Advertisements

hindi Moral story for class 5- राजू की बुआ

राजू अपनी पत्नी रानी और अपनी माँ के साथ रहता था। गर्मियों की छुट्टी में राजू की बुआ, फूफा अपने बच्चे सोनू के साथ उनके घर रहने को आये। घर आते ही फूफा जी बोले की यहाँ तो बहुत गर्मी है। घर में कोई AC नहीं है क्या?

राजू की माँ ने बोला भाईसाहब अभी कुछ दिन पहले ही राजू ने अपने कमरे में AC लगवाया है। यह सुनते ही फूफा जी अपना सारा सामान राजू के कमरे में ले गए। राहुल और उसकी पत्नी सीमा चुप रहे क्योंकि उनने सोचा की कुछ दिनों की तो बात है।

इस तरह बुआ, फूफा जी को राजू के घर रहते 1 महीना हो गया। राजू ने माँ से पूछा की बुआ जी कब जाने वाली है। हम कब तक ऐसे ही हॉल में सोकर अपना गुजारा करेंगे। राजू की माँ बोली बेटा रिश्तेदारी का मामला है। हम कुछ कह भी तो नहीं सकते। राजू की पत्नी रानी बोली वह सब तो ठीक है लेकिन उनका छोटा लड़का सोनू सारा दिन घर में उधम करता रहता है। कल उसने हमारा नया सोफा फाड़ डाला था ।

राजू इस बात पर बहुत गुस्सा हुआ की नया सोफ़ा फाड़ दिया। वह रानी से बोला “तुम सोनू को ऐसा करने से रोकती क्यों नहीं।” रानी बोली जब से बुआ, फूफा जी आये है। कुछ कुछ नया खाने की डिमांड करते है। जिससे मेरा और माँ जी का सारा दिन तो रसोई में ही बीत जाता है।

राजू ने फूफा से उनके जाने के बारे में पूछने का मन बना लिया । राजू ने बातों बातों में फूफा जी से कहा की 1 महीना हो गया है। आपके जॉब की छुट्टियाँ तो खत्म हो गयी होंगी न।

फूफा जी बोले राहुल मैंने नौकरी छोड़ दी। अब तो मै बिज़नेस करता हूँ और अब मै इस शहर में भी बिज़नेस करने की सोच रहा हूँ। पहले इस शहर को अच्छे से समझ लूँ जिसमे 2-3 महीने तो लग ही जायेंगे।

यह सुनकर राजू समझ गया की फूफा जी अभी जाने वाले नहीं है । उसने यह बात रानीऔर माँ को बताई। रानी बोली ऊँगली टेढ़ी करके घी निकलना पड़ेगा । इनके साथ भी कुछ ऐसा ही करना होगा।

आप यह काम अब मुझ पर छोड़ दीजिये। उसी रात बुआ और फूफा जी छत पर थे। तभी उनका लड़का सोनू चिल्लाता हुआ उनके पास गया और बोला की मैंने अभी एक चुड़ैल को देखा है। तभी वह चुड़ैल वहाँ आ गयी और बुआ और फूफा को बोली की कौन मेरा पहला भोजन बनेगा । चुड़ैल को देखकर सब बहुत डर गए और उस घर से भाग गए। उनके जाने के बाद सीमा ने अपना चुड़ैल का मुखौटा उतारा।

बुआ के परिवार के जाने के बाद सबने चैन की सास ली। सीमा की सास ने सीमा से कहा की तू तो बड़ी अच्छी चुड़ैल बनती है। यह कहकर सब हॅसने लगे।

Moral of the Story कहानी से सिख

हमें किसी भी रिश्ते का ग़लत फायदा नहीं उठाना चाहिए। बुआ के परिवार ने अपनी रिश्तेदारी का ग़लत फायदा उठाया और उनको को परेशान किया।