Advertisements
Har ghar Nal Jal Yojana kya hai हर घर नल जल योजना क्‍या है?

Har ghar Nal Jal Yojana kya hai हर घर नल जल योजना क्‍या है?

सरकार ने जल जीवन मिशन या हर घर जल योजना का एलान 2020-21 के बजट में किया था. इसका उद्देश्य देश के सभी घरों में पाइपलाइन से साफ पानी पहुंचाना है. यह लक्ष्‍य पूरा करने के लिए 2024 तक का समय तय किया गया है. सरकार इस योजना पर 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी.

क्‍यों शुरू की गई योजना ?

देश के कई इलाकों में आज भी लोगों को पानी लेने के लिए कई किलोमीटर दूर तक चलकर जाना पड़ता है. ऐसा साफ पानी मिल सके इस लिए किया जाता है . इसे देखते हुए सरकार ने यह स्‍कीम शुरू की है.

नल जल योजना में लोगों को निःशुल्क पानी मिलेगा। हर घर को एक कनेक्शन दिया गया है। लोग इसके अलावा घरों में अन्य कनेक्शन लेंगे तो स्वयं करवाना होगा। विभाग द्वारा यह नहीं किया जाएगा। 

हर घर नल जल योजना शुरू होने से लोगों के बीच गर्मी में जल संकट से निजात मिलेगी। उसके साथ आर्सेनिक प्रभावित इलाके के लोगों को शुद्ध पेयजल मिल सकेगा

क्‍या है हर घर जल योजना उद्देश्‍य ?

इस योजना के तहत 2024 तक सरकार देश के ग्रामीण इलाकों में हर एक घर में पीने के पानी का कनेक्‍शन देगी. घरों तक पानी पहुंचाने के लिए इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर तैयार किया जाएगा. इसके अंतर्गत जल संरक्षण जैसे विषयों पर भी काम किया जाएगा.

क्‍या हर घर जल योजना लाभ ?

-लोगों को घर पर ही पीने का साफ पानी मिलेगा.
-इसके लिए उन्‍हें कहीं दूर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.
-पानी की समस्‍या से पूरी तरह छुटकारा मिल जाएगा.

अभी क्‍या है हर घर जल योजना स्थिति?

अभी केवल 50 फीसदी घरों को ही पाइपलाइन से साफ पानी की आपूर्ति होती है. सरकार ने इसका दायरा बढ़ाने का फैसला किया है. उसने 2024 तक हर घर नल, हर घर जल पहुंचाने का लक्ष्य रखा है.

कितना है योजना का बजट?

सरकार कह चुकी है कि वह इसमें अपनी पूरी ताकत झोंक रही है . इसके लिए साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये खर्च करने की तैयारी है. बजट 2020-2021 में इस राशि के आवंटन पर सरकार ने एलान किया था.

हर घर जल योजना अपडेट har Ghar Jal Yojana Update in hindi

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर और सोनभद्र में 41 लाख से ज्‍यादा ग्रामीणों को योगी सरकार हर घर नल योजना की सौगात मिली। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली से इस योजना का वर्चुल शिलान्‍यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोनभद्र के चतरा ब्लॉक के करमांव गांव से इस कार्यक्रम में शामिल हुए। शिलान्यास कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री मिर्जापुर भी जाएंगे।

In 70 yrs drinking water supply projects could be regulated only in 398 villages in Vindhya region. Today we’re here to take forward such projects in over 3000 villages of the region: UP CM at foundation stone laying event for drinking water supply projects in Mirzapur, Sonbhadra pic.twitter.com/kA3sF6nGxH— ANI UP (@ANINewsUP) November 22, 2020

मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 जून को बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी, ललितपुर और महोबा जिलों की 12 ग्रामीण पाइप पेयजल परियोजनाओं के निर्माण कार्यों का शुभारंभ किया जा चुका है. शेष 4 जिलों के निर्माण कार्य भी शीघ्र प्रारंभ हो जाएंगे. विंध्य क्षेत्र के मिर्जापुर व सोनभद्र जिलों में निर्माण कार्य जल्दी से जल्दी शुरू किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं. योगी आदित्यनाथ ने दोहराया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में संचालित ‘हर घर नल’ योजना राज्य सरकार की प्राथमिकता है.

मुख्यमंत्री ने ये भी बताया कि जिन क्षेत्रों का जल आर्सेनिक/फ्लोराइड और जेई/एईएस से प्रभावित है वहां डीपीआर की कार्यवाही की जा रही है. केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री ने वर्ष 2024 तक ‘हर घर नल’ योजना से पेयजल पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया था, जिसे उत्तर प्रदेश में साल 2022 तक ही पूरा किए जाने का प्रयास किया जा रहा है. उत्तर प्रदेश में इसकी सफलता के लिए समयबद्ध ढंग से कार्य किया जाना आवश्यक है, जिसके लिए राशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी. आपको बता दें कि 2022 में ही उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं.