Hanta Virus meaning in hindi | हंता वायरस

हंता वायरस क्या है ? what is Hanta virus

जब दुनिया खतरनाक कोरोना वायरस महामारी के लिए इलाज खोजने की कोशिश कर रही है, ग्लोबल टाइम्स  के हवाले से चीन के युन्नान प्रांत के एक व्यक्ति की मौत हंटा वायरस से हुई. बस में मौजूद सभी साथी यात्रियों में वायरस का परीक्षण किया गया है।

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल का कहना है कि हंता वायरस मुख्य रूप से चूहों  से फैलता है। किसी भी हंता वायरस पीड़ित व्यक्ति के साथ संक्रमण दुसरो में फ़ैल सकता है। ”

अमेरिका हंता वायरस को “न्यू वर्ल्ड” हंता वायरस के रूप में जाना जाता है और इससे हंता वायरस पल्मोनरी सिंड्रोम (एचपीएस) हो सकता अन्य हें हंता वायरस , “ओल्ड वर्ल्ड” के रूप में जाना जाने वाला ज्यादातर यूरोप और एशिया में पाया जाता है और रीनल सिंड्रोम (एचएफआरएस) के साथ रक्तस्रावी बुखार का कारण हो सकता है।

हंता वायरस की शुरुआत ? Hantavirus origin in hindi

पहली बार इस वायरस के संक्रमण का मामला मई 1993 में दक्षिण पश्चिमी अमेरिका से आया था। सीडीसी ने अपनी रिपोर्ट में कनाडा, अर्जेंटीना, बोलीविया, ब्राजील, चिली, पनामा, पैरागुए और उरागुए से भी इस तरह के मामले आने की पुष्टि की है।

 यूएस सेंटर ऑफ डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक हंता वायरस के पनपने की अवधि छोटी होती है। इस लक्षण 1 सप्ताह से 8 सप्ताह के बीच नजर आते हैं।

भारत में हंता वायरस ? Hantavirus in India in Hindi

भारत में हंता वायरस से लोगों के संक्रमित होने के कई मामले सामने आए हैं .नेचर इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 2008 में तमिलनाडु में वेल्लोर जिले के इरुला समुदाय के 28 लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए थे। इस समुदाय के काफी लोग सांप और चूहे पकड़ने का काम करते थे। 

– 2016 में मुंबई में हंता वायरस की चपेट में आने से एक 12 साल के बच्चे की मौत हो गई थी। उसके फेफड़ों से रक्तस्त्राव हो रहा था। उसे बुखार, खांसी, बलगम जैसी दिक्कतें थीं। ये सभी इस वायरस से संक्रमित होने के लक्षण हैं। 

हालांकि 15 से 20 प्रतिशत चूहे हंता वायरस से संक्रमित होते है। लेकिन फिर भी इंसान के इस बीमारी से संक्रमित होने की आशंका बेहद कम होती है। यह वायरस धूप के संपर्क में आने के बाद थोड़ी ही देर में मर जाता है। इसके अलावा यह इंसान से इंसान में नहीं फैलता। 

कैसे फैलता है हंता वायरस ? how Hanta virus spreads ?


सेंटर ऑफ डिजीज़ कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के मुताबिक अगर कोई व्‍यक्ति चूहों की लार, मल-मूत्र या उनके बिल की चीजें वगैरह छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसमें हंता वायरस का संक्रमण फैल सकता है। कोरोना वायरस की तरह हंता वायरस हवा में नहीं फैलता है।

वैसे तो हंता वायरस से संक्रमित होने की आंशका बहुत कम रहती है लेकिन इसकी चपेट में आने के बाद मृत्यु दर कोरोना वायरस की तुलना में काफी अधिक है।  

सेंटर ऑफ डिजीज़ कंट्रोल एंड प्रीवेंशन  (Centre for Disease Control and Prevention) ने अपनी वेबसाइट पर बताया है ‘घर के अंदर व बाहर चूहे हंता वायरस का संक्रमण फैलने की शुरुआती वजह बन सकता है।

हंता वायरस लक्षण | symptoms of Hanta virus in hindi

बुखार, सिर में दर्द, सांस लेने में परेशानी, बदन दर्द होता है। इसके अलावा हंता वायरस से संक्रमित होने पर पेट में दर्द, उल्‍टी, डायरिया भी हो जाता है। इलाज में देरी होने पर संक्रमित इंसान के फेफड़े में पानी भी भर जाता है।

हंता वायरस का मामला ऐसे समय में आया है जब विश्व स्तर पर कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 400,000 के करीब है और वैज्ञानिकों को अभी तक इसका इलाज नहीं मिल पाया है। वैश्विक मौत का आंकड़ा 16,500 अंक को पार कर गया है।

One thought on “Hanta Virus meaning in hindi | हंता वायरस

Leave a Reply