Gulzar Shayari in hindi – गुलजार शायरी

Gulzar Shayari in hindi | गुलजार शायरी : उर्दू जगत में आज के समय इतना मशहूर नाम गुलजार साहब के अलावा शायद ही कोई हो. गुलजार साहब की छोटी लाइने ,बड़े-बड़े नजम,कविताएं ,4 लाइनें इस दौर के हर उम्र के लोगों को शायरी करने पर या शायरी पढ़ने पर मजबूर करता है ।

gulzar biography in hindi | गुलजार

गुलजार 1936 में 18 अगस्त को झेलम डिस्ट्रिक्ट पंजाब में पैदा हुए थे । झेलम आज पाकिस्तान में है । गुलजार का बचपन में नाम संपूर्ण सिंह कालरा था जो कि बाद में उन्होंने गुलजार साहब बन गया .अपने मां बाप के चौथे संतान थे और विभाजन के बाद अमृतसर में आकर जीवन चालू किया ।

गुलजार उसके बाद मुंबई गए और वहां पर मैकेनिक का काम चालू किए .जब मकैनिक थे और जीवन मैं जूझ रहे थे तो उनको कवि और कविताओं ने अपनी और खींचा और खाली समय पर कविताएं लिखने लगे ।

फिल्म इंडस्ट्री में उन्होंने विमल राय, ऋषिकेश मुखर्जी और हेमंत कुमार के सहायक के तौर पर काम चालू किया था । 2004 में पद्म भूषण और 2013 में दादा साहेब फाल्के अवार्ड मिला है

वर्ष 2009 में फिल्म स्लम्डाग मिलियनेयर में उनके द्वारा लिखे गीत “जय हो” के लिये उन्हे सर्वश्रेष्ठ गीत का ऑस्कर पुरस्कार मिला है ।

सबसे मशहूर गुलजार की शायरी और गुलजार गजल यहां पर प्रस्तुत की गई है ।

gulzar shayari in hindi font

romantic shayari gulzar, couple shayari by gulzar, gulzaar chhaniwala image,
gulzar motivational shayari in hindi

Badal jao waqt ke saath ya waqt badalna sikho,
majbooriyo ko mat koso har haal me chalna sikho

कही किसी रोज़ यु भी होता ,हमारी हालत तुम्हारी होती
जो रात हमने गुजारी मरके ,वो रात तुमने गुजारी होती

gulzar shayari on life in hindi

kahi kisi roj yu bhi hota, hamari haalat tumhari hoti
Jo raat hamne gujari marke,wo raa ttumne gujari hoti

अच्छी किताबें और अच्छे लोग तुरंत समझमें नहीं आते उन्हें पढना पड़ता हैं

acchi kitabei aur acche log turant samajh me nahi aate unhe padhna padta hai

gulgulzar shayari images in hindi

खन खना खन है ख्यालों में..!
जरुर आज उसने कंगन पहने होंगे…!!

gulzar shayari in hindi on life

khan khana khan hai khayalo me
jaroor aaj usne kangan pehane honge

gulzar shayari on waqt,gulzar shayari in hindi on life, gulzar shayari in hindi pdf, gulzar shayari motivational,

सुनो जरा रास्ता तो बताना ,मोहब्बत के सफर से वापसी है मेरी

suno jara rasta toh batana, mohabbat ke safar me wapasi hai meri

gulzar ki shayari in hindi

कही किसी रोज़ यु भी होता ,हमारी हालत तुम्हारी होती
जो रात हमने गुजारी मरके ,वो रात तुमने गुजारी होती

कुछ अलग करना हो तो भीड़ से हट के चलिए, भीड़ साहस तो देती हैं मगर पहचान छिन लेती हैं |गुलजार की शायरी| Gulzar ki Shayari|

kuch karna hai toh bhid se hat ke chaliye ,bhid sahas toh deti hai magar pehchaan chin leti hai

बहुत अंदर तक जला देती हैं,
वो शिकायते जो बया नहीं होती

shayari by gulzar in hindi font

bahut andar tak jala deti hain,
wo shikayatei jo bayan nahi hoti

होंठ झुके जब होंठों पर,
साँस उलझी हो साँसों में…
दो जुड़वा होंठों की, बात कहो आँखों से.!!

gULZAR sHAYARI

gulzar sahab ki shayari in hindi

क्यूं इतने लफजो में मुझे चुनते हो,
इतनी ईंटें लगती है क्या एक खयाल दफनाने में?

GULZAR SHAYARI

बहुत मुश्किल से करता हूँ,
तेरी यादों का कारोबार,
मुनाफा कम है,
पर गुज़ारा हो ही जाता है…

GULZAR SHAYARI
gulzar shayari on birthday,best shayari of gulzar, best shayari of gulzar in hindi, best shayari of gulzar sahab, bestshayari in images,

“पूछ कर अपनी निगाहों से बता दे मुझको,
मेरी राहों के मुकद्दर में सहर है कि नही..”

GULZAR SHAYARI

गुल से लिपटी हुई तितली को गिराकर देखो,
आँधियों तुमने दरख्तों को गिराया होगा।

shayari of gulzar sahab in hindi

gulzar shayari on love in hindi

gulzar shayari on zindagi in hindi,hindi shayari on life by gulzar, love shayari by gulzar,

“पलक से पानी गिरा है, तो उसको गिरने दो
कोई पुरानी तमन्ना, पिंघल रही होगी!!”

GULZAR SHAYARI

ऐ इश्क़.. दिल की बात कहूँ तो बुरा तो नहीं मानोगे,
बड़ी रहत के दिन थे तेरी पहचान से पहले

gulzar poetry on life in hindi

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी हैं,
उस धड़कन की कसम तू ज़िन्दगी मेरी है,
मेरी तो हर सांस में एक सांस तेरी हैं,
जो कभी सांस जो रुक जाए तो मौत मेरी हैं

mere dil me ek dhadkan teri hai
us dhakan ki kasam tu jindagi meri hai
meri toh har saans me ek saans teri hai
jo kabhi saans ruj jaaye wo maut meri hai

gulzar motivational shayari

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद
दूसरा सपना देखने के हौसले का नाम जिंदगी हैं

ek sapne ke tutkar chaknachur ho jaane ke baad
dusra sapna dekhne ke hausle ka naam jindagi hai

poetry on love in hindi by gulzar

होंठ झुके जब होंठों पर, साँस उलझी हो साँसों में…दो जुड़वा होंठों की, बात कहो आँखों से.!!

gulzar sahab poetry in hindi

कैसे एक लफ्ज़ में बयां कर दूँ..!
दिल को किस बात ने उदास किया ..!! Gulzar Shayari|गुलजार शायरी

कौन कहता हैं की हम झूठ नहीं बोलते एक बार खैरियत तो पूछ के देखियें 

वो मेरे स्कूल के आखिरी इतवार सी थी
आई भी एक रोज, फिर कभी ना आने को

gulzar 2 line shayari

पहली दफा इश्क़ पे ऐतबार हुआ
मैंने पलके क्या झुकाई, हर दिन बस इतवार हुआ

तुझसे इश्क़ बचपन के इतवार सा हो गया है
पीछे छूट गया है पर दिल से नहीं छूट रहा है

जिसको दिन-रात देखते थे हम
उसने एक बार भी नहीं देखा
इश्क़ इतने जतन से करते रहे
हमने इतवार भी नहीं देखा

gulzar ji ki shayari,gulzar 2 line shayari, gulzar best shayari,motivational shayari by gulzar, romantic shayari by gulzar, romantic shayari gulzar,gulzar romantic shayari in hindi,धाकड़ शायरी, बारिश गुलज़ार, बेहतरीन शायरियां, मशहूर शायरी इन हिंदी, मुस्कुराने पर स्टेटस
shayari of gulzar sahab,गुलज़ार मोटिवेशनल कोट्स, गुलजार शायरी इमेज,
Gulzar Shayari | गुलजार शायरी ,shayari of gulzar, shayari of gulzar on life, shayari of gulzar sahab in hindi, shayari on life by gulzar, two line gulzar shayari, zindagi gulzar hai shayari, 'shayari gulzar in hindi,गुलजार छानी वाले की शायरी, गुलजार छानीवाला इमेज,gulzar shayari on life in hindi,shayari by gulzar, shayari by gulzar in hindi font, shayari by gulzar on life, shayari by gulzar on love, shayari by gulzar sahab, shayari gulzar, shayari gulzar hindi font, shayari gulzar in hindi, shayari gulzar sahab, shayari in hindi gulzar,
shayari gulzar in hindi,gulzar shayari romantic, gulzar two line shayari in hindi, hindi shayari by gulzar, hindi shayari gulzar,best gulzar shayari,gulzar shayari on dosti, gulzar shayari on friendship, gulzar shayari on life, gulzar shayari on life in hindi, gulzar shayari on love, gulzar shayari on love in hindi,

रोज़ ही कुछ न कुछ सीखा जाती है ये हमें
ज़िन्दगी के मदरसे में कोई इतवार नहीं होता

आइना देख के तसल्ली हुई ,हमको इस घर में जानता है कोई

चाँद रातों के ख्वाब
उम्र भर की नींद मांगते हैं

romantic poetry in hindi by gulzar

इस दिल का कहा मनो एक काम कर दो
एक बे-नाम सी मोहब्बत मेरे नाम करदो
मेरी ज़ात पर फ़क़त इतना अहसान कर दो
किसी दिन सुबह को मिलो, और शाम कर दो.

gulzar poetry in hindi font

*कभी वक्त निकाल के, हमसे बातें करके देखना…*
*हम भी बहुत जल्दी, बातों मे आ जाते है*

दर्द सबसे ज्यादा हमें तब होता है ऐ जिंदगी,
जब हम अपना दर्द किसी को बता नहीं पाते !!

हँदी वाले हाथों के कन्धों से
दुपट्टा सरकना,
आफतें क्या क्या

शायर बनना बहुत आसान है…
बस एक अधूरी मोहब्बत की मुकम्मल डिग्री चाहिए.

कोई पुछ रहा हे मुजसे मेरी जीन्दगी की कीमंत…. मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना

poetry of gulzar in hindi

कोई पूछ रहा हे मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत…
मुझे याद आ रहा हैं तेरे हल्के से मुस्कुराना

gulzar dard shayari

मेरी खामोशी मे सन्नाटा भी है शोर भी है, 
तुने देखा ही नहीं…
आखों में कुछ ओर भी है

gulzar poetry in hindi

ख्वाहिशें कुछ कुछ यु भी अधूरी रही
पहले उम्र नहीं थी अब उम्र नहीं रही

gulzar shayari on love

मिलता तो बहुत कुछ है जिंदगी में ,बस हम गिनती उसी की करते है जो हासिल न हो सका |

कुछ रिश्तो में मुनाफा नहीं होता
जिंदगी को अमिर बना देते है |

जब भी ये दिल उदास होता है
जाने कौन आस-पास होता है

कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ़
किसी की आंख में हम को भी इंतिज़ार दिखे

gulzar dil se shayari

ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में
एक पुराना ख़त खोला अनजाने में

हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में
रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया

जिस की आंखों में कटी थीं सदियां
उस ने सदियों की जुदाई दी है

फिर वहीं लौट के जाना होगा
यार ने कैसी रिहाई दी है

सहमा सहमा डरा सा रहता है
जाने क्यूं जी भरा सा रहता है

मैं चुप कराता हूं हर शब उमड़ती बारिश को
मगर ये रोज़ गई बात छेड़ देती है

shayari by gulzar on love

साथ-साथ घूमते हैं में और वो अक्सर,
लोग मुझे आवारा और उसे चाँद कहते हैं!

उनकी यादों से ही खुद को इतना गुलज़ार रखता हूँ,
की तनहाइयाँ दम तौड़ देती है मेरी चौखट पर आकर!

ove shayari gulzar,gulzar shayari image, gulzar shayari images, gulzar shayari images in hindi, gulzar shayari in english, gulzar shayari in hindi, gulzar shayari in hindi 2 lines, gulzar shayari in hindi font,shayari by gulzar in hindi,gulzar motivational shayari, gulzar romantic shayari, gulzar sad shayari, gulzar sahab ki shayari, gulzar sahab ki shayari in hindi, gulzar sahab shayari, gulzar sahab shayari in hindi, gulzar shayari, gulzar shayari book, gulzar shayari hindi,

ऐसा तो कभी हुआ नहीं,
गेल भी लगे और छुआ भी नहीं!

इतने लोगों में कह दो अपनी आँखों से,
इतना ऊँचा न ऐसे बोला करे, लोग मेरा नाम जान जाते हैं!

हाथ छुटे तो भी रिश्ते नहीं छोड़ा करते,
वक़्त की शाख से रिश्ते नहीं तोड़ा करते!

रात को भू कुरेद कर देखो,
अभी जलता हो कोई पल शायद!

love shayari by gulzar

अपने साए से चौक जाते हैं हम,
उम्र गुजरी है इस कदर तनहा!

ज़िन्दगी यूँ हुई बरस तन्हा,
काफिला साथ और सफ़र तन्हा!

जिसकी आँखों में कटी थी सदियाँ,
उसी ने सदियों की जुदाई दी है!

वो चीज़ जिसे दिल कहते हैं, हम भूल गए हैं रख के कहीं…

gulzar romantic shayari

आप के बाद हर घड़ी हमने
आप के साथ ही गुज़ारी है

gulzar shayari on love in hindi

दर्द की अपनी भी एक अदा है ,वह भी सहने वालो पे फ़िदा है |

मां ने जिस चांद सी दुल्हन की दुआ दी थी मुझे
आज की रात वह फ़ु टपाथ से देखा मैंने
रात भर रोटी नज़र आया है वो चांद मुझे

love shayari by gulzar

ज़मीं भी उसकी ,ज़मी की नेमते उसकी
ये सब उसी का है,घर भी,ये घर के बंदे भी
खुदा से कहिये ,कभी वो भी अपने घर आयें

.सारा दिन बैठा मैं ,हाथ में लेकर खाली हाथ कासा
रात जो गुजरी ,चाँद की कौड़ी डाल गयी उसमे
सूदखो़र सूरज कल मुझसे ये भी लेजायेगा।

motivational shayari by gulzar

gulzar sahab shayari in hindi,best gulzar shayari, best of gulzar shayari, best shayari by gulzar, best shayari in images,  गुलजार शायरी,

कभी कभी बाजा़र में यूँ भी हो जाता है
कीमत ठीक थी,जेब म.इतने दाम नहीं थे में
ऐसे ही एक बार मै तुमको हार आया

बदल जाओ वक़्त के साथ या वक़्त बदलना सीखो,
मजबूरियों को मतं कोसो, हर हाल में चलना सीखो!

अब शाम नहीं होती, दिन ढल रहा है…
शायद वक़्त सिमट रहा है!!

वक़्त भी हार जाते हैं कई बार ज़ज्बातों से,
कितना भी लिखो, कुछ न कुछ बाकि रह जाता है!!

gulzar love shayari in hindi

एक पुराना ख़त खोला जब अनजाने में,
खुशु जैसे लोग मिले अफसाने में!!

gulzar shayari on eyes

जिसकी आँखों में कटी थी सदियाँ,
उसी ने सदियों की जुदाई दी है!!

महफ़िल में गले मिलकर वह धीरे से कह गए,
यह दुनिया की रस्म है, इसे मुहोब्बत मत समझ लेना!!

People Also Like:
ओशो कोट्स |Osho Quotes in Hindi
Swami Vivekanand Quotes in hindi|स्वामी विवेकानंद के सर्वश्रेष्ठ विचार
subhash chandra bose quotes in hindi नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के अनमोल विचार
Gautam Buddha Quotes in Hindi गौतम बुद्ध के अनमोल विचार

5 thoughts on “Gulzar Shayari in hindi – गुलजार शायरी”

Leave a Comment

%d bloggers like this: