Advertisements

Jack dorsey twitter success story in hindi – ट्विटर की कहानी

दिलचस्प जैक डोरसे और ट्विटर

कहा जाता है  की Twitter का idea टैक्सी ड्राइवर्स को बात करते सुनते वक़्त आया | टैक्सी ड्राइवर्स जब आपस मे बात करते तो वे छोटी छोटी बाते बोलते – अभी कहाँ है, कहाँ जाना है,क्या कर रहे कब आओगे ? आदि आदि

ट्विटर के फाउंडर उस समय किशोर अवस्था में थे उन्होंने इस success वाली बात को पकड़ ली थी । ट्विटर के सह संस्थापक का नाम है जैक डोरसी- jack dorsey । चलिए समझते है उनके और ट्विटर के आगे बढ़ने की कहानी को

jack dorsey bio in hindi,jack dorsey information in hindi,

डोरसी का जन्म और पालन-पोषण सेंट लुइस, मिसौरी में हुआ था। टिम और मार्सिया डोरसे के पुत्र। उनके पिता ने एक कंपनी के लिए काम किया जिसने बड़े पैमाने पर स्पेक्ट्रोमीटर विकसित किए और उनकी माँ एक गृहिणी थीं। अपने बचपन में  डोरसी ने कभी-कभी एक फैशन मॉडल के रूप में काम किया। 

बचपन में जैक को ट्रेन मैप train map को जानने का शौक था वह घंटों रेलवे यार्ड में ट्रेनों को आते जाते हुए देखा करते थे । चौदह वर्ष की आयु तक डोरसी को प्रेषण मार्ग dispatch routing  में रुचि हो गई थी। डिस्पैच लॉजिस्टिक्स -dispatch logisitics के क्षेत्र में उनके द्वारा बनाए गए कुछ ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर open source software अभी भी टेक्सी कंपनियों द्वारा उपयोग किए जाते हैं।

डोरसी ने न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय में स्थानांतरण से पहले दो-प्लस वर्षों (1995–97)  के लिए मिसौरी-रोला विश्वविद्यालय में भाग लिया था। उन्होंने 1999 में पढ़ाई छोड़ दी,  NYU में अध्ययन करते समय वह ट्विटर के रूप में विकसित हुआ था।

twitter success story in hindi,twitter success stories in hindi,twitter business success stories in hindi,
twitter motivational journey story in hindi

19 साल की उम्र में भी जैक डोरेस को कोई नौकरी नहीं मिली थी। लेकिन जैक डोरेस को कोडिंग और एथिकल हैकिंग (ethical hacking )आती थी । इसलिए पहली नौकरी हासिल करने के लिए उन्होंने न्यूयॉर्क की एक डिस्पैच कंपनी Dispatch Management Services corp   की सुरक्षा प्रणाली में  खामी निकालकर कंपनी को मेल कर दिया  किया और नौकरी हासिल की। लेकिन वहां ज्यादा दिन नहीं टिक पाए।

आगे के कुछ सालो मे उन्होंने taxi and ambulance कार के सॉफ्टवेयर बनाये लकिन 2000 के dot-com bubble के बाद उनको अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा और नौकरी चली गयी एवं उसके बाद आगे के 5 साल freelance काम किया |

बाद मे डोरसे ने Odeo कंपनी को join किया जो की Internet startup मे specialized थी | इसके बाद कंपनी ने उनको इनफार्मेशन सिस्टम team मे hire कर लिया | यहाँ पर उन्होंने SMS के बारे मे विस्तार से सीखा |  जब उन्होंने पहली बार इंस्टेंट मैसेजिंग के उपयोग और कार्यान्वित होते देखा, तो डॉर्से ने सोचा कि क्या सॉफ्टवेयर का आउटपुट आसानी से दोस्तों के बीच साझा किया जा सकता है। 

  Jack ने अपनी कंपनी की टीम को SMS सर्विस के बारे मे बताया और कहा की हम अपनी कंपनी के लिए SMS service बनाते है जिनको use करके employees messages को online शेयर कर पाएंगे |

इस विचार ने ओडियो में कई उपयोगकर्ताओं को आकर्षित किया और इवान विलियम्स Ne निवेश किया, जिन्होंने Pyra Labs और Blogger को बेचने के बाद Google छोड़ दिया था।

 जैक और उनके फ्रेंड ने दो सप्ताह में   company internal use के लिए twitter कर दिया था ।

Twitter, मार्च 2006 में ही शुरू हुआ था। Jack Dorsey ने अपने अकाउंट से लिखा “just setting up my twittr” । शुरुआत में यह सुविधा Odeo कंपनी के employees तक सीमित थी।

शुरू में इसका नाम ट्विटर नहीं था। उस वक्त यह ओडियो ODEO कंपनी का ही हिस्सा थी। अक्टूबर-2006 में डोर्सी और ओडियो के कुछ सदस्यों ने  obvious corporation -ऑबवियस कॉरपोरेशन की स्थापना करके ओडियो की सारी संपत्ति खरीद ली, जिसमें ओडियो डॉट काम और ट्विटर डॉट काम भी शामिल थे।

jack dorsey wikipedia in hindi,jack dorsey kaun hai,twitter ke sansthapak kaun hai,twitter wikipedia in hindi,

अप्रैल 2007 में जैक, नोआ ग्लास, इवान विलियम्स और बिज स्टोन ने ट्विटर इंक. की स्थापना की। इसका मुख्यालय सैन फ्रांसिस्को में है । 


डोरसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ CEO ) के रूप में विलियम्स, स्टोन और नूह ग्लास ने ओबर्पोर कॉर्पोरेशन की सह-स्थापना की । 

सीईओ के रूप में, डोरसे ने उद्यम पूंजीपतियों द्वारा दो दौर की फंडिंग के माध्यम से स्टार्टअप को देखा। उन्होंने कथित तौर पर योग Yoga और फैशन डिजाइन जैसी अन्य गतिविधियों का आनंद लेने के लिए काम छोड़ने के लिए अपनी स्थिति खो दी

twitter official,twitter ke sansthapak kaun hai,twitter wikipedia in hindi,
biography of jack dorsey in hindi,inspirational story of twitter

शुरू में ट्विटर की विकास दर बहुत धीमी थी। 2007 के मात्र तीन महीनों में केवल 4 लाख ट्वीट्स भेजे गए। कंपनी की लोकप्रियता में महत्वपूर्ण मोड़ तब आया, जब 2007 में साउथ बाई साउथवेस्ट इंटरएक्टिव कॉन्फ्रेंस हुई।

ट्विटर के कर्मचारियों ने कॉन्फ्रेंस के हॉलवे में 60 इंच के दो प्लाज्मा स्क्रीन लगा दिए थे, जिन पर लगातार ट्विटर संदेश चलते रहते थे। कॉन्फ्रेंस में आए सैकड़ों लोगों ने लगातार ट्वीट करके एक-दूसरे से संपर्क रखा। सभी ट्विटर से इतने प्रभावित  थे

कंपनी में  कई अंदरूनी समस्याएं भी थी। ट्विटर नई कंपनी नहीं थी । चूंकि सीईओ बनने के बाद डोर्सी बाकी सदस्यों से ऊपर हो गए थे, इसलिए बाकी कर्मचारियों का मनोबल गिर गया था। इससे सह-संस्थापकों की महत्वकांक्षा आहात हुई।

जैसे-जैसे सेवा लोकप्रियता में बढ़ने लगी, डोरसे ने शीर्ष प्राथमिकता के रूप में अपटाइम के सुधार को चुना  2००8  तक ट्विटर ने कमाई के लिए डिज़ाइन नहीं किया था

जब ट्विटर प्रसिद्ध होने लगा,तब  ट्विटर का ट्रैफिक दिन दूनी रात चौगुनी गति से बढ़ रहा था। उसे संभालना मुश्किल होने लगा। हर दिन सर्वर क्रैश हो रहे थे।

कंपनी के विकास में महत्वपूर्ण मोड़ तब आय जब यूनियन स्क्वेयर वेंचर्स ने इसमें 5 मिलियन डॉलर का निवेश किया। तब तक जैक शौक-शौक में यह काम कर रहे थे ।

लेकिन निवेश के बाद ही वे इसकी व्यावसायिक संभावनाओं के बारे में गंभीर हुए। शुरू में ट्विटर का लक्ष्य आमदनी कमाना नहीं, बल्कि सदस्य संख्या बढ़ाना था।  2011 तक निवेशकों ने ट्विटर में 57 मिलियन डॉलर से अधिक का निवेश किया था। 


अप्रैल 2012 में, ट्विटर ने घोषणा की कि यह ऑटोमोटिव ब्रांडों और विज्ञापन एजेंसियों के साथ काम करने के उद्देश्य से डेट्रायट में एक कार्यालय खोल रहा है

डबलिन में ट्विटर ने अपने कार्यालय का विस्तार भी किया। 5 जून 2012 को, कंपनी के से एक संशोधित लोगो logo का अनावरण किया गया था, जो कि ट्विटर के एकमात्र प्रतीक के रूप में थोड़ा पुन: डिज़ाइन किए गए पक्षी को प्रदर्शित करने के लिए text को हटा रहा है।

5 अक्टूबर 2012 को, ट्विटर ने वाइन नामक एक वीडियो क्लिप कंपनी का अधिग्रहण किया जो जनवरी 2013 में लॉन्च हुई ।

सितंबर 2013 तक, कंपनी के डेटा से पता चला कि 200 मिलियन उपयोगकर्ताओं ने 400 मिलियन से अधिक ट्वीट प्रतिदिन भेजे, लगभग 60% ट्वीट्स मोबाइल उपकरणों से भेजे गए।

31 जुलाई 2014 को, ट्विटर ने घोषणा की कि उसने मित्रो नामक एक छोटा पासवर्ड-सुरक्षा स्टार्टअप हासिल कर लिया है। 29 अक्टूबर 2014 को, ट्विटर ने आईबीएम के साथ एक नई साझेदारी की घोषणा की। साझेदारी का उद्देश्य व्यवसायों को अपने ग्राहकों, व्यवसायों और अन्य रुझानों को समझने के लिए ट्विटर डेटा का उपयोग करने में मदद करना था।

12 सितंबर, 2013 को ट्विटर ने घोषणा की कि उसने योजनाबद्ध स्टॉक सूची अमेरिकी प्रतिभूति और विनिमय आयोग (एसईसी) के साथ कागजात दाखिल किए थे । इसने 800 पन्नों की फाइलिंग में अपने प्रॉस्पेक्टस का खुलासा किया।

ट्विटर ने अपने शेयर बाजार की शुरुआत के आधार के रूप में US $ 1 बिलियन जुटाने की योजना बनाई। आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) फाइलिंग में कहा गया है कि “200,000,000+ मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता” ट्विटर तक पहुंच और “प्रति दिन 500,000,000+ ट्वीट” पोस्ट किए जाते हैं।

7 नवंबर, 2013 को NYSE पर कंपनी को लगभग 31 बिलियन अमेरिकी डॉलर का वैल्यूएशन मिला। नतीजतन, सह-संस्थापक विलियम्स और डोरसी शामिल को क्रमशः 2.56 बिलियन अमेरिकी डॉलर और 1.05 बिलियन अमेरिकी डॉलर प्राप्त हुए ।


नवंबर 2016 में सीओओ एडम बैन ने अपने इस्तीफे की घोषणा की और सीएफओ एंथोनी नोटो ने बैन की भूमिका संभाली। एक महीने बाद 20 दिसंबर, 2016 को, सीटीओ एडम मेसिंगर ने घोषणा की कि वह भी जा रहा है।

फरवरी 2020 में यह बताया गया कि इलियट मैनेजमेंट कॉरपोरेशन ने ट्विटर में हिस्सेदारी हासिल कर ली है । एक्टिविस्ट शेयरधारक और रिपब्लिकन पार्टी के समर्थक पॉल सिंगर से डोरसी को सीईओ के रूप में हटाने की अपेक्षा की गई थी।

ट्विटर एक नए स्वतंत्र निदेशक और दो नए बोर्ड के सदस्यों को नियुक्त करने और शेयर बायबैक में $ 2 बिलियन का प्रदर्शन करने के लिए सहमत हुआ ।

ट्विटर के संस्थापक और सीईओ 44 साल के जैक डॉर्सी अपनी अजीबोगरीब successful inspirational habits आदतों की वजह से चर्चा का विषय बने रहते हैं । दरअसल, जैक हर दिन 24 घंटे में से 22 घंटे फास्टिंग करते हैं, ब्रेकफस्ट और लंच स्किप कर सिर्फ डिनर करते हैं, 8 किलोमीटर पैदल चलकर अपने ऑफिस जाते हैं ।

हर दिन सुबह-सुबह 15 मिनट बर्फ के ठंडे पानी से नहाते हैं। इतना ही नहीं जैक वीकेंड्स पर भी कुछ नहीं खाते और 2 दिन सिर्फ पानी पीकर रहते हैं।

जैक डॉर्सी कहते हैं कि इस तरह का डायट और हेल्थ प्लान फॉलो कर उन्हें फोकस्ड और शार्प रहने में मदद मिलती है।

जैक कहते हैं कि इस स्पेशल रूटीन की वजह से उनका दिमाग इतना क्लियर रहता है कि बिस्तर में जाते ही महज 10 मिनट में उन्हें गहरी नींद आ जाती है।

Leave a Reply