजार कत्ले-आम हो जाएँ.

मासूम सी सूरत तेरी
दिल में भर जाती है,
भूल जाऊं कैसे मैं तुझे,
तू मुझे हर जगह नजर आती है.

Tareef Status in Hindi | तारीफ शायरी

मेरे दिल के धड़कनों की वो जरूरत सी है,
तितलियों सी नाजुक परियों जैसी खूबसूरत सी है.

जब वो सँवर कर मेरे सामने आयें,
वो करोड़ो में सँवरी
और चिल्लर में हम तारीफ़ कर पायें.

ख्वाहिश नहीं तारीफ़ की किसी यार से,
मुझे तो इश्क़ हो गया, आज अपने श्रृंगार से.

तारीफों से जी भरा सा है,
इक वो नहीं तो सब अधूरा सा है.

तेरे चेहरे की चमक के सामने सादा लगा
आसमाँ पे चाँद पूरा था मगर आधा लगा
इफ़्तिख़ार नसीम

Husn Ki Tareef Shayari in Hindi

ऐ सनम जिस ने तुझे चाँद सी सूरत दी है
उसी अल्लाह ने मुझ को भी मोहब्बत दी है
हैदर अली आतिश

न पूछो हुस्न की तारीफ़ हम से
मोहब्बत जिस से हो बस वो हसीं है
आदिल फ़ारूक़ी

अजब तेरी है ऐ महबूब सूरत
नज़र से गिर गए सब ख़ूबसूरत
हैदर अली आतिश

Khubsurti Ki Tareef Shayari 2 Line


तेरे हुस्न को किसी परदे की जरूरत ही क्या है,
कौन रहता है होश में… तुझे देखने के बाद.

ये बेपनाह हुस्न यूँ सादगी से शरमायें,
चिराग बुझा दो कही आन न लग जायें.

क्या हुस्न था… कि आँखों से देखा हजार बार,
फिर भी नजर को हसरत-ए-दीदार रह गयी.

इश्क़ को जब हुस्न से नजरें मिलाना आ गया,
खुद-ब-खुद घबरा के कदमों में जमाना आ गया.
असद भोपाली

Khubsurti Ki Tareef Shayari in Urdu


हसीं तो और हैं लेकिन कोई कहाँ तुझ सा
जो दिल जलाए बहुत फिर भी दिलरुबा ही लगे
बशीर बद्र

हुस्न के समझने को उम्र चाहिए जानाँ
दो घड़ी की चाहत में लड़कियाँ नहीं खुलतीं
परवीन शाकिर

तुम्हारी आँखों की तौहीन है ज़रा सोचो
तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है
मुनव्वर राना

हुस्न वालो को क्या जरूरत है संवरने की,
वो तो सादगी में भी कयामत से अदा रखते है.

मासूमियत से भरा खूबसूरत चेहरा है,
उस पर काले तिल का पहरा है.

मेरी निगाहें बार-बार आकर रुक जाती है,
उसके हुस्न-ए-दीदार पे ना जाने क्यों ये थम जाती है.

Tareef Shayari for Beautiful Girl in Hindi

ये जो निगाहों से हमारे दिल को हलाल करते हो,
करते तो वैसे जुर्म हो लेकिन कमाल करते हो.

देख कर तुमको यकीं होता है,
कोई इतना भी हसीं होता है,
देख पाते है कहाँ हम तुमको
दिल कहीं होश कहीं होता है.

अपना इक-इक वादा इस तरह निभाना है,
तुम को मेरे आँगन में चाँद बन के आना है,
इस कदर हसीं है तू खुद खबर नहीं तुझको
तेरे हुस्न के आगे चाँद भी पुराना है.

वो घर से बन संवर कर, जब कभी निकलते है
उनसे रौशनी लेकर सौ चिराग जलते है.

Tareef Status in Hindi


तेरी जिन्दगी भी जानेमन कितनी बेमिसाल है,
सारी दुनिया है मरती, तेरे हुस्न का कमाल है.

तुझ को देखा तो फिर उस को देखा ना गया,
चाँद कहता ही रहा मैं चाँद हूँ मैं चाँद हूँ.

काटे नहीं कटते लम्हें इन्तजार के,
नजरें बिछाएं बैठे है रास्ते पे यार के,
दिल ने कहा देखे जो जलवे हुस्न-ए-यार के,
लाया है उन्हें कौन फलक से उतार के.

मेरे दर्द को ही आह का हक है,
जैसे तेरे हुस्न को निगाह का हक है,
मुझे भी एक दिल दिया है भगवान ने
मुझ नादान को भी एक गुनाह का हक है.

Khubsurti Ki Tareef Shayari

मुझको मालूम नहीं हुस्न की तारीफ़,
मेरी नजरों में हसीन वो है जो तुम-सा है.

चाँद की चमक भी फीकी लगती हैं,
तू परियों से ज्यादा खूबसूरत दिखती है.

बड़ी फुर्सत से बनाया है तेरे खुदा ने तुझे,
वरना सूरत तेरी इस कदर ना चाँद से मिलती.

सुना है लोग उसे जी भर कर देखते है,
उसके शहर में कुछ दिन ठहर कर देखते है.

Tareef Shayari 2 Line

हुस्न वाले जब तोड़ते है दिल किसी का,
बड़ी सादगी से कहते है मजबूर थे हम.

तारीफ शायरी
क़ातिल है निगाहें उनकी,
उफ़्फ़ ऊपर से ये अदायें,
हमे डर है कि उनके आशिक,
कहीं आपस में लड़ कर मर न जायें.

उसके हुस्न की तारीफ़ में क्या कहिये,
कोई शहजादी जमीन पर उतर आई है,
ऐ बनाने वाले लगता है जैसे,
कोई संगमरमर की मूरत तूने बनाई है.

इक अदा आपकी दिल चुराने की,
एक अदा आपकी दिल में बस जाने की,
चेहरा आपका चाँद जैसा और
इक ज़िद हमारी उस चाँद को पाने की.

तारीफ शायरी दो लाइन

हुस्न के वादियों में खोये हुए है सब,
और कहते है कि मोहब्बत करते है हम.

बाजार में इश्क़ नहीं, सिर्फ हुस्न बिकता है,
इश्क़ इबादत है, जो नसीब से मिलता है.

सूरत की नहीं सीरत की बात करते है,
इश्क़ करने वाले सिर्फ बिछड़ने से डरते है.

तारीफ शायरी फॉर गर्ल
नींद से क्या शिकवा जो आती नहीं रात भर,
कसूर तो उस चेहरे का है जो सोने नहीं देता.

मिलावट है तेरे हुस्न में ‘इत्र’ और शराब की,
तभी मैं थोड़ा महका हूँ, थोड़ा सा बहका हूँ.

हसीन चेहरों से सीखी हमने सिर्फ एक बात,
जिसकी जितनी हसीं अदा है वो उतना ही बेवफा है.

कसा हुआ है तीर हुस्न का,
जरा सम्भलकर रहियेगा,
नजर नजर को मारेगी,
तो कातिल हमें ना कहियेगा.

Tareef Shayari for Friend

खूबसूरत चेहरे की बात मत कर,
वो बेवफा है उसे याद मत कर.

तेरे जिस्म की तारीफ़ तो हजारों करेंगे,
तारीफ़ रूह की सुननी हो तो हमें बुला लेना.


दस्तूर है दुनिया का इस लिए
वो मेरी तारीफ करते है,
मगर हम भी जानते है कि वो
जालिम हर हसीन चेहरे पे मरते है.

खुशबू आ रही है कहीं से ताजे गुलाब की,
शायद खिड़की खुली रह गई होगी उनके मकान की.

Tareef Bhai Shayari


मेरा इश्क़ भी, तेरा हुस्न भी
गजलों में आकर घुल गई,
मेरी शायरी की किताब तू
कभी खो गई, कभी मिल गई.

जिस मोड़ पे तू मिल गई,
वहाँ एक नई राह खुल गई,
तू नये किरण की बहार है
अब रात भी मेरी ढल गई.

तेरा दिल है या किराए का मकान है कोई,
इसमें बसने वाले अक्सर बदलते रहते है.

Tareef Shayari | तारीफ शायरी | |

हर नज़र को एक नज़र की तलाश है,
हर छेरे में कुछ तो एहसास है,
आपसे दोस्ती हम यूँ ही नहीं कर बैठे
क्या करें हमारी पसंद ही कुछ ख़ास है.

मत मुस्कुराओ इतना,
कि फूलों को खबर लग जाए,
कि करे वो तुम्हारी तारीफ
और तुम्हें नजर लग जाएँ.

चेहरे की तारीफ़ शायरी
चाँद से हसीन है चांदनी,
चाँदनी से हसीं है रात,
रात से हसीन है ज़िन्दगी,
और वो ज़िन्दगी है आप.

Khubsurti Ki Tareef Shayari

खाब बनकर तेरी आँखों में समाना है,
दवा बनकर तेरे हर दर्द को मिटाना है,
हासिल है मुझे जमाने भर की खुशियाँ
मेरी हर ख़ुशी को बस तुझ पर लूटाना है.

ऐसी कोई तारीफ ही नहीं है,
जो तुम्हारी तारीफ कर सके.

हम हार चुके सब कुछ एक दिल को हार के,
मेरी याद को रखना मेरे साथी संभाल के.

सच की तारीफ शायरी


बुराइयाँ कितनी भी बुरी हो पर सच्ची होती है,
झूठी तारीफों से तो अच्छी होती है.

चले जाओ, अब इतनी ना करो तारीफ मेरी,
बात कहने की ऐडा पसंद आई है सबको तेरी.

तारीफ अपने आप की करना फ़िजूल है,
खुश्बू खुद बता देती है कि कौन सा फूल है.

गर्लफ्रेंड तारीफ शायरी


दिल से कुछ लिखना चाहते हैं उनकी तारीफ में,
मगर लफ़्ज हैं कि फीके पड़ जाते हैं आज की तारीख में.

तेरी खूबसूरती की तारीफ़ में क्या लिखूं,
कुछ खूबसूरत शब्दों की अभी तलाश है मुझे.

तेरी तारीफ में ये जुबान कभी थकती नहीं,
तेरी नजरों से ये नजरें अब हटती नहीं.

लड़कियों की तारीफ

मैं इतनी अच्छी भी नहीं
जितनी तुम तारीफ कर जाते हो,
कही किसी और के हिस्से की
तारीफ चुरा के तो नहीं लाते हो.

अल्फ़ाज नये है बात वही पुरानी है,
उनकी तारीफों में चलती कलम हमारी है.

Tareef Shayari in Hindi font
आँखों में तेरी कोई करिश्मा जरूर है,
तू जिसको देख ले, वो बहकता जरूर है.

बहुत खूबसूरत है हमारा सनम,
खुदा ऐसा चेहरा बनाता है कम.

आखों की तारीफ़ शायरी
बहुत खूबसूरत है आँखें तेरी ,
इन्हें बना दो सनम किस्मत मेरी .

मोहब्बत के फूल खिलते है तेरी आँखों में,
जहाँ देखे तू वहाँ खुशबू बिखर जाएँ.

प्रशंसा शायरी


घूँघट में एक चाँद था और सिर्फ तन्हाई थी,
फिर दिल के धड़कने की आवाज जोर से आई थी.

इश्क से जो मैंने घूँघट चाँद पर से हटाया था,
इश्क का रंग भी उतरकर उसके चेहरे पर आया था.