kismat shayari | किस्मत शायरी

Mat Kar Hisab Mere Pyar Ka
मत कर हिसाब मेरे इश्क का,कही ऐसा ना हो की….बाद में तू ही कर्जदार निकले

Kismat Shayari

कौन कहता है हम तेरे बिना मर जायेंगे
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे

वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए
हम तो बादल है प्यार के
किसी और पर बरस जायेंगे

लोग कहते है हर दर्द की एक हद होती है

मोहब्बत की हद्द है सितारों से आगे;
प्यार का जहाँ है बहारों से आगे;
वो मस्तानो की कश्ती जब बहने लगी;
तो बहते बह गई किनारों से आगे

log kahte hai har dard

Advertisements

खूबियों से नहीं होती मोहब्बत सदा,
कमियों में अक्सर प्यार हो जाता है

pyar ho jata hai

लोग कहते हैं,जो दर्द देता है, वही दवा देता है,
फ़िज़ूल की बातों को जाने कौन हवा देता है

log kahte hai

चलो अब हक़ीक़त से दो-चार होते हैं
मेरे शहर में ख़ुशी से महंगे त्यौहार होते हैं

जिनके दिल अच्छे होते है न
उनकी किस्मत ख़राब होती है

जिनका मिलना किस्मत में न हो,
उनका मोहब्बत कमाल की होती है

Kismat shayari
Chahne Se Koi Cheez

चाहने से कोई चीज़ अपनी नही होती,
हर मुस्कान खुशी नही होती,
अरमान की भूख होती है दिल मे,
मगर कभी वक़्त तो कभी किस्मत नही होती।।

Dil Karta Hai

दिल कि बाते कहने को जी करता है.
दर्दे जुदाई सहने को जी करता है.
क्या करे किस्मत मे है दुरियाँ वर्ना.
हमे तो आपके दिल मे रहने को जी करता है.

किस्मत पर बेहतरीन शायरी

किस्मत के मीटर से खुशियों की लाइट जले या न जले दर्द का बिल तो आता ही रहता है ।

मगर नसीब को ये मंजूर नही था ,
की हम भी दो पल खुशी से गुजार लेते ।

किस्मतवालो को ही मिलती है पनाह मेरे दिल में ,
यूं हर शख्स को तो जन्नत का पता नही मिलता ।

मेरी किस्मत में गम गर इतने ना होते दिल भी या रब कई दिये होते ,
आ ही जाता वो राह पर गालिब कुछ दिन और भी जिए होते ।

किस्मत कहां इंसान को मारती है ,
बस कुछ रिश्ते ही मार देते है ।

Kismat shayari in hindi

खराब मै नही मेरी किस्मत है ,
जहां भी जाते है , अकेले ही रह जाते है ।

किस्मत अपनी अपनी है ,
किसको क्या सौगात मिले ,
किसी को खाली सीप मिले ,
किसी को मोती साथ मिले ।

शायद कोई मेरी किस्मत तराश दे ,
यह सोचकर हम उम्रभर पत्थर बने रहे ।

कुछ लोग किस्मत की तरह होते है ,
जो दुआ से मिलते है ,
कुछ लोग दुआ की तरह होते है ,
जो किस्मत से मिलते है ।

मेरी किस्मत में लिखा सब मिटता चला गया ,
एक वो दूर क्या गया हर सपना छुटता चला गया ।

किस्मत तो लिखी थी सोने की कलम से ,
पर क्या करें की स्याही में जहर था ।

किस्मत में होगा जो वो दूर जाकर भी आ जायेगा ,
गर किस्मत में नही है वो आकर भी चला जायेगा ।

सारा इल्जाम अपने सर लेकर हमने “ किस्मत ” को माफ कर दिया ।

तलब ऐसी की सांसो में समा लूं तुझे ,
किस्मत ऐसी की देखने को मोहताज हूं तुझे ।

तड़प मिलने की शायरी

हर दर्द की दवा है ,
इस जमाने में साहब ,
बस किसी के पास कीमत नही ,
और किसी के पास किस्मत नही ।

किस्मत से लड़ने में मजा आ रहा है ,
वो मुझे जीतने नही दे रही ,और मै हार नही मान रहा ।

किस्मत की किताब क्या खुब लिखि थी मेरी रब ने ,
बस वही पन्ना गुम था जिसमें तेरा जिक्र था ।

किस्मत ने कहा-आज से सब हुआ मेरा ,
मैने कहा-अभी भी मन नही भरा तेरा ।

Kismat par shayari

किस्मत बुरी या मै बुरा ये फैसला न हो सका ,
मै हर किसी का हो गया कोई मेरा न हो सका

प्यार तो किस्मत से मिलता है ,
किसी के लिए रोने से कोई अपना नही होता ।

ना कोई तरंग है ,न कोई उमंग है ,
हमारी तो साँसे किस्मत से कटी पतंग है ।

कोई दौलत पर नाज करते है ,
कोई शोहरत पर नाज करते है ,
जिसके साथ आप जैसा दोस्त हो
वो अपनी किस्मत पर नाज करते है ।

किस्मत से पाए लम्हें बुने थे ,
जो साथ तेरा छुटा फिर ना मिले वो ।

मेरे लिए वो कभी पूरा ना होने वाला खूबसूरत खाब थी
किस्मत वालो के लिए खुदा ने बनाई थी और अपनी किस्मत ही खराब रही ।

जिस दिन अपनी किस्मत का सिक्का उछलेगा
उस दिन हेड़ भी अपना और टेल भी अपना ।

धूप है किस्मत में लेकिन ,
छाया भी कही तो होगी ,
जहां मंजिले होगी अपनी ,
कोई तो ऐसी जमीं होगी ।

किस्मत ने उड़ाया मजाक शायरी

तकलीफ ये नही की किस्मत ने मुझे धोखा दिया
मेरा यकीन तुम पर था किस्मत पर नही ।

किसी से प्यार जिन्दगी मे मत करना
जिनकी किस्मत में रोना लिखा ही हो तो
वो मुस्करा भी दें तो आंसू निकल आते है ।

बंद मुट्ठी से जो उड़ जाती है किस्मत की परी ,
जरूर हथेली में कोई छेद पुराना होगा ।

मै शिकायते भी किससे करूँ ,
सब किस्मतों की बात है ,
तेरी सोच में भी नही हूँ मै ,
मुझे लफ्ज-लफ्ज में तू याद है ।

Meri kismat Shayari

बहुत अकेला कर दिया है मेरे अपनो ने मुझे ,
यकीं नही होता की मै बुरा हूँ या मेरी किस्मत ।

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे ,
बड़ी दुआओ से पाया है तुझे ,
तुझे भुलाने की सोचू भी तो कैसे !
किस्मत की लकीरो से चुराया है तुझे ।

मिले तो हजारो लोग से जिन्दगी में ,
पर वो सब से अलग था जो किस्मत में नही मेरे ।

हम जिन के हो गए थे जमाने को छोड़कर ,
किस्मत तो देखिए वो हमारे नही रहे ।

कहते है वक्त से पहले और किस्मत के बिना ,
किसी को कुछ नही मिलता अफसोस ये है की

उनके पास वक्त नही था ,
और हमारा किस्मत खराब था ।

मेरी किस्मत शायरी

आज नही तो कल उन्हे भी एहसास होगा की ,
फिकर करने वाले सबको नही किस्मत वालो को मिलते है ।

प्यार हो तो किस्मत में हो ,
दिलो में तो सबके होता है ।

जब तक किस्मत का सिक्का हवा में है
तब खुद के बारे में फैसला कर लो ,
क्योकि जब वो नीचे आएगा ,
तब अपना फैसला खुद सुनाएगा ।

kismat quotes in hindi ( किस्मत पर विचार )

वो दस्तावेज ही खो गए ,
जहां मेरी किस्मत में तू लिखा था ।

अपना कौन क्या बिगाड़ेगा ,
अपनी तो किस्मत ही ,
उसने लिखी है जिसका ,
कोई कुछ नही बिगाड़ सकता ।

जिसका मिलना नही होता किस्मत में ,
सच में उनसे मोहब्बत भी कमाल की होती है ।

बिकने वाले और भी है
जाओ जाकर खरीद लो ,
हम कीमत से नही किस्मत से मिला करते है ।

भाग्य पर अनमोल विचार

कौन कहता है की आदमी अपनी अपनी किस्मत खुद लिखता है ,
अगर ये सच है तो किस्मत में दर्द कौन लिखता है ।

कितने सच कितने अफसाने ,
कैसी ये रेखाओ की बस्ती है ,
वही मुकम्मल है ताने बाने ,
जो ये किस्मत बुना करती है ।

किस्मत इतनी बेकार ना होती ,
तु ना होती शिकार ना होती ,
जंग-ए-मोहब्बत ऐलान किया तुने दिल ए जिन्दगी यूं तैयार ना होती ।

रोज वो ख्वाब में आते है गले मिलने को ,
मै जो सोता हूँ तू जाग उठती है किस्मत मेरी ।

छोड़ दिया किस्मत की लकीरों पर यकीन करना जब लोग बदल सकते है

तो किस्मत क्या चीज है ।

Good Luck Shayari

खुद को कोसने का बहाना मैं खोज लेता हूँ ,
कभी उस बेवफा को बुरा कहता हूँ कभी खुद की बुरी किस्मत को दोष देता हूँ ।

किस्मत और दिल की आपस में कभी नही बनती ,

जो लोग दिल में होते है ,
वो कभी भी किस्मत में नही होते ।

मैं इसे किस्मत कहूं या बदकिस्मती अपनी ,

तुझे पाने के बाद भी तुझे खोजती रही ,
सुना था वो मेरे दर्द में ही छुपा है कही ,
उसे ढूढँने को मैं अपने जख्म नोचती रही ।

जिनका दिल सच्चा होता है ना
उनकी ही किस्मत खराब होती है ।

हाथ में कलम , आंखो में ख्वाब लिए फिरता हूँ ,
कहानी मेरी मै खुद लिखूंगा ,
कुछ गम खुशियों के पल लिखूंगा ,
तकदीर में लिखा कौन बदलेगा ,
जब मेरी किस्मत मै खुद लिखूंगा ।

हमने किस्मत बदलते देखा है ,
बस जरूरत है किस्मत बदलने वाले की ,
कोशिश करके देखना जिन्दगी बदल जाती है ,
तो ये किस्मत क्या चीज ।

मोहब्बत की किस्मत बनाने से पहले ,
जमाने के मालिक तू रोया तो होगा ,
मोहब्बत पर ये जुल्म ढोने से पहले ,
जमाने के मालिक तू रोया तो होगा ।

तुमने चाहा है मुझे ये करम क्या कम है ,
तुम प्यार करते हो मुझसे ये भरम क्या कम है ,
एक दिन ये भरम टूटेगा मेरा ,
उफ किस्मत का ये सितम क्या कम है …

किस्मत और जेब दोनो ही फटी है हमारी ,
इसलिए जिन्दगी में कुछ भी नही ठहरता ।

मैने दिल को सिखा दिया औकात में रहने का हुनर ,
वरना जिद्द करता उसकी ,
जो नसीब में नही है ।

( Kismat ki lakir shayari )किस्मत की लकीर शायरी

मुझे हाथ की रेखाओं पर इसीलिए विश्वास नही है ,

कैद ये मेरी मुट्ठी में है ,
क्या खोलेगी किस्मत मेरी ।

वक्त और समझ किस्मत वालों को ही मिलती है ,
क्यूंकि वक्त हो तब समझ नही होती और समझ आती है
तब वक्त नही होता ।

आपकी किस्मत आपको मौका देगी ,
मगर आपकी मेहनत आपको चौका देगी ।

फर्क होता है अमीर और फकीर में ,
फर्क होता है किस्मत और लकीर में ,
अगर कुछ चाहो और ना मिले तो
समझ लेना की कुछ और लिखा है तकदीर में ।

कोई रिश्ता नया या पुराना नही होता ,
जिन्दगी का हर पल सुहाना नही होता ,
जुदा होना तो किस्मत की बात है ,
पर जुदाई का मतलब भुलाना नही होता ।

खुस नसीब होने की शायरी

मोहब्बत का आजमाइश दे देकर थक गया हूँ ऐ खुदा…

किस्मत में कोई ऐसा लिख दे ,

जो मौत तक वफा करे ।

बुझी शमा भी जल सकती हूँ ,
तूफानो से कश्ती भी निकल सकती है ,
होके मायूस यूं ना अपने इरादे बदल ,
तेरी किस्मत कभी भी बदल सकती है ।

प्रेम जिद से नही किस्मत से मिलता है ,
वरना पूरी दुनिया का मालिक अपनी राधा के बिना नही रहता ।

मुझमें और किस्मत में हर बार बस यही जंग ,
मै उसके फैसलो से तंग वो मेरे हौसलो से ढंग ।

ए-खुदा मेरी भी किस्मत में लिख दे ,

किसी सच्चे दोस्त की खुद्दारी रे ,
जैसे कृष्ण तेरी और सुदामा की यारी में ।

गम लिखूं या किस्मत में दर्द की सजा लिखूं ,
सबने तो लिखी शायरी ,
क्यूं ना मै दवा लिखूं ।

जख्म क्या क्या न जिन्दगी से मिले ,
ख्वाब पलको से बे-रूखी से मिले ,

आपको मिल गए है किस्मत से ,
हम जमाने में कब किसी को मिले ।

आसानी से कोई मिल जाये तो किस्मत की बात है ,
सूली पर चढ़कर भी जो ना मिले उसे मोहब्बत कहते है ।

हमें उनसे कोई शिकायत नही ,
हमारी किस्मत में ये चाहत नही ,
मेरी तकदीर को लिखकर तो ऊपरवाला ही मुकर गया ,
पुछा तो कहा ये मेरी लिखावट है ।

बताओ मुझे भी कोई किसी की किस्मत इतनी अच्छई क्यों होती है ,
की बिना मेहनत के हर खुशी उनके हिस्से में होती है ।
किस्मत पर 2 लाइन शायरी

लक शायरी फोटो
कैसे छोड़ दूँ तुमसे मोहब्बत करना ,
तुम किस्मत में न सही पर दिल में तो हो ।

लोगो की तरह मेरी किस्मत भी दगा बाज है ,
जालिम कभी साथ नही देती ।

अच्छे लोगो का हमारी जिन्दगी में आना हमारी किस्मत होती है ,
और उन्हे संभला कर रखना हमारा हुनर ।

सच्चा प्यार तो एक तरफा होता है
और जो दोनो तरफ से हो तो उसे किस्मत कहते है ।

आज तो उस खुदा से भी हमने कह दिया-किस्मत में जो लिखा है वो तो सबको मिलता ही है ,
देना ही है तो वो दे जो किस्मत मे ना हो ।

प्यार करने वालो की किस्मत खराब होती है ,
हर वक्त इम्तेहां की घड़ी साथ होती है ,
वक्त मिले तो रिश्तो की किताब खोल के देख लेना ,
दोस्ती हर रिश्ते से लाजवाब होती है ।

जब मेहनत और किस्मत के रंग मिलते है ,
तब कामयाबी की खूबसूरत तस्वीर बनती है ।

सब कुछ कॉपी हो सकता है ,
लेकिन किस्मत और नसीब नही…

मेरी किस्मत को परखने की गुस्ताखी मत करना ,
पहले भी कई तूफान का रूख मोड़ चुका हूँ ।

क्या खेल-खेला है मेरी किस्मत ने जिन्दगी भर ,
जो हो न सका मेरा उसे चाहा है सारी उम्र भर ।

चांद का क्या कसूर अगर रात बेवफा निकली ,
कुछ पल ठहरी और फिर चल निकली ,
उनसे क्या कहे वो तो सच्चे थे ,
शायद हमारी तकदीर ही हमसे खफा निकली ।

झूठी तसल्लियो के सिवा कुछ ना दे सका ,
वो किस्मत का देवता भी शायद गरीब था ।

मुकद्दर की लिखावट का एक ऐसा भी काएदा हो ,
देर से किस्मत खुलने वालों का दुगुना फायदा हो ।

ना-मुरादी अपनी किस्मत गुमराही अपना नसीब ,
कारवाँ की खैर हो हम कारवाँ तक आ गए ।

जैसे बिछड़ने की जल्दबाजी हो ,

मिलकर भी ऐसे बिछड़ना हूआ
जैसे कायनात ए किस्मत की जालसाजी हो ।

क्यूं हथेली की लकीरो से है आगे उंगलियाँ ,
रब ने भी किस्मत से आगे आपकी मेहनत रखी ।

किस्मत दो पल में बदल सकता है इंसान ,
पर जो इंसान को बदल दे
वो किस्मत नही होती ,

अपनी किस्मत पर रोता वही शख्स है जिसको ,
सजदो में रोने की आदत नही होती ।

किस्मत लिखने वाले एक एहसान कर दे ,

मेरे दोस्त की तकदीर में एक और मुस्कान लिख दे ,

न मिले कभी दर्द उनको ,
तू चाहे तो उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे ।

बहुत खूबसूरत है आंख तुम्हारी ,
इन्हे बना दो किस्मत हमारी ,
हमें नही चाहिए जमाने की खुशियां ,
अगर मिल जाए मोहब्बत तुम्हारी ।

Kismat status in Hindi

कभी किस्मत कभी वक्त पर इल्जाम ,

कभी गलती सितारो की तो कभी दूसरो का नाम ,
कितने पर्दे हाजिर है यहां ,
खुद को छुपाने के लिए ।

किस्मत ने उड़ाया मजाक शायपी
भाग्य शायरी Images

दुआ की न पूछो की कितनी है कुदरत ,
उठा के हाथ देखो बदलती है किस्मत ।

किस्मत का भी गर बाजार लगता कसम से खूब चलता ।

किस्मत की लकीरो मे तुम लिखे हो या नही पता नही ,
पर हाथों की लकीरो पर तुम्हें रोज लिखती हूँ ।

किस्मत पर इतना भी गुमान न कर ,
ये तुझे धोखा ना दे तो कहना…
जिसे पाकर तू आज खुश है इतना ,

कल इसी भीड़ में अकेला छोड़ न दे तो कहना ।

किस्मत को हमारी महफिल में बुलाया गया था ,
हमें ना पाकर बहुत रोई होगी ।

गर फकीरे किस्मत हो जाए , दिल अमीर फितरत रखना ,
रखना अकीदे वफादारी मेहनत पर , बुन कसीदे तकदीरे तेवर रखना ।

हाथों की लकीरो में लिखा है जो तकदीरो में जितना ही लिखा वही काफी है

ये सब किस्मत की बाते है ।
अपनी मेहनत पर यकीन रखिये ,

किस्मत तो जुगाड़ में काम आती है ।

जिन्दगी हम जैसो से कहां संभलती है ,
हाथ से रेत की तरह फिसलती है ,

क्या तुम मेरी आदतें नही बदल सकती ,
लड़कियाँ तो किस्मते बदलती है ।

अगर यकीन होता की कहने से रूक जाओगे ,
तो हम भी हंसकर पुकार लेते ,