अकेलापन शायरी ( Akelapan Shayari )

Akelapan Shayari


अब ना कोई मोहब्बत का यकीन दिलाये हमें,
रूहो में बसा कर निकाला है लोगों ने हमें।

हालात की दलील देकर उन्होनें साथ छोङ़ा , तो हम आहत नहीं हुए ….,
सोचा हमसे ना सही , चलो किसी से तो वफ़ा निभाई उन्होने…

इस अकेलेपन में भी कितनी वफादारी है…..
मुझे कभी अकेला नही छोड़ता ये अकेलापन….

Advertisements

एक महफ़िल में कई महफ़िलें होती हैं शरीक
जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा
निदा फ़ाज़ली

अब इस घर की आबादी मेहमानों पर है
कोई आ जाए तो वक़्त गुज़र जाता है
ज़ेहरा निगाह

अकेले-पन भी हमारा ये दूर करती है
कि रख के देखो ज़रा अपने पास तस्वीरें
दिनेश कुमार

सूने घरों में रहने वाले कुंदनी चेहरे कहते हैं
सारी सारी रात अकेले-पन की आग जलाती है
~सहबा अख़्तर

Akelapan Shayari


किसी हालत में भी तन्हा नहीं होने देती
है यही एक ख़राबी मिरी तन्हाई की
फ़रहत एहसास

ख़्वाब की तरह बिखर जाने को जी चाहता है
ऐसी तन्हाई कि मर जाने को जी चाहता है
इफ़्तिख़ार आरिफ़

अकेले-पन का ‘अज़्मी’ हो भी तो एहसास कैसे हो
तसलसुल से हमारी शाम-ए-तन्हाई सफ़र में है
इस्लाम उज़्मा

भीड़ के ख़ौफ़ से फिर घर की तरफ़ लौट आया
घर से जब शहर में तन्हाई के डर से निकला
अलीम मसरूर

Akelapan Shayari in hindi

मेरे मरने पर किसी को ज्यादा फर्क नहीं होगा,
बस तन्हाई रोएगी कि मेरा हमसफ़र चला गया
अज्ञात

कोसते रहते हैं अपनी जिंदगी को उम्रभर
भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोया करते हैं
अज्ञात


गीले शिकवे क्या करे ज़माने से
अकेला आये थे, अकेला जाएंगे।

बहुत तन्हा है हम
बस हम है
मेरी कलम है
और मेरी तन्हा शायरी है।

ख़्वाब की तरह बिखर जाने को जी चाहता है
ऐसी तन्हाई कि मर जाने को जी चाहता है।

अकेलापन अब हमे सताता है,
दिन मे सपने ओर रातो को जागता है,
क्या करेंगी इस खाली इमारत जैसे दिल का हाल जानके,
क्यूंकी अब तो इसे भी अकेलेपन से मोहब्बत सी हो गई है !!!

अकेलापन शायरी

हर शाम आँखो को तेरा इंतेज़ार रहता है,
जिधर से गया था उस और ख़याल रहता है,
दिल को अब भी तेरी ज़रूरत बहुत है साथी,
आजा लौटके आजा दिल हर दम बेक़रार रहता है।

Akelapan Shayari in hindi

अकेले कैसे रहा जाता है,
कुछ लोग यही सिखाने…
हमारी ज़िन्दगी में आते है।


कौन कहता हैं हम अकेले हैं
मेरे साथ तो तनहाई हैं।

हर ज़ुल्म तेरा याद है भूला तो नहीं हूँ,
ऐ वादा फरामोश मैं तुझ सा तो नहीं हूँ..

उस की जुस्तजू, इंतज़ार और अकेलापन
थक कर मुस्कुरा देता हूँ जब रोया नहीं जाता।

अकेले जीना शायरी

हम तो बस अकेले चुपचाप रहते हैं
लेकिन लोगों को हम घमंडी लगते हैं।

ज़िन्दगी के कठिनाइयों में
नया रास्ता बनाएंगे
अगर कोई साथ ना भी आया
तो खुद अकेला
उस रास्ते पर चल जाएंगे।

वो अपने दर के फकिरो से पूछते भी नही, की तुम लगाए हुए किसकी आस बैठे हो।

अकेले-पन का ‘अज़्मी’ हो भी तो एहसास कैसे हो
तसलसुल से हमारी शाम-ए-तन्हाई सफ़र में है।

आज हम अकेले हैं कभी वो हमारे साथ हुआ करते थे,
हमारा हर दिन हर रात हुआ करते थे,
उनके जाने से बुझ से गये हैं अब तो..
वरना मोहब्बत का सैलाब हुआ करते थे……

Akelapan Shayri

मेरी कहानी सुनोगे तो आँखों से आंसू नहीं, खून निकलेगा
दर्द इतना होगा के वो खुशी के माहौल में भी रोयेगा।

फुर्सत नहीं कि तू मुझे इक बार देख ले..
ये दिन भी आ गए है, मेरे यार देख ले।

हर मुलाक़ात पर वक़्त का तकाज़ा हुआ ;
हर याद पे दिल का दर्द ताज़ा हुआ .!

ये अकेलापन मुझे भाने लगा अब
करीब जाना मुझे चौकाने लगा अब !!

सितम समझे हुए थे हम तेरी बेइंतही को,
मगर जब गौर से देखा तो एक लुत्फ़-ए-निहा पाया।


दर्द से हम अभी खेलना सिख गये,
हम बेवफ़ाई के साथ जीना सीख गये,
क्या बताए किस कदर दिल टूटा है मेरा,
मौत से पहले, कफ़न ओढ़ कर सोना सिख गये।

अकेले जीनी है ज़िन्दगी
ये अब मैंने जान ली है
तन्हाइयों से लड़ने की
अब मैंने भी ठान ली है।

भीड़ के ख़ौफ़ से फिर घर की तरफ़ लौट आया
घर से जब शहर में तन्हाई के डर से निकला।

अकेलापन पर दिल छूने वाली शायरी

Alone Shayari in Hindi

एक चाहत होती है, जनाब अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि ऊपर अकेले ही जाना है

Alone Shayari in Hindi


खुदा जाने यह कैसा तकाज़ा है, किसकी तुरबत है,
वो जब गुज़रे इधर से गिर पढ़े दो फूल दामन से।

धोखे से डरते हैं इसीलिए आज भी तनहा रहते हैं।

अकेलेपन का एक ऐसा भी आलम है, जो कुछ भी करने को मजबूर कर देता है
ऊपरवाला भी ना जाने क्या चाहता है क्यों प्यार करने वालो को दूर कर देता है।

पास आकर सभी दूर चले जाते है,
अकेले थे हम अकेले ही रह जाते है!
इस दिल का दर्द दिखाये किसे?
मल्हम लगाने वाले ही जख्म दे जाते है!!

Sensitive Akelapan Shayari

होठों ने सब बातें छुपा कर रखी थी
आँखों को हुनर कभी आया ही नहीं

मुझे अकेले रहने दो शायरी – Tanhai Status
वो तुम्हारे नज़रिए से अकेलापन हो सकता है
पर मेरे नज़रिए से देखो वो मेरा सुकून है।

महफ़िल से दूर मैं अकेला हो गया
सूना सूना मेरे लिए हर मेला हो गया।

एक महफ़िल में कई महफ़िलें होती हैं शरीक
जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा।


हो सकता है हमने आपको कभी रुला दिया,
आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया,
हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में,
क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया…

अकेलापन शायरी Status
अब इंतज़ार की आदत सी हो गई है
खामोशी एक हालत सी हो गई है
ना शिकवा ना शिकायत है किसी से
क्यूंकी अब अकेलेपन से मोहब्बत सी हो गई है।

तनहाई भी हम से तनहा हो गयी
मजबूरी भी हम से मजबूर हो गयी
बचा क्या था अब जिंदगी में
आखिर में मौत भी हम से बेवफ़ाई कर गयी।

खुद में काबलियत हो तो भरोसा कीजिये साहिब
सहारे कितने भी अच्छे जो साथ छोड़ जाते है।

है तमन्ना फिर, मुझे वो प्यार पाने की…….
दिल है पाक मेरा , ना कोशिश कर आज़माने की …!!

जिंदगी का अकेलापन
ख्वाब बोये थे, और अकेलापन काटा है,
इस मोहब्बत में “यारो” बहुत घाटा है..!!

Sensitive Akelapan Shayari

झूठी मुस्कान मुस्कुराते
पूरी उम्र कट जाएगी
महफ़िल की आड़ में
तन्हाई कहीं छुप जाएगी।

Akelapan shayri


तन्हाइयों के घरौंदे में हम बस गए
जो अकेलेपन की दास्तां सुनाई
तो मेरी बातों पर लोग हँस दिए।

अब इस घर की आबादी मेहमानों पर है
कोई आ जाए तो वक़्त गुज़र जाता है।

Akelapan status

मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है,
ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,
देकर वो आपकी आँखों में आँसू,
अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है।

दोस्ती की राहो मे कभी अकेलापन ना मिले
ए दोस्त ज़िंदगी मे तुम्हे कभी गम ना मिले
दुआ करते है हम खुदा से
तुम्हे जो भी दोस्त मिले हम से कम ना मिले।

इस चार दिन की जिंदगी में
हम अकेले रह गए
मौत का इंतजार करते करते
अकेलेपन से मोहब्बत कर गए।

उदासियों का ये मौसम बदल भी सकता था
वो चाहता तो मेरे साथ चल भी सकता था।

अकेलापन quotes
हुनर-ओ-इश्क अब सीख कर आया हूँ………
चलो फिर से खेल दिल का खेलते है…..!!

Akelapan Shayari

कल भी हम तेरे थे..
आज भी हम तेरे है
बस फर्क इतना है,
पहले अपनापन था.
अब अकेलापन है।

मेरी तन्हाई देखकर
उदासियां भी रो पड़ी
जब मुस्कुराने की कोशिश की
तो मेरी गुस्ताखियां रो पड़ी।

अकेले-पन भी हमारा ये दूर करती है
कि रख के देखो ज़रा अपने पास तस्वीरें।


Akelapan Hindi Shayari

Akelapan Shayari
रिश्ता हमारा इस जहां में सबसे प्यारा हो,
जैसे जिंदगी को सांसों का सहारा हो,
याद करना हमें उस पल में..
जब तुम अकेले हो और कोई ना तुम्हारा हो…

तन्हाई मे अकेलापन सहा ना जाएगा.
पर महफ़िल मे अकेला रहा ना जाएगा,
उनका साथ ना हो फिर भी जिया जाएगा,
पर उनका साथ कोई और हो ये सहा ना जाएगा।

अकेला मरने के लिए तैयार हूँ
लेकिन अकेला जीने के लिए तैयार नहीं हूँ।

तन्हा दिल, तन्हा सफर
तुम्हारे बिन कटेगी कैसे
तन्हा वक़्त, तन्हा उमर।

Akelapan Hindi Shayari

तुझे ज़िन्दगी भर याद रखने की कसम तो नहीं ली,
पर एक पल के लिए तुझे भूल जाना भी मुश्किल है।

हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह…
वरना हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे..


दीप रातों को जलाके रखिये
फूल काँटों में खिलाके रखिये।
जाने कब घेर ले अकेलापन
एक-दो दोस्त बनाके रखिये।

जिंदगी में अकेलापन शायरी

तुम्हारे करीब हम कुछ इस तरह आते गये
तन्हाइयों के नजदीक, और नजदीक जाते गये।

सूने घरों में रहने वाले कुंदनी चेहरे कहते हैं
सारी सारी रात अकेले-पन की आग जलाती है।

तेरे दिल के करीब आना चाहता हूँ मैं,
तुझको नहीं और अब खोना चाहता हूँ मैं,
अकेले इस तनहाई का दर्द बर्दाश्त नहीं होता,
तू एक बार आजा तुझसे लिपट कर रोना चाहता हूँ मैं….

आज तन्हाइयो को इश्क़ है हमसे बेपनाह
कभी हम तन्हाई से दो पल की दोस्ती किया करते थे
खामोसी की परछाइया हैं जहा भी देखता हूँ मैं
कभी इन परछाईयो के मुस्कुराते चेहरे हुआ करते थे।

इस चार दिन की जिंदगी में
हम अकेले रह गए
मौत का इंतजार करते करते
अकेलेपन से मोहब्बत कर गए।


जज्बातो में ढल के यूँ दिल में उतर गया,
बन के मेरी वो आदत, अब खुद बदल गया।

हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी…..
लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर….!!

अकेलापन ये कितना बढ़ गया है
सबके मोबाइल में केवल तनहा सेल्फ़ियाँ हैं…

Tanhai Quotes

मेरे हाल चाल पूछने पर झल्लाया ना करो ऐ दोस्त
हाल पूछने की कीमत उनसे पूछो जिनसे तन्हाइयों में किसी ने भी
उनका हाल ना पूछा हो।

किसी हालत में भी तन्हा नहीं होने देती
है यही एक ख़राबी मिरी तन्हाई की।

एक बार मिला भी मौका किसी की चाहत बन-ने का,
लेकिन हम उसे भी गावा बैठे,
उसने खुद अपने प्यार का इज़हार किया,
लेकिन हम उसके प्यार को ही नकार बैठे,
उस समय प्यार से महरूम थे,
आज उसे खोने का दर्द दिल को रुलाने लगा है,
ज़िंदगी तो खूब जी हमने,
पर अब ये अकेलापन सताने लगा है…

तन्हा दिन, तन्हा रातें
अकेलेपन में भी
याद आती हैं सिर्फ तेरी बातें
कोशिश कर लूं छुपाने की
पर बाहर आ ही जाती हैं जज़्बातें।

Akelapan Alone Shayari


लोग हम से नाराज़ होते हैं तो कोई बात नहीं
अगर जिंदगी नाराज़ हो गयी तो जीना का मतलब नहीं।


क्यू दिल की बेकरारिया बॅड जाती हैं,
जब सामने मनचाहा कोई होता है,
धीरे से दिल के कोने मे हसरातो का,
एक सेलाब जाने क्यू उमड़ आता है।

हम अकेले नही रहते अकेलापन साथ आजाता है,
हम रोते नही आँखो से दिल का दर्द बयान हो जाता है,
अकेला तो चाँद भी रह जाता है तारो की महफ़िल मे
जब मानने वाला खुद ही रूठ जाता है…

Akelapan Hindi Status

चल साथ की हसरत दिल-ए-महरूम से निकले,
आशिक़ का ज़नाज़ा है ज़रा धूम से निकले।

जिंदगी अकेले रह कर जीना हैं
मतलब हर पल तुझे मरना हैं।

एक चाहत है तुम्हारे साथ जीने की,
वर्ना पता तो हमें भी है कि
मरना अकेले ही है।

बहुत मोहब्बत है तन्हाई को मुझसे
सब छोड़ जाते हैं इस तन्हाई के अलावा।

हमें भुलाकर सोना तो तेरी आदत ही बन गई है, अय सनम;
किसी दिन हम सो गए तो तुझे नींद से नफ़रत हो जायेगी।

खुदा मालूम यह गोर-ग़रीबा कैसी बस्ती है,
की आबादी बढ़ी जाती है वीरानी नही होती।

 Akela Quotes

ये इश्क जादू टोना है
अगर दिल लगाया है
तो तन्हा भी होना है।

करीब आओ की आस हो नाज की मुश्किल,
दम-ए-आख़िर है, अब वक़्त-ए-इंतेहा न रहा।

मेरे मरने पर किसी को ज्यादा फर्क नहीं होगा,
बस तन्हाई रोएगी कि मेरा हमसफ़र चला गया।

चरागार अपने तो मसरूफ़ बादील है लेकिन,
कोई तकदीर के लिखे को मिटा सकते है।

काश हमारे जीने का भी कोई मक़सद होता
जिंदगी का हमें भी मज़ा होता
शायद तनहाई लिखी हैं नसीब में
वरना मैं इस तरह अकेला नहीं होता।

बदलेंगे नहीं जज्बात मेरे तारीखों की तरह,
बेपनाह प्यार करने की ख्वाहिश उम्र भर रहेगी।

मुश्किल नज़र आता है गला काट के मारना,
आख़िर यह मुहिन भी तेरे जाबाज ने सर की।

मुझे तेरे साथ ही जीना है चाहे तेरा हाथ पकड़ के या तन्हाई में
तेरी यादों से जकड़ के मुझे reतेरे साथ ही जीना है।

कल शाम छत पर तुझे क्या देख लिया,
के मैं तो मानो खुदा को ही देख लिया,
बेखुदी का नशा इस क़दर चढ़के बोला,
हमने सिर अपना दीवार से जा फोड़ लिया।

 2 Line Akelapan Status

हर कोई मुझे जिंदगी जीने का तरीका बताता है।
उन्हे कैसे समझाऊ की एक ख्वाब अधुरा है मेरा…
वरना जीना तो मुझे भी आता है।

प्यार में इंसान तन्हाइयों का शिकार हो जाता है
प्यार का रास्ता ही तन्हाइयों से होकर जाता है।

कोसते रहते हैं अपनी जिंदगी को उम्रभर
भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोते हैं।

जिससे चाहते है हुम्म दिल-ओ-जान से,
वो करते है हमसे-ए-इश्क़ किसी और से,
कैसी दर्द-ए-तकदीर हैं हमारी यारो,
जो मार गई जी-ते-जी हुमको..

वो मुझे तनहा करके
मेरा इम्तिहान लेने लगे
वक्त का पता न चला
हम भी तनहाई से मोहब्बत करने लगे।