Advertisements

Football essay in hindi | फुटबॉल का असल इतिहास क्या है ?

फुटबॉल खेल की उत्पत्ति

फुटबॉल पूरी दुनिया में खेला जाने वाला प्रसिद्द खेलो में से एक है। ब्राज़ील स्पेन, फ्रांस, अर्जेंटीना आदि कई बड़े देशों के लोगों में इस खेल के प्रति एक नशा और जूनून देखा जा सकता है. ये 11 लोगो के टीम स्पोर्ट है जिसमें दो टीम एक दुसरे के विरुद्ध खेलते है. इसमें गोल कीपर, बैकी आदि रूप में एक दल के खिलाड़ी अपना फ़र्ज़ निभाते हैं. इस खेल का मुख्य उद्देश्य अपने विरोधी दल के खेमे में गोल करना होता है

इतिहासकारो के हिसाब से कुजू (cuju) का खेल फूटबाल के नजदीकी था। यह चाइना में ईसा पूर्व दूसरी तथा तीसरी सदी में पाया गया है। 1409 ई में ब्रिटेन के राजकुमार हेनरी चतुर्थ ने पहली बार अंग्रेजी में ‘फुटबॉल’ शब्द का इस्तेमाल किया था. इसके साथ ही लैटिन में भी इसका एक विस्तृत इतिहास रहा है. मध्य 19 वीं शताब्दी में व्यापक रूप से फुटबॉल के विभिन्न रूप के साथ इंग्लैंड में खेला गया था, फुटबॉल के आधुनिक नियम पर आधारित था।

फुटबॉल का परिचय

  • फुटबॉल एक ऐसा खेल है जिसमें बॉल को पैर से ठोकर मारकर खेला जाता हैं इसीलिए इसे फुटबॉल कहा जाता हैं.
  • दो प्रतिद्वंदी टीमों के मध्य खेला जाने वाला यह एक बाहर खुले में खेला जाने वाला खेल है
  • खेल में दोनों टीमों के 11-11 खिलाड़ी खेल का हिस्सा होते हैं.
  • खेल की अवधि 90 मिनट होती है
  • 45-45 मिनट के दो मध्यांतर में विभाजित कर खेला जाता हैं.
  • खेल में खिलाडी अपने विपक्षी के खिलाफ अधिक से अधिक गोल करने का प्रयत्न करती हैं.
  • अंत में जो टीम सर्वाधिक गोल करती है वह खेल जीत है

फुटबॉल खेलने के नियम

  • प्रत्येक टीम में अधिकतम ग्यारह खिलाड़ी होते हैं उसमें से एक खिलाड़ी गोलकीपर (goalkeeper) होना चाहिए।
  • गोल कीपर एकमात्र ऐसा खिलाड़ी होता है जिसे अपने हाथ या बाँह में गेंद पकड़ कर खेलने की अनुमति होती है लेकिन वह अपने गोल के सामने पेनाल्टी क्षेत्र तक ही ऐसा कर सकता है।
  • खिलाड़ी को ऐसा कुछ पहनने या इस्तेमाल करना वर्जित है जो उसके ख़ुद या अन्य खिलाडियों के लिए खतरनाक साबित हो जैसे गहने या घड़ी।
  • अनेक खिलाड़ी खेल के बीच में स्थानापन्न के द्वारा बदले जा सकते हैं।
  • अधिकतर अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं और घरेलू लीग खेलों में अधिकतम तीन खिलाड़ीयों को बदलने की अनुमति प्राप्त है,
  • खिलाड़ी को बदलने के पीछे सामान्यतः कारण चोट, थकान, युद्ध क्षमता कम हो जाना, तकनीकी, या असमंजस खेल के अंत में समय की व्यर्थता आदि के लिए होते हैं।
  • आदर्श व्यस्क मैचों में जो खिलाड़ी एक बार बदल जाते हैं वे मैच का हिस्सा नहीं रहते हैं
  • मैच के लिए जिस रेफरी (referee) को नियुक्त किया जाता है उस मैच में उसके पास खेल के नियमों को लागू करने का पूर्ण अधिकार होता है और उसका निर्णय अन्तिम होता है।
  • रेफरी दो सहायक रेफरी के द्वारा सहायता ग्रहण करता है।

फुटबॉल पिच

अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए पिच की लम्बाई 100- 110 मीटर की श्रेणी में है और चौडाई 64-75 मीटर की श्रेणी में है . प्रत्येक गोल के सामने का क्षेत्र पेनाल्टी क्षेत्र के रूप में जाना जाता है। यह क्षेत्र गोल रेखा के द्वारा चिन्हित रहती है, दो रेखाएं गोल पोस्ट से शुरू होती और जो गोल पोस्ट से 16.5 मीटर की दूरी तक होती हैं

 फुटबॉल पिच
फुटबॉल पिच

फुटबॉल में प्रमुख अन्तर राष्ट्रीय प्रतियोगिता

फीफा द्वारा आयोजित विश्व कप (World Cup) एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता है। चार साल में एक बार इस प्रतियोगिता का आयोजन होता है। 190 से भी ज्यादा राष्ट्रीय टीम अर्हत प्रतियोगिता में महाद्वीपीय संघ के फाइनल में स्थान पाने के लिए भाग लेते हैं .

चार साल में एक बार आयोजित होने वाले इस प्रतियोगिता में बतीस टीम भाग लेती है और यह तक़रीबन चार सप्ताह तक चलती है।2022 में क़तर में वर्ल्ड कप होगा

निष्कर्ष

यह एक मनोरंजन और आनंद के लिए खेला जाने वाला प्रतियोगी खेल है, । यह बहुत तरीकों से खिलाड़ियों को शारीरिक लाभ प्रदान करता है क्योंकि, यह सबसे अच्छा व्यायाम होता है।

यह टीम वाला खेल है, जिसमें दोनों टीमों का लक्ष्य अपनी विरोधी टीम के खिलाफ अधिकतम गोल बनाना होता है। और अन्त में वही टीम विजेता होती है, जो मैच के आखिर में अधिकतम गोल बनाती है। इसकी प्रसिद्धि इसी बात से जानी जा सकती है की विश्व कप के लिए १९० देश भाग लेते है

football rules in hindi download
क्लिक करें

Leave a Comment