Chanakya Niti in hindi | चाणक्य नीति

chanakya neeti in hindi

chadak ki niti hindi,chanakya niti hindi me,

chanakya neeti in hindi love

chanakya niti in hindi language in pdf,

संकट में बुद्धि भी काम नहीं आती है।

chanakya niti for family in hindi,

जो जिस कार्ये में कुशल हो उसे उसी कार्ये में लगना चाहिए।

chanakya niti darpan in hindi pdf,

किसी भी कार्य में पल भर का भी विलम्ब ना करें

Advertisements

Chanakya Niti Dushman

अगर शत्रु आपसे अधिक बलशाली है तो उसे उसी की तरह व्यवहार करके पराजित किया जा सकता है,

अगर शत्रु आपके समान बलशाली है तो उसे विनय पूर्वक पराजित किया जा सकता है,

शत्रु से घिरे होने पर भागना नहीं चाहिए । इससे आपकी शक्ति क्षीण हो सकती है।

chanakya’s niti darpan

अपने शत्रु से एक खिलाडी की तरह निपटना चाहिए|

आप कभी भी अपने दुष्मन को घायल करके न छोड़े, क्योकि एक घायल शत्रु को आपसे बदला लेने की इच्छा और अधिक जागरूक हो जाती है.| Chanakya Niti Dushman |

कभी भी अपने शत्रु के अच्छे व्यहवार और उसकी सच्ची मित्रता पर भरोसा न करे| Chanakya neeti dushman |

आचरण से व्यक्ति के कुल का परिचय मिलता है । बोली से देश का पता लगता है । आदर-सत्कार से प्रेम का तथा शरीर को देखकर व्यक्ति के भोजन का पता चलता है

जिस से प्रेम होता है उसी से भय भी होता है । प्रेम ही सारे दुःखो का मूल है, अतः प्रेम – बन्धनों को तोड़कर सुखपूर्वक रहना चाहिए ।

चाणक्य नीति दुश्मन

chanakya neeti hindi book,

वही पत्नी है, जो पवित्र और कुशल हो । वही पत्नी है, जो पतिव्रता हो । वही पत्नी है, जिसे पति से प्रीति हो । वही पत्नी है, जो पति से सत्य बोले

किसी सभा में कब क्या बोलना चाहिए, किससे प्रेम करना चाहिए तथा कहां पर कितना क्रोध करना चाहिए जो इन सब बातों को जानता है, उसे ज्ञानी व्यक्ति कहा जाता है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.