Advertisements

Chanakya Niti in Hindi – चाणक्य नीति श्रेष्ठ मनुष्य

Chanakya Niti In Hindi: चाणक्य नीति में मनुष्य को श्रेष्ठ बनने के लिए बहुत सी बातें बताई गयी हैं

व्यक्ति चाहता है की लोग उसे याद रखें, उसकी तारीफ करें. लेकिन ये हर किसी के नसीब में नहीं होती है.

सफल वही है जो समाज में अनुकरणीय हो | somoene whom society follows

यानि सफल वही है जो जीवित और मृत्यु के बाद भी लोगों को याद आए. लोग उसके योगदान, प्रतिभा, कार्यों की चर्चा करें. चाणक्य के अनुसार धन और पद से किसी भी व्यक्ति को सफल नहीं माना जाता है.

वर्तमान समय में चाणक्य की यह शिक्षा प्रासंगिक है. हर व्यक्ति चाहता है की लोग उसकी प्रशंसा करें.लेकिन ये मुश्किल है. प्रंशसा और सम्मान विरले लोगों को ही प्राप्त होता है.

चाणक्स के अनुसार असली प्रशंसा वह है जो आपके शत्रु को भी आपकी तारीफ करने के लिए मजबूर कर दे.

चाणक्य के अनुसार जब व्यक्ति में ये गुण होते हैं तो उसे समाज में सम्मान भी मिलता है और प्रशंसा भी प्राप्त होती है-

chanakya Niti on success in hindi

सत्य का मार्ग | Path of truth in hindi

सत्य के मार्ग पे पर चलना आसान नहीं है. लेकिन जब व्यक्ति इस रास्ते पर निकल पड़ता है तो वो लोग भी सराहना करने लगते हैं जो कल तक उसकी आलोचना करते थे जो व्यक्ति जीवन में सत्य का मार्ग अपनाता है उसे सम्मान प्राप्त होता है. यह मार्ग ही व्यक्ति को शिखर पर पहंचाता है.

सम्मान देने से मिलता है |

चाणक्य निति का अहम सिद्ध्नात है सामने देने वाले को भी सम्मान प्रदान किया जाए. जो लोग दूसरों को सम्मान देते हैं वे ही समाज में सम्मान के हकदार होते हैं. जो दूसरों को लज्जित करने में गौरव महसूस करता है उसे जीवन में कभी सम्मान प्राप्त नहीं होता है.

व्यक्ति महान अपने कर्मों से बनता है. जो व्यक्ति दी गई जिम्मेदारियों पर खतरा उतरता है. पूरी ईमानदारी से जिम्मेदारियों को पूर्ण करता है. वह व्यक्ति सम्मान पाने योग्य है

जिम्मेदारी वाला आदमी प्रसंसनीय है

ज्ञान का समाज हित में प्रयोग : ज्ञान का असली अर्थ लोगों को जागरुक करना है. जो सही और गलत का भेद बताए वही ज्ञान है. ज्ञान का प्रयोग जो लोग समाजहित में प्रयोग करते हैं वे समाज में अनुकरणीय होते हैं.

Leave a Reply

%d bloggers like this: