Helicopter Money in hindi kya hai? हेलीकॉप्टर मनी क्या है ?

‘हेलीकॉप्टर मनी’ की चर्चा पिछले कुछ दिनों से हो रही यह टर्म अर्थशास्त्री मिल्टन फ्रीडमैन का दिया हुआ है। इसका मतलब रिज़र्व बैंक रुपये को प्रिंट करना और सीधे सरकार को दे देना ताकि वह जनता में बाँट दे जिससे लोग अपनी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ती कर सकें. 

Helicopter Money का उपयोग किसी संघर्षरत अर्थव्यवस्था को एक गहरी मंदी से बाहर निकालने के इरादे से किया जाता है.

सरकार इसके बाद इन रुपये को जनता में बांट दे, जिससे लोगों की बेसिक जरूरतें पूरी हो सकें।

इसको ‘हेलीकॉप्टर मनी’ कहा जाता है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं होता कि सरकार हेलीकॉप्टर के जरिए पैसे शहरों में गिराती है। यह प्रतीकात्मक रूप से हेलीकाप्टर से पैसा बरसाने जैसा ही है क्योंकि जनता को इस अप्रत्याशित धन की उम्मीद नहीं थी

किसी संघर्षरत अर्थव्यवस्था को गहरी मंदी से बाहर निकालने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। भारत में 24 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, इसको बढ़ाकर 17 मई तक कर दिया गया।

हेलिकॉप्टर मनी के तहत दिया गया पैसा सरकार को सेंट्रल बैंक को रिफंड नहीं करना पड़ता है.

जबकि  क्वांटिटेटिव ईजिंग के तहत भी सेंट्रल बैंक नोटों की छपाई करता है और सरकार को दे देता है लेकिन सेंट्रल बैंक, सरकारी बॉन्ड खरीदता है तभी सरकार को पैसे देता है.

 बाद में सेंट्रल गवर्नमेंट को ये बांड्स वापस खरीदकर रिज़र्व बैंक को पैसा लौटाना पड़ता है.

क्या हेलिकॉप्टर मनी देश हित में है? (Is Helicopter Money Good for Economy)

हेलिकॉप्टर मनी के मुद्रा स्फीति बढती है अर्थात देश की मुद्रा की वैल्यू कम होती है. यदि सरकार कोविड 19 से निपटने के लिए अर्थव्यवस्था में रुपये छोड़ देती है तो एक बहुत बड़ी मात्रा में बाजार में मुद्रा की सप्लाई हो जाएगी जो कि आगे उन्ही गरीबों के लिए संकट पैदा करेगी जिनके लिए आज यह पैसा बाजार में उतारा जा रहा है.

इसलिए Helicopter Money एक प्रकार से दुधारी तलवार है और सरकार को इसका इस्तेमाल ध्यान से करने की जरूरत है. अगर आप ऐसे ही और रोचक लेख पढना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें ।

अमेरिका कोरोना वायरस महामारी का केंद्र बन गया है तो ‘हेलिकॉप्टर मनी’ की गूंज फिर से सुनाई देने लगी है। अमेरिका में बेरोजगारी दर 20-30 % की आशंका व्यक्त की गई है। कोलंबिया यूनिवर्सिटी में स्कूल ऑफ पब्लिक एंड इंटरनेशनल अफेयर्स के प्रोफेसर विलेम बुइटर कहते हैं, “ऐसा करने का यही वक्त है।”

gita gopinath success story in hindi – गीता गोपीनाथ असल में कौन है ?

गीता का जन्म 1971 में भारत के मैसूर शहर में हुआ था। उनके पिता टी.वी. गोपीनाथ केरल के कन्नूर जिले के किसान और उद्यमी हैं।

उन्होंने स्नातक की डिग्री लेडी श्रीराम कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय (1992 ) से प्राप्त की और फिर उन्होंने वाशिंगटन विश्वविद्यालय (1996 ) से एम.ए. की। 2001 उन्होंने प्रिंसटन विश्वविद्यालय से पीएचडी पूरी की।

फ़िलहाल वह 2019 से अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के मुख्य अर्थशास्त्री हैं । उन्होंने 1 जनवरी, 2019 से इस पद को संभाला. वह इस दायित्व को संभालने वाली पहली महिला हैं.

47 साल की गीता गोपीनाथ हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र पढ़ाती रही हैं.. वह मुद्राकोष की चीफ इकोनॉमिस्ट और इसके अनुसंधान विभाग की निदेशक बनाई गई हैं.

उस भूमिका में वह IMF के अनुसंधान विभाग की निदेशक और कोष की आर्थिक परामर्शदाता हैं।

वह फेडरल रिजर्व बैंक ऑफ न्यू यॉर्क के सलाहकार भी हैं। केरल की वामपंथी सरकार द्वारा जुलाई 2016 को उन्हें केरल के मुख्यमंत्री का वित्तीय सलाहकार नियुक्त किया गया था।

गोपीनाथ को अक्टूबर 2018 में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में नियुक्त किया गया था।

गीता गोपीनाथ (जन्म 8 दिसंबर 1971) एक भारतीय अमेरिकी अर्थशास्त्री हैं जो उस भूमिका में वह IMF के अनुसंधान विभाग की निदेशक और कोष की आर्थिक परामर्शदाता हैं।

वह संपादकीय पदों के साथ जुड़ी हुए हैं:

अमेरिकी आर्थिक समीक्षा, अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्र जर्नल
आई.एम.एफ. आर्थिक समीक्षा
उभरते बाजार अर्थव्यवस्थाओं में मैक्रोइकॉनॉमिक्स एंड फाइनेंस

द डेली शो में ट्रेवर नूह (Trevor Noah )के साथ एक साक्षात्कार में गोपीनाथ ने 2020 की विश्वव्यापी मंदी को “द ग्रेट लॉकडाउन” नाम दिया।

Happy Maharashtra Day 2020 in hindi | महाराष्ट्र दिवस प्रेरक संदेश और शुभकामनाएँ

महाराष्ट्र दिवस, जिसे आमतौर पर ‘महाराष्ट्र दिवस’ या ‘महाराष्ट्र दिवस’ के रूप में जाना जाता है, महाराष्ट्र के लोगों द्वारा प्रत्येक वर्ष 1 मई को राज्य के गठन को मनाने के लिए मनाया जाता है।

महाराष्ट्र की संस्कृति और परंपरा को मनाने के लिए इस दिन विशेष परेड, भाषण और समारोह आयोजित किए जाते हैं। महाराष्ट्र के राज्यपाल इस दिन को सम्मानित करने के लिए मुंबई के शिवाजी पार्क में भाषण देते हैं।

राज्य सरकार द्वारा ’महाराष्ट्र दिवस’ पर विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया जाता है। हालांकि, इस बार, राष्ट्रव्यापी कोरोनोवायरस लॉकडाउन के कारण इस तरह के उत्सव नहीं होंगे।

हालाँकि आप अभी भी इस दिन को मनाने के लिए परिवार और दोस्तों को कुछ प्रेरक संदेश और शुभकामनाएँ भेज सकते हैं।

महाराष्ट्रीयन होने पर गर्व करें। भारत को चमकदार बनाने के लिए राज्य अन्य राज्यों के साथ मिलकर काम करता है। जय महाराष्ट्र।

इस दिन आपको और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएँ । हैप्पी महाराष्ट्र डे।

महाराष्ट्र में रहने वाले सभी लोगों को बधाई, हैप्पी महाराष्ट्र डे 2020। लॉन्ग लाइव महाराष्ट्र

महाराष्ट्र के इस दिन, हमारे राज्य को एकजुट करने और एक साथ नई ऊंचाइयों पर ले जाने का वादा करें।

हमें महाराष्ट्र में पर गर्व है। हमें मराठी भाषा पर गर्व है। हमें अपनी संस्कृति पर गर्व है। आप सभी को हैप्पी महाराष्ट्र दिवस 2020 की शुभकामनाएं।

महाराष्ट्र के लोगों को शुभकामनाएं। यह राज्य आने वाले वर्षों में नए विकास के साथ प्रगति करेगा। लॉन्ग लाइव महाराष्ट्र।

संविधान ने हमें विश्वास, स्वतंत्रता और शांति दी। इसलिए, इस दिन को गर्व के साथ मनाएं। हैप्पी महाराष्ट्र डे 2020।

HDFC Full Form in Hindi ? एचडीएफसी बैंक का इतिहास क्या है ?

HDFC Full Form in Hindi : HDFC का फुल फॉर्म Housing Development Financial Corporation होती है. इसको हिंदी मे हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंशियल कॉरपोरेशन कहते है.

hdfc bank information in hindi

हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंशियल कॉरपोरेशन Bank Limited एक भारतीय बैंकिंग और वित्तीय सेवा Company है. इस बैंक का Headquarters मुंबई, महाराष्ट्र में हैं.

26 February, 2000 को Times Bank का अधिग्रहण एचडीएफसी बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक की Approved से किया था. 30 जून 2019 तक 104154 स्थायी कर्मचारियों का आधार हैएचडीएफसी बैंक संपत्ति के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का बैंक है।

मार्च 2020 तक बाजार पूंजीकरण के हिसाब से यह भारत का सबसे बड़ा बैंक है

about hdfc bank in hindi

Housing Development Financial Corporation (HDFC) Bank मे Times Bank का विलय निजी Banks में होने वाला यह पहला विलय था. 23 May 2008 को HDFC Bank ने सेंचुरियन Bank of Punjab का अधिग्रहण किया.

Bank के पास आज के समय में ऋण उत्पादों, बैंकिंग सेवाओं और बीमा सेवाओं की विस्तृत श्रृंखला प्रदान करने के लिए सहायक कंपनियों की एक बहुत लंबी और विविध सूची है.

इसकी कुछ लोकप्रिय सहायक कंपनियां के नाम आप नीचे देख सकते है.

hdfc hindi,
hdfc bank details in hindi,
hdfc bank about in hindi,
hdfc bank full information in hindi,
hdfc hindi mai,
hdfc personal loan in hindi,
hdfc netbanking hindi
hdfc bank news hindi,
hdfc home loan details in hindi,
hdfc bank full details in hindi,
hdfc home loan information in hindi,
hdfc bank news today in hindi,

एचडीएफसी कंपनी | hdfc bank in hindi

एचडीएफसी कंपनी का इतिहास  दिलचस्प रहा है. 17 अक्टूबर सन 1977 को HDFC को पब्लिक लिमिटेड कंपनी के रूप में स्थापित किया गया था. उस समय  कंपनी को इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने बढ़ावा दिया था.

 सन 1980 में, इसने लोन लिंक्ड डिपॉजिट स्कीम शुरू की, जिसमें किसी को एचडीएफसी के साथ पासबुक खाते से शुरुआत करनी थी, जो लोन के लिए योग्य हो गया हो.

इसके बाद फिर सन 1981 में एचडीएफसी ने गैर-निवासी प्रमाण पत्र जमा योजना को शुरू किया.

इसने फिर सन 1985 में होम सेविंग प्लान की शुरुआत की जिसने हर एक व्यक्ति को प्रति वर्ष 8.5% की दर से घर खरीदने के लिए सक्षम किया.

इसके बाद सन 1986 में, इसने उन्नत प्रसंस्करण सुविधा नामक एक सेवा को शुरू किया जिसके तहत बिल्डर अपनी परियोजनाओं में आवास खरीदने वाले व्यक्तियों को वित्त प्रदान कर सकते थे.

इसके बाद फिर 1994 में, HDFC ने बैंकिंग सेवाओं की पेशकश करने के लिए HDFC बैंक को बढ़ावा दिया. यह एक निजी क्षेत्र का बैंक था जिसे RBI की मंजूरी के साथ स्थापित किया गया था.

एचडीएफसी |hdfc in hindi

सन 1999 में, इसने अपनी वेबसाइट www.hdfcindia.com लॉन्च की जो अब www.hdfc.com के रूप में जानी जाती है.

इसके बाद सन 2000 में इसने मुंबई में एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ ऑफिस को शामिल किया और 2002 में USA ने एचडीएफसी चूब जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को सामान्य बीमा की पेशकश करने के लिए पदोन्नत किया.

2009-10 में इसने एचडीएफसी सिस्टेमैटिक सेविंग प्लान  SIP in hindi की पेशकश की. यह एक मासिक बचत योजना थी जिसमें ब्याज की एक परिवर्तनीय दर थी.

30 जून, 2019 तक, 2,764 शहरों में बैंक का वितरण नेटवर्क 5500 शाखाओं में था ।

बैंक ने 430,000 पीओएस टर्मिनल भी स्थापित किए और वित्त वर्ष 2017 में 23570,000 डेबिट कार्ड और 12 मिलियन क्रेडिट कार्ड जारी किए

उत्पाद और सेवा | hdfc bank information in hindi

एचडीएफसी बैंक होलसेल बैंकिंग, रिटेल बैंकिंग, ट्रेजरी, ऑटो लोन, टू व्हीलर लोन, पर्सनल लोन, प्रॉपर्टी के खिलाफ लोन, कंज्यूमर ड्यूरेबल लोन, लाइफस्टाइल लोन और क्रेडिट कार्ड सहित कई उत्पाद और सेवाएं प्रदान करता है।

इसके साथ ही विभिन्न डिजिटल उत्पाद Payzapp और SmartBUY भी देता है ।

Chanakya niti shlok and meaning in hindi ? चाणक्य नीति शास्त्र श्लोक क्या है ?

चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में एक श्लोक लिखा है यह श्लोक इस प्रकार है- 

दुष्टा भार्या शठं मित्रं भृत्यश्चोत्तरदायक:।
स-सर्पे च गृहे वासो मृत्युरेव न संशय:।।

इस  श्लोक में चरित्रहीन स्त्री, धूर्त मित्र, जवाब देने वाला नौकर और सांप के निवास वाले घर से सदैव दूर रहने के के पक्ष में कहा गया है

ऊपर लिखे श्लोक का अर्थ है- दुष्ट स्वभाव वाली, कड़वा बोलने वाली, बुरे चरित्र वाली स्त्री, नीच और कपटी मित्र, पलटकर जवाब देने वाला नौकर और सांप वाला घर इन चारों के साथ रहने पर मृत्यु आने में कोई संकोच नहीं है ।

Chanakya niti shlok and meaning in hindi ,chanakya niti sanskrit shlok,chanakya niti shlokas and meaning in hindi,

चाणक्य का मानना था  कि जिस स्त्री का चरित्र  ढीला हो या जो अपने पति से संतुष्ट ना रहती हो  जिसका स्वभाव दुष्ट हो ऐसी स्त्री से हमेशा अलग रहना चाहिए।

ऐसी स्त्री  घर को तबाह कर देती है। इनका पति उसके स्वभाव को देखकर घुटघुट कर मरता है। ऐसी स्त्री को कभी भी पत्नी नहीं बनाना चाहिए ।

लेकिन यदि कोई कपटी या धूर्त मित्र हो तो वह सबसे बड़ा शत्रु होता है। उसको आपके सारे राज मालूम होते हैं। उसका विश्वासघात  कई बार हमारे लिए असहनीय हो जाता है। ऐसे मित्रों से तुंरत ही दूर हो जाना चाहिए

घर में नौकर रखना  कोई आसान बात नहीं है और आपके पास धन होने का सूचक है।  लेकिन नौकर के साथ साथ उसकी बुरी आदतें भी अगर जाए तो दिक्कत हो सकती है  । जिन लोगों के नौकर सामने से जवाब देते हैं, मालिक का आदर नहीं करते उन्हें तुरंत हटा देना चाहिए।

  ऐसे नौकर अपने मालिक को कभी भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

चाणक्य ने लिखा है की  जिस घर में सांप  अक्सर सांप दिखाई देते हैं वहां रहने पर भी सांप के काटने से मृत्यु का भय हमेशा ही बना रहता है। इसलिए ऐसे घर को तुंरत छोड़ देना चाहिए।

What is panchayati raj in hindi ? पंचायती राज व्यवस्था क्या है ?

भारत में पंचायती राज आम तौर पर ग्रामीण भारत में गांवों की स्थानीय स्वशासन को दर्शाता है करता है । इस प्रणाली को 1992 में एक संवैधानिक संशोधन द्वारा पेश किया गया था। यह भारतीय पंचायत प्रणाली पर आधारित है।

महात्मा गांधी ने भारत की राजनीतिक प्रणाली की नींव के रूप में पंचायती राज की वकालत की थी ।सरकार के विकेंद्रीकृत रूप के रूप में जिसमें प्रत्येक गांव अपने मामलों के लिए जिम्मेदार होगा।

इसके उलट भारत ने सरकार का एक उच्च केंद्रीकृत रूप विकसित कर दिया है

आधुनिक पंचायती राज और उसकी ग्राम पंचायतों को उत्तरी भारत में पाए जाने वाले अतिरिक्त संवैधानिक खाप पंचायतों (या जाति पंचायतों) के साथ भ्रमित नहीं करना चाहिए ।

पंचायत राज प्रणाली को पहली बार राजस्थान के नागौर जिले में 2 अक्टूबर 1959 को अपनाया गया था, लेकिन सबसे पहले आंध्र प्रदेश द्वारा शुरू किया गया था ।

panchayati raj in hindi,panchayati raj up,
basic knowledge of panchayati raj in hindi,
panchayati raj vyavastha in hindi pdf
panchayati raj up 2020,
panchayati raj up pradhan list,
panchayati raj adhiniyam in hindi pdf,
bharat me panchayati raj kab lagu hua,
panchayati raj vyavastha kya hai,

भारत में पंचायती राज | Panchayti Raj System in India

शासन की एक प्रणाली के रूप में कार्य करता है जिसमें ग्राम पंचायतें स्थानीय प्रशासन की बुनियादी इकाइयाँ हैं।

प्रणाली के तीन स्तर हैं: ग्राम पंचायत (ग्राम स्तर), मंडल परिषद या ब्लॉक समिति या पंचायत समिति (ब्लॉक स्तर) और जिला परिषद (जिला स्तर)।

वर्तमान मे पंचायती राज व्यवस्था नागालैंड, मेघालय और मिजोरम को छोड़कर सभी राज्यों और दिल्ली को छोड़कर सभी केंद्र शासित प्रदेशों में मौजूद है।

पंचायतों को तीन स्रोतों से धन प्राप्त होता है:

  • स्थानीय निकाय अनुदान, केन्द्रीय वित्त आयोग द्वारा अनुशंसित
  • केंद्र प्रायोजित योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए धन
  • राज्य सरकारों द्वारा राज्य वित्त आयोगों की सिफारिशों पर जारी धन

ग्राम पंचायत सभा |Gram Panchayat Sabha in hindi

सरपंच इसका निर्वाचित प्रधान होता है। ग्राम पंचायत के सदस्यों को प्रत्येक से पांच साल की अवधि के लिए ग्राम सभा के सदस्यों द्वारा चुना जाता है।

आमदनी का जरिया

  • स्थानीय रूप से एकत्र किए गए कर जैसे पानी, तीर्थ स्थान, स्थानीय मंदिर (मंदिर) और बाजार
  • राज्य सरकार से एक निश्चित अनुदान भू राजस्व और परिषदों को सौंपे गए कार्यों और योजनाओं के लिए धन के अनुपात में
  • दान

ब्लॉक स्तर की पंचायत या पंचायत समिति | Block level panchayat or Panchayat Samiti

एक पंचायत समिति (ब्लॉक पंचायत) तहसील स्तर पर एक स्थानीय सरकारी निकाय है। यह निकाय तहसील के उन गांवों के लिए काम करता है जिन्हें एक साथ “विकास खंड” कहा जाता है। पंचायत समिति ग्राम पंचायत और जिला प्रशासन के बीच की कड़ी है।

रचना | Panchayat Samiti composition in hindi


ब्लॉक पंचायत में सदस्यता ज्यादातर पूर्व-आधिकारिक है; यह पंचायत समिति क्षेत्र के सभी सरपंचों (ग्राम पंचायत अध्यक्षों), क्षेत्र के सांसदों और विधायकों, उप-जिला अधिकारी (एसडीओ), सह-ऑप्ट सदस्यों (एससी / प्रतिनिधियों के प्रतिनिधि) से बनता है । एसटी और महिला), सहयोगी सदस्य (क्षेत्र का किसान, सहकारी समितियों का प्रतिनिधि और विपणन सेवाओं में से एक), और कुछ चुने हुए सदस्य होते हैं ।

पंचायत समिति एक टेली वेलफेयर के लिए चुनी जाती है

  • सूचान प्रौद्योगिकी
  • जल आपूर्ति विभाग
  • पशुपालन और अन्य

हर विभाग के लिए एक अधिकारी होता है। एक सरकार द्वारा नियुक्त ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर (BDO), समिति का कार्यकारी अधिकारी और उसके प्रशासन का प्रमुख होता है, ।

कार्य

  • कृषि और बुनियादी ढांचे के विकास के लिए योजनाओं का कार्यान्वयन
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक विद्यालयों की स्थापना
  • स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति, जल निकासी और सड़कों की मरम्मत / मरम्मत
  • कुटीर और लघु उद्योग का विकास, और सहकारी समितियों का उद्घाटन
  • भारत में युवा संगठनों की स्थापना

जिला परिसद | Zila Parishad in hindi

पंचायत राज में जिला स्तर पर अग्रिम प्रणाली का संचालन भी जिला परिषद के रूप में लोकप्रिय है। प्रशासन का प्रमुख जिला स्तर के लिए IAS कैडर का अधिकारी और पंचायत राज का मुख्य अधिकारी होता है।

रचना | composition of zila parishad in hindi

सदस्यता 40 से 60 लोगों  तक होती है और इसमें आमतौर पर निम्न  शामिल होते हैं:

  • जिले के उपायुक्त
  • जिले के सभी पंचायत समितियों के अध्यक्ष
  • जिले के सभी सरकारी विभागों के प्रमुख
  • जिले में संसद के सदस्य और विधानसभाओं के सदस्य
  • प्रत्येक सहकारी समिति का प्रतिनिधि
  • कुछ महिलाओं और अनुसूचित जाति के सदस्यों, यदि पर्याप्त रूप से प्रतिनिधित्व नहीं किया गया है
  • सार्वजनिक सेवा में असाधारण अनुभव और उपलब्धियों वाले सह-ऑप्टेड सदस्य।

कार्य : function of zila parishad in hindi

  • ग्रामीण आबादी को आवश्यक सेवाएँ और सुविधाएँ प्रदान करें
  • किसानों को उन्नत बीजों की आपूर्ति करें और उन्हें खेती की नई तकनीकों की जानकारी दें
  • ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल और पुस्तकालय स्थापित करना और चलाना
  • गांवों में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और अस्पताल शुरू करना; महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान शुरू करें
  • अनुसूचित जातियों और जनजातियों के विकास के लिए योजना तैयार करना; आदिवासी बच्चों के लिए आश्रम शालाएँ चलाना; उनके लिए मुफ्त छात्रावास स्थापित किया।
  • लघु उद्योग शुरू करने और ग्रामीण रोजगार योजनाओं को लागू करने के लिए उद्यमियों को प्रोत्साहित करें।
  • पुलों, सड़कों और अन्य सार्वजनिक सुविधाओं और उनके रखरखाव का निर्माण
  • रोजगार दें।
  • स्वच्छता से संबंधित मुद्दों पर काम करता है


भारत में पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं के लिए आरक्षण

27 अगस्त 2009 को, भारत सरकार के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं के लिए 50% आरक्षण को मंजूरी दी। भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश, बिहार (महिलाओं के लिए 50% सीटें आरक्षित करने के लिए सभी के बीच पहला राज्य) , छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु , त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल और उत्तराखंड [10] ने पीआरआई में महिलाओं के लिए 50% आरक्षण लागू किया है।

व्यवहार में प्रणाली

पंचायतों ने आर्थिक रूप से खुद को बनाए रखने के लिए संघीय और राज्य अनुदानों पर भरोसा किया है। पंचायत परिषद के लिए अनिवार्य चुनावों की अनुपस्थिति और सरपंच की असंगत बैठकों ने ग्रामीणों को सूचना के प्रसार को कम कर दिया है, जिससे अधिक राज्य विनियमन हो गया है।

कई पंचायतें अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रही हैं। पंचायत परिषदों में महिलाओं के लिए आरक्षण नीति ने भी महिला भागीदारी में काफी वृद्धि की है और अधिक घरेलू मुद्दों को शामिल करने के लिए विकास के फोकस को आकार दिया है।